Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहिंदू धर्म ग्रंथों को बताया 'पोर्न', कहा- हमें हिंदुओं से घृणा: लाइव आकर बांग्लादेश...

हिंदू धर्म ग्रंथों को बताया ‘पोर्न’, कहा- हमें हिंदुओं से घृणा: लाइव आकर बांग्लादेश के विपक्षी नेताओं ने उगला जहर, बोला- मिशन के बीच में न आएँ

इससे पहले विपक्षा के नेता नुरुल ने कुछ सऊदी अरब से लाइव आते हुए कहा था कि पत्रकार ‘गुलाम’ होते हैं। इसी वीडियो में उसने पत्रकारों को धमकाते हुए कहा था कि उसके मिशन के बीच में कोई न आए।

बांग्लादेश में विपक्षी नेता ने हिंदुओं के धार्मिक ग्रंथों को ‘अश्लील (पोर्न)’ कहा है। नेता का नाम तारिक रहमान है। वह बांग्लादेश गोनो अधिकार परिषद (Bangladesh Gono Odhikar Parishad) का संयुक्त संयोजक है। उसका कहना है कि हिंदू धर्मग्रंथ कोई नैतिक शिक्षा नहीं देते बल्कि वह एक तरह के अश्लील ग्रंथ हैं।

तारिक रहमान विपक्षी नेता नुरुल हक नूर का करीबी है। अपने फेसबुक लाइव में उसने कहा, “हिंदू ग्रंथ कोई नैतिक शिक्षा नहीं देता। हर धार्मिंक ग्रंथ पॉर्न स्क्रिप्ट है। हमें हिंदुओं के लिए घृणा है।” सोशल मीडिया पर अब यह वीडियो वायरल हो रहा है। कुछ लोग इस बयान को जमात नेताओं के उस बयान से जोड़ रहे हैं जिसमें हिंदुओं के सफाए की बातें हैं।

उल्लेखनीय है कि बांग्लादेश में चुनाव से पहले कुछ विपक्षी नेता लगातार विवादित बयान देते नजर आ रहे हैं। इससे पहले विपक्षा के नेता नुरुल ने कुछ सऊदी अरब से लाइव आते हुए कहा था कि पत्रकार ‘गुलाम’ होते हैं। इसी वीडियो में उसने पत्रकारों को धमकाते हुए कहा था कि उसके मिशन के बीच में कोई न आए।

फेसबुक लाइव में उसने कहा था, “हाँ, मैं मोसाद सहित विदेशी खुफिया एजेंसियों के साथ एक साजिश में शामिल हूँ। सरकार को हटाने की कोशिश में, मैंने इस सरकार को हटाने की साजिश रचने के लिए मोसाद एजेंट मेंडी एन सफादी के साथ बैठक की।”

बता दें कि नुरुल हक नूर बांग्लादेश के विपक्षी पार्टी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी का नेता है। उसकी पार्टी को जमात-ए-इस्लामी से खुलेआम सपोर्ट मिला हुआ है। उसका मकसद अगले साल के चुनाव में पीएम शेख हसीना को सत्ता से उखाड़ फेंकने का है। इस बारे में वह खुले में बोलता भी है और धमकाता भी है। अब उसके करीबी और पार्टी के अन्य नेता भी हिंदुओं के खिलाफ बयान देने लगे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -