Sunday, May 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबांग्लादेश में ईशनिंदा के नाम पर विज्ञान शिक्षक ह्रदय मंडल गिरफ्तार, इस्लाम और पैगबंर...

बांग्लादेश में ईशनिंदा के नाम पर विज्ञान शिक्षक ह्रदय मंडल गिरफ्तार, इस्लाम और पैगबंर के अपमान का आरोप: जानें क्या है मामला

मंडल के परिवार ने आरोप लगाया है कि ईशनिंदा के आरोपों के बाद मुस्लिम लोग उन्हें परेशान कर रहे हैं। उनका सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है।

बांग्लादेश के मुंशीगंज में एक हिंदू शिक्षक को कथित तौर पर पैगंबर का अपमान करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के मुताबिक, यह घटना मंगलवार दोपहर (5 अप्रैल 2022) मुंशीगंज के बिनोदपुर राम कुमार हाई स्कूल की है। पुलिस ने विज्ञान पढ़ाने वाले शिक्षक हृदय चंद्र मंडल (Hindu teacher Hriday Chandra Mondal) को अपनी कक्षा में कथित तौर पर पैगंबर मुहम्मद और कुरान का अपमान करने के आरोप में गिरफ्तार किया। छात्रों ने मंडल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उसने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि मंडल ने इस्लाम का अपमान किया है।

10वीं की एक मैथ क्लास में हृदय चंद्र मंडल ने कथित तौर पर कहा था कि पैगंबर (PBUH) एक विवेकपूर्ण ढंग से कार्य करने वाले व्यक्ति थे। उन्होंने खुद कुरान लिखी और उसका प्रचार किया। शिक्षक ने छात्रों से कहा कि इस्लाम विज्ञान से निकला है। इस मजहब का रास्ता छोड़कर अपनी मर्जी से चलें। मंडल की इस बात पर कक्षा मे मौजूद छात्र आगबबूला हो गए और उन्होंने मोबाइल में शिक्षक की बातें रिकॉर्ड कर लीं। इसके बाद उन्होंने प्रिंसिपल से शिक्षक की शिकायत की और उन्हें वह रिकॉर्ड किया गया वीडियो भी दिखाया। स्कूल प्रशासन ने छात्रों से इस मामले में कोई भी गलत कदम नहीं उठाने को कहा है।

अगले दिन और छात्रों ने भी प्रिंसिपल को लिखित में शिकायत दी और मंडल के खिलाफ कार्रवाई की माँग की। स्कूल के अधिकारियों ने शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी किया और छात्रों के साथ इस मामले को सुलझाने का भी प्रयास किया। हालाँकि, छात्रों ने समझौता करने से इनकार कर दिया और 22 मार्च को शिक्षक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद सभी छात्रों ने मिलकर हृदय चंद्र मंडल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की थी, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

इसके बाद सभी छात्रों ने मिलकर हृदय चंद्र मंडल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की थी, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। इस बीच शिक्षक हृदय मंडल ने सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा, “मैंने विज्ञान के संबंध में छात्रों को समझाने के लिए कुछ बातें कहीं थीं, लेकिन मैंने इस्लाम और पैगंबर के बारे में कुछ नहीं कहा था।” हृदय मंडल की पत्नी बबीता ने भी अपने पति का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है। बबीता ने कहा कि मंडल 22 वर्षों से अधिक समय से स्कूल में गणित और विज्ञान की कक्षाएं ले रहे हैं, लेकिन अब तक उनके खिलाफ कोई आरोप नहीं लगाया गया है।

मंडल के परिवार को परेशान किया जा रहा

मंडल के परिवार ने आरोप लगाया है कि ईशनिंदा के आरोपों के बाद मुस्लिम लोग उन्हें परेशान कर रहे हैं। उनका सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है। यहाँ तक कि सामाजिक प्रताड़ना के कारण उनके बेटे ने स्कूल जाना भी बंद कर दिया है। हृदय की पत्नी बबीता हवलदार ने कहा, “उनके पड़ोसी उन्हें गालियाँ दे रहे हैं। मेरा बेटा स्कूल नहीं जा सकता। दूसरे छात्र उसे चिढ़ाते हैं, वे उसे अपराधी का बेटा कहते हैं। इसलिए मैं उसे स्कूल नहीं भेज रही हूँ।” बबीता ने कहा, “हम बेहद डरे हुए और खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।”

हृदय की पत्नी ने आगे कहा कि उनके पति को कुछ छात्र काफी दिनों से परेशान कर रहे थे। वे मेरे पति का सड़कों पर और यहाँ तक कि कक्षा में भी पीछा करते थे। इसके अलावा, कुछ लोग अक्सर हमारे दरवाजे पर लात मारकर जाते थे, हमारी खिड़कियाँ खटखटा कर भाग जाते थे। बबीता के बड़े भाई बादल हवलदार ने कहा, “एक तरह से हमारा सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया है। हम दिन में भी डर से बाहर नहीं निकलते कि कहीं कोई अप्रिय घटना ना हो जाए।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भीखू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भीखू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -