Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'तुम सब काफी खूबसूरत हो, गर्भवती होने लायक': हमास के चंगुल में खून से...

‘तुम सब काफी खूबसूरत हो, गर्भवती होने लायक’: हमास के चंगुल में खून से लथपथ 5 इजरायली महिला सैनिकों का वीडियो, कह रहे आतंकी – सबको मार देंगे गोली

ये वीडियो हमास के आतंकियों के शरीर पर लगे बॉडीकैम से बनाई गई है। वीडियो की कुल लंबाई 13 मिनट से ज्यादा है, लेकिन इसे एडिट करके सिर्फ 3 मिनट का ही जारी किया गया है।

इजरायल पर 7 अक्टूबर 2023 को हमास के हमले के दौरान बंधक बनाई गई 5 महिला इजरायली सैनिकों के परिवार ने उनके फुटेज जारी किए हैं। परिजनों का कहना है कि लड़ाई की जगह उन्हें अपने लोगों की रिहाई चाहिए। इजरायल के बंधकों और लापता परिवारों ने फोरम (Hostages and Missing Families Forum) ने बुधवार (22 मई 2024) को वो भयावह फुटेज जारी की, जिसमें 7 अक्टूबर 2023 के हमले में नाहल ओज बेस से 5 महिला सैनिकों को अगवा कर बंधक बनाया गया था। फुटेज को जारी करने वाले परिवारों ने ‘बंधकों को वापस लाने में विफल सरकार का प्रमाण’ करार देते हुए कहा कि अगर अब भी सरकार बंधकों को लाने का प्रयास नहीं करती है, तो ये सारी सीमाओं के पार करने जैसा है।

टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित परिवारों ने कहा कि उन्होंने जोखिम उठाते हुए अपने बच्चों और परिवारों की पहचान जाहिर की है। सरकार को उन बंधकों को तुरंत रिहा कराने के लिए हमास के खिलाफ जारी गाजा में अभियान को रोक देना चाहिए। इन परिवारों ने कहा कि हमास के पास अब भी 129 बंधक हैं, जिन्हें लाना सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए। ये वीडियो हमास के आतंकियों के शरीर पर लगे बॉडीकैम से बनाई गई है। वीडियो की कुल लंबाई 13 मिनट से ज्यादा है, लेकिन इसे एडिट करके सिर्फ 3 मिनट का ही जारी किया गया है।

इस वीडियो के माध्यम से पता चला है कि नाहल ओज बेस पर आतंकवादी करीब 3 घंटे रहे और आराम से वापस लौट गए। इस दौरान इजरायली सेना की तरफ से किसी भी तरह का कोई पलटवार नहीं हुआ। बता दें कि इस बेस पर हमले में कुल 50 महिला-पुरुष सैनिक मारे गए थे, तो 5 महिला सैनिकों को ये कहते हुए बंदी बना लिया गया था कि ये ‘बच्चे पैदा करने लायक’ हैं। इस वीडियो में हमास का एक आतंकी महिला सैनिकों की खूबसूरती की तारीफ कर रहा है, जबकि महिला सैनिक बंधक अवस्था में हैं। इसमें एक जगह हमास आतंकी बोलता है, ‘तुम कुत्तों को मार डालेंगे।’

हमास की कैद में लिरी अलबेग, करीबा एनिएव, एगम बर्जर, डेनिएला गिल्बोवा और नामा लेवी की पाँचों महिला सैनिक

इस वीडियो में दिख रही पाँचों महिला सैनिकों के नाम भी जारी किए गए हैं। इनके नाम लिरी अलबेग, करीबा एनिएव, एगम बर्जर, डेनिएला गिल्बोवा और नामा लेवी है। ये पाँचों महिला सैनिक अब भी हमास की चंगुल में कैद हैं। इनमें से एक नामा लेवी फिलिस्तीनियों के लिए काम करने वाली एक संगठन से जुड़ी थी और इजरायल के अंदर ‘फिलिस्तीन के साथ सह-अस्तित्व की भावना के साथ जिंदगी’ नाम के प्रोजेक्ट पर काम कर रही थी। इस तीन मिनट के वीडियो में वो हमास के आतंकियों से कहती हैं कि उनका दोस्त गाजा में है, जिसपर हमास का आतंकी चिल्लाकर कहता है कि वो अपने दोस्त को फोन करे। हालाँकि इस दौरान फोन नहीं किया गया। इन पाँच महिला सैनिकों में से एक नावा लेवी ‘पीस एक्टिविक्स’ भी थी, जो अब भी हमास की चंगुल में हैं।

इस वीडियो में एक आतंकी बंधक महिला सैनिकों को चिल्ला कर कहा है, “तुम्हारी वजह से हमारे भाई मरे, हम तुम सबको गोली मार देंगे।” वीडियो के साथ दिए गए अनुवाद में आतंकवादियों में से एक ने बंधकों को “ऐसी महिलाएँ जो गर्भवती हो सकती हैं(“women who can get pregnant)” कहा। हालाँकि इस शब्द का अनुवाद “महिला बंदी” के रूप में भी किया जा सकता है। पहले इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों द्वारा इसका इस्तेमाल सेक्स गुलामों के लिए भी किया जाता था।

बता दें कि 7 अक्टूबर 2023 को हमास के आतंकियों ने इजरायल पर हमला बोल दिया था। हमास के हमले में 1200 से अधिक इजरायली मारे गए थे, तो 234 को बंधक बना लिया गया था। पिछले साल सौ से अधिक बंधकों को रिहाई मिल गई थी, लेकिन अब भी 129 इजरायली नागरिक हमास की कैद में हैं। इनमें से कई बंधकों के मारे जाने की भी सूचना है। हमास के हमले के बाद इजराइल सेना ने गाजा पर हमला बोल दिया था, जिसमें हजारों लोग मारे गए हैं। ये लड़ाई अब भी जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -