Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबाली के हिन्दू मंदिर पहुँचकर विदेशी जोड़े ने पवित्र जल से की शर्मनाक हरकत,Video...

बाली के हिन्दू मंदिर पहुँचकर विदेशी जोड़े ने पवित्र जल से की शर्मनाक हरकत,Video वायरल

सबीना ने कहा, "हमें इस बारे में बिलकुल नहीं पता था कि वो पवित्र जल है या वो जगह पवित्र स्थल है, अगर मालूम होता तो हम ऐसा कुछ भी गलत नहीं करते। हम माफी माँगते हैं और उम्मीद करते हैं कि आप हमें माफ़ कर देंगे।"

इंडोनेशिया के बाली में ऊबुद स्थित बेजी मंदिर में पवित्र जल के साथ अभद्र हरकत करने पर चेक रिपब्लिक के एक जोड़े की वीडियो गुरुवार (अगस्त 15, 2019) से इंस्टाग्राम पर खूब वायरल हो रही है। जिस कारण इस जोड़े को सोशल मीडिया पर काफ़ी ट्रोल किया जा रहा है। साथ ही लोग इस कपल पर अपना गुस्सा निकाल रहे हैं और तरह-तरह की बातें बोल रहे हैं।

इस वीडियो में हम देख सकते हैं कि किस तरह ये जोड़ा मंदिर परिसर में मस्ती कर रहा है और इनके सामने फाउंटेन से पवित्र जल निकल रहा है। लेकिन थोड़ी देर बाद वीडियो में लड़की यानी सबीना पीछे की ओर से अपनी स्कर्ट उठाती दिखती है और उसका ब्वॉयफ्रेंड उसके बट पर पानी मारता है। इसके बाद ऐसा करके दोनों बहुत खुश होते हैं।

बता दें कि इस जोड़े ने 9 अगस्त को इस वीडियो को अपने 85 हजार फॉलोवर्स के साथ शेयर किया था। लेकिन अचानक बाली के सीनेटर (Bali senetar) डॉक्टर आर्य वेदकर्ण उनकी इस वीडियो को देखकर उनपर भड़क उठे। वेदकर्ण ने इंस्टाग्राम के इस जोड़े की हरकत के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाते हुए उनकी इस हरकत को बाली के ‘बेजी मंदिर का शोषण’ करने वाल बताया। जिसके बाद कई लोगों ने इस जोड़े की हरकत को शर्मनाक करार देते हुए इन्हें खरी-खोटी सुनाई।

सोशल मीडिया पर 85000 फॉलोवर्स के बीच ट्रोल होते इस जोड़े ने बाद में एक वीडियो जारी करके माफ़ी माँगी। उन्होंने कहा, “हम कल की वीडियो के लिए माफी माँगते हैं। हमने ऊबुद के पवित्र मंदिर और पवित्र जल का अनादर किया, जिसके बारे में हमें पता नहीं था। इसलिए हम शर्मिंदा हैं और आपसे माफ़ी माँगते हैं।”

जबकि सबीना ने कहा, “हमें इस बारे में बिलकुल नहीं पता था कि वो पवित्र जल है या वो जगह पवित्र स्थल है, अगर मालूम होता तो हम ऐसा कुछ भी गलत नहीं करते। हम माफी माँगते हैं और उम्मीद करते हैं कि आप हमें माफ़ कर देंगे।”

सोशल मीडिया पर लोग इसे बेहूदी हरकत कह रहे हैं और चाहते हैं कि इन दोनों को बाली से ब्लैकलिस्ट कर दिया जाए। जबकि वेदकर्ण को तो यूजर्स इन्हें दंड देने के लिए भी उकसा रहे हैं।

इंस्टाग्राम पर एक महिला ने इसे इंडोनेशिया की बेइज्जती बताया है। साथ ही कहा है कि वह भले ही बाली की रहने वाली नहीं है और न ही वह हिंदू हैं लेकिन इनकी इस बेवकूफ़ी से वे बहुत शर्मिंदा हैं। जबकि दूसरे यूजर का कहना है कि बतौर पर्यटक तुम्हें किसी देश में जाने से पहले उस जगह की स्थानीय परंपरा, धर्म के साथ इस बात का पता होना चाहिए कि वहाँ तुम क्या कर सकते हो और क्या नहीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe