Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'इंडिया' को अलविदा कह पत्रकार ने उठाए हथियार, भारतीय नर्स ने कहा- इस कठिन...

‘इंडिया’ को अलविदा कह पत्रकार ने उठाए हथियार, भारतीय नर्स ने कहा- इस कठिन घड़ी में इजरायल को छोड़कर भाग नहीं सकती

भारतीय नर्स प्रमिला प्रभु जिस इलाके में रहती हैं, वहाँ भी हमास के आतंकियों ने रॉकेट दागे हैं। लेकिन प्रमिला ने इजरायल छोड़कर भारत वापस आने से इनकार किया है। कहा है कि जरूरत पड़ने पर वह अपनी सेवाएँ भी देंगी।

इस्लामी संगठन हमास के हमलों के बाद इजरायल के एक पत्रकार ने भी हथियार उठा लिए हैं। हनन्या नफ्ताली ने एक पोस्ट में बताया है कि वह देश की रक्षा के लिए जा रहे हैं। दूसरी ओर एक भारतीय नर्स ने इस कठिन समय में इजरायल को छोड़ने से इनकार किया है। कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर वह अपनी सेवाएँ भी देंगी।

कर्नाटक के उडुपी जिले की रहने वाली 41 वर्षीय नर्स प्रमिला प्रभु राजधानी तेल अवीव में रहती हैं। उनके घर के पास भी हमास ने रॉकेट हमले किए हैं। उन्हें हर बार चेतावनी जारी होने के बाद अपने घर के भीतर बने बंकर में जाना पड़ता है। बावजूद उन्होंने इजरायल को छोड़ने से इनकार किया है।

इजरायल में प्रमिला 7 वर्षों से कार्य कर रही हैं। उनका कहना है कि तेल अवीव हमले के बाद से ही पूरी तरह से बंद है। इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने बताया कि उन्हें इतनी हिंसा पहले कभी देखने को नहीं मिली है। वह इजरायल में 25-30 अन्य लोगों के साथ रहती हैं। इनलोगों ने लम्बे समय के लिए जरूरत का सामान इकट्ठा कर रखा है।

हिंसा के बीच भारत लौटने के प्रश्न पर उन्होंने कहा उनका कहना है कि भारत ने उन्हें जन्म दिया है और इजरायल ने जीवन, इसलिए वह इस कठिन परिस्थितियों में इन लोगों को नहीं छोड़ेंगी। उन्होंने कहा कि यदि आवश्यकता पड़ी तो वह इजरायल की सरकार के निर्देशानुसार अपनी सेवा देना को भी तैयार हैं।

प्रमिला का परिवार उडुपी में ही रहता है। वह उनकी सुरक्षा के लिए चिंतित हैं। परिवार लगातार प्रमिला को फ़ोन और मैसेज करके उनका हालचाल ले रहा है। प्रमिला के बच्चे भारत में ही रह रहे हैं। इससे पहले रविवार को इस्लामी आतंकी संगठन हमास के हमले में एक भारतीय नर्स शीजा आनंद घायल हो गई थी। केरल के कन्नूर की रहने वाली शीजा इजरायल के अश्कलेन शहर में रह काम कर रही थीं। उनका अब इलाज चल रहा है।

इससे पहले रविवार को इस्लामी आतंकी संगठन हमास के हमले में एक भारतीय नर्स शीजा आनंद घायल हो गई थी। केरल के कन्नूर की रहने वाली शीजा इजरायल के अश्कलेन शहर में रह काम करती हैं।

पत्रकार ने देश रक्षा के लिए उठाए हथियार

इस्लामी आतंकी संगठन हमास द्वारा हमले के बाद इजरायल ने अपने नागरिकों को सैन्य सेवा के लिए बुला लिया है। इसी के अंतर्गत इजरायली पत्रकार हनन्या नफ्ताली भी अपने देश की सेवा के लिए गए हैं।

हनन्या भारत के बड़े समर्थक हैं और सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलर हैं। उनके एक्स (पहले ट्विटर) पर लगभग 3 लाख फालोवर हैं। उनकी पत्नी का नाम भी ‘इंडिया’ है। सेना में सेवा के लिए जाने से पहले उन्होंने एक सन्देश अपने समर्थकों के लिए एक्स पर लिखा है।

हनन्या ने लिखा है, “मुझे अपने देश की सेवा और रक्षा करने के लिए बुलाया गया है। मैंने अपनी पत्नी ‘इंडिया’ को अलविदा कहा, उसने मुझे ईश्‍वर के आशीर्वाद और सुरक्षा के साथ भेजा है। अब से मेरी जगह पर वह पोस्ट करेगी। उसके साथ अच्छा बर्ताव करें।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -