Saturday, May 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयवाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट को विदेश मंत्रालय ने बताया 'गैर जिम्मेदार', RAW अफसर पर...

वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट को विदेश मंत्रालय ने बताया ‘गैर जिम्मेदार’, RAW अफसर पर लगाए थे खालिस्तानी आतंकी पन्नू की सुपारी देने का आरोप

अमेरिकी समाचार पत्र द वाशिंगटन पोस्ट ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि R&AW के अधिकारी विक्रम यादव ने अमेरिका में रहने वाले खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू को मारने के लिए हत्यारों की एक टीम को सुपारी दी।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी समाचार पत्र द वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि R&AW के एक अधिकारी विक्रम यादव ने गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या के लिए एक टीम को सुपारी दी थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इसे गैरजिम्मेदार बताया है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने इस विषय में बयान जारी किया है। विदेश मंत्रालय ने कहा, ”इस रिपोर्ट में एक गंभीर मामले पर अनुचित और निराधार आरोप लगाए गए हैं। भारत सरकार द्वारा बनाई गई उच्च स्तरीय समिति संगठित अपराधियों, आतंकवादियों और अन्य के नेटवर्क पर अमेरिकी सरकार द्वारा साझा की गई सुरक्षा चिंताओं की जाँच की जा रही है। इस पर कयास और गैर-जिम्मेदाराना टिप्पणियां मददगार नहीं हैं।”

गौरतलब है कि हाल ही में अमेरिकी समाचार पत्र द वाशिंगटन पोस्ट ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि R&AW के अधिकारी विक्रम यादव ने अमेरिका में रहने वाले खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या के लिए हत्यारों की एक टीम को सुपारी दी। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि और भी कुछ लोगों को निशाने पर लिया गया था। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि यादव ने पन्नू की जानकारियाँ हत्यारों के साथ साझा की।

रिपोर्ट में दावा किया गया था कि पन्नू को मारने की योजना को R&AW के दिल्ली दफ्तर से मंजूरी मिली थी यानी इस विषय में R&AW मुखिया को मालूम था। रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया था कि विक्रम यादव को यह पूरा प्लान फेल होने के बाद CRPF में भेज दिया गया जहाँ R&AW में आने से पहले उनकी पोस्टिंग थी। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस मामले की जानकारी पीएम मोदी के आसपास रहने वालों को भी थी।

गौरतलब है कि नवम्बर 2023 में अमेरिका की खुफिया एजेंसियों ने दावा किया था कि एक भारतीय निखिल गुप्ता ने कुछ हत्यारों को काम पर लगाया। यह हत्यारे पन्नू को मारने वाले थे। उन्होंने दावा किया था कि गुप्ता को CC1 नाम का एक अधिकारी नियंत्रित कर रहा था जो कि अब विक्रम यादव के रूप में पुष्ट हुआ है। निखिल गुप्ता वर्तमान में चेक गणराज्य में है और अमेरिका उसका प्रत्यर्पण माँग रहा है। अभी तक इस मामले में किसी भी आरोप की पुष्टि नहीं हो पाई है। भारत भी इस विषय में जाँच कर रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -