Tuesday, January 31, 2023
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजरायल में विदेशियों की एंट्री बैन, लेकिन 'मिस यूनिवर्स' के लिए आ सकेंगी ब्यूटी...

इजरायल में विदेशियों की एंट्री बैन, लेकिन ‘मिस यूनिवर्स’ के लिए आ सकेंगी ब्यूटी क्वींस: ओमिक्रॉन कोरोना वैरिएंट को लेकर फैसला

ये कार्यक्रम इजरायल के दक्षिणी हिस्से में स्थित लाल सागर के पास रिसॉर्ट शहर एलिअट में आयोजित किया जाना है। ये इलाका जॉर्डन के नजदीक पड़ता है।

इजरायल ने कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के तेजी से फैलते संक्रमण के कारण अपनी देश की सीमाओं को विदेशी नागरिकों के लिए बंद कर दिया है। लेकिन, यहूदी देश ने साफ़ कर दिया है कि वहाँ होने वाले ‘मिस यूनिवर्स पेजेंट’ कार्यक्रम पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। ये कार्यक्रम इजरायल के दक्षिणी हिस्से में स्थित लाल सागर के पास रिसॉर्ट शहर एलिअट में आयोजित किया जाना है। ये इलाका जॉर्डन के नजदीक पड़ता है। दुनिया भर की कई महिलाएँ इस कार्यक्रम के लिए इजरायल आने वाली हैं।

इजरायल के पर्यटन मंत्री योएल रजवाज़ोव ने रविवार (28 नवंबर, 2021) को इन प्रतिभगियों को राहत देने की घोषणा की। जबकि इससे एक दिन पहले ही विदेशी नागरिकों के लिए एंट्री बंद करने का ऐलान किया गया था। हालाँकि, इन प्रतिभागियों को कोविड-19 से जुड़े सभी मेडिकल व शासकीय दिशानिर्देशों का पालन करना होगा और प्रत्येक 2 दिन में इनका PCR टेस्ट भी कराया जाएगा। रविवार को साप्ताहिक कैबिनेट बैठक के बाद मंत्री रजवाज़ोव ने इसकी जानकारी दी।

उन्होंने कहा, “ये एक ऐसा कार्यक्रम है, जिसका प्रसारण 174 देशों में होना है। ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण आयोजन है। एक ऐसा आयोजन, जिसकी एलिअट शहर को काफी ज़रूरत भी है। वेवर्स कमिटी का प्रयोग कर के हम ऐसे कार्यक्रम करा सकते हैं। हमारा देश इसके लिए पहले से प्रतिबद्ध रहा है, इसीलिए इसे रद्द नहीं किया जा सकता है।” इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने कहा था कि देश को अंदर खुला रखने के लिए बाहर से आने वालों पर रोक लगानी होगी।

12 दिसंबर, 2021 को पहली बार इजरायल में ‘मिस यूनिवर्स पेजेंट’ प्रतियोगिता का आयोजन होना है। ओमिक्रॉन कोविड-19 वैरिएंट के कारण मध्य-पूर्वी देश ने पहले तो दक्षिण अफ्रीका के 7 देशों के नागरिकों की एंट्री बैन की थी, जिसके बाद सभी विदेशी नागरिकों की एंट्री प्रतिबंधित कर दी गई। इस वैरिएंट के पास 32 म्यूटेशंस हैं, जो पिछले किसी भी कोरोना वायरस से काफी ज्यादा है। इजरायल में इसके दो मामले पहले ही आ चुके हैं। नवंबर में दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने ‘मिस साउथ अफ्रीका आर्गेनाईजेशन’ से समर्थन वापस ले लिया था, क्योंकि उसने इजरायल में हो रहे इस समारोह का बहिष्कार करने से इनकार कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पंजाब में पादरियों के ठिकानों पर IT रेड, ‘मेरा येशु येशु’ वाला बजिंदर सिंह भी रडार पर: पैरामिलिट्री जवान तैनात

‘मेरा यशु यशु’ फेम पादरी बजिंदर सिंह के ठिकानों पर आयकर विभाग (IT) ने दबिश दी है। कपूरथला के पादरी हरप्रीत सिंह खोजेवाला के यहाँ भी छापेमारी हुई है।

9 महीने में GST से ₹13.40 लाख करोड़, 6.5% विकास दर का अनुमान: बजट से पहले मोदी सरकार ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण

क्रय क्षमता के मामले में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरा है। विनिमय दर के मामले में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,374FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe