Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका दौरा: गाँधी जयंती होगी संयुक्त राष्ट्र में, हफ्ते भर में 21 नेताओं से...

अमेरिका दौरा: गाँधी जयंती होगी संयुक्त राष्ट्र में, हफ्ते भर में 21 नेताओं से मिलेंगे मोदी, ‘Howdy Modi’ भी होगा

इसी दौरान मोदी संयुक्त राष्ट्र की सबसे बड़ी सदस्य संस्था संयुक्त राष्ट्र महासभा को भी सम्बोधित करेंगे। इसके पहले उन्होंने 2014 में पहली बार प्रधानमंत्री निर्वाचित होने पर सभा को सम्बोधित किया था, जिसकी उस समय बहुत चर्चा हुई थी।

अपने आगामी अमेरिका दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक हफ़्ते में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अलावा 20 अन्य नेताओं से मुलाक़ात करेंगे। मोदी के विदेश दौरे की घोषणा करते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने यह जानकारी दी। 21 सितंबर की दोपहर से 27 सितंबर तक चलने वाले इस दौरे में वह दो अमेरिकी शहरों न्यूयॉर्क और टेक्सास राज्य के ह्यूस्टन में मौजूद होंगे। इसी दौरे का अंग भारतीयों और भारतवंशियों के साथ उनकी मुलाकात का कार्यक्रम ‘Howdy Modi’ भी होगा।

2014 के बाद UN महासभा को संबोधन

इसी दौरान मोदी संयुक्त राष्ट्र की सबसे बड़ी सदस्य संस्था संयुक्त राष्ट्र महासभा को भी सम्बोधित करेंगे। इसके पहले उन्होंने 2014 में पहली बार प्रधानमंत्री निर्वाचित होने पर सभा को सम्बोधित किया था, जिसकी उस समय बहुत चर्चा हुई थी।

गाँधी जयंती होगी संयुक्त राष्ट्र में, महासचिव से लेकर कोरिया-जमैका के राष्ट्राध्यक्ष भी होंगे शामिल

गोखले ने जानकारी दी कि 24 सितंबर को गाँधी जी की आगामी 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में मोदी की मौजूदगी में संयुक्त राष्ट्र में विशेष समारोह होगा। कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने ‘Leadership matters: Relevance of Gandhi in contemporary times’ नामक समारोह में शामिल होने के लिए हामी भरी है। इनमें संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ऍन्तोनिओ गुतेरेश के अलावा सिंगापुर, कोरिया, न्यूज़ीलैंड आदि के राष्ट्राध्यक्षों के भी शमिल होने की उम्मीद है।

22 को ‘Howdy Modi’

22 को मोदी भारतीय समुदाय को सम्बोधित करेंगे। इस समारोह में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी आएँगे, जो इस बार अपने पुनर्निर्वाचन के लिए भारतवंशी अमेरिकियों पर नज़र टिकाए हैं। ट्रम्प ने कश्मीर मामले पर भी पाकिस्तान के सुर में बात करने और पाकिस्तान के पक्ष में ‘गैर-हस्तक्षेप’ की नीति को पलटते हुए इस बार भारत के रुख के समर्थन में कश्मीर-विवाद को ‘दोनों देशों का आपसी मसला’ और जम्मू-कश्मीर से 370 हटा कर पूर्ण विलय को भारत का आंतरिक मुद्दा करार दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ट्विटर ने सस्पेंड किया ‘इस्कॉन बांग्लादेश’ और ‘हिन्दू यूनिटी काउंसिल’ का हैंडल: दुनिया के सामने ला रहे थे हिन्दुओं पर अत्याचार की खबरें, तस्वीरें

हिन्दुओं पर लगातार हो रहे हमलों के बीच अब ट्विटर ने 'इस्कॉन बांग्लादेश' और 'बांग्लादेश हिन्दू यूनिटी काउंसिल' के हैंडल्स को सस्पेंड कर दिया है।

नई पार्टी बनाएँगे पूर्व CM अमरिंदर सिंह, BJP के साथ हो सकता है गठबंधन, ‘किसान आंदोलन’ का समाधान भी जल्द: रिपोर्ट

कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने घोषणा की है कि वो एक नई पार्टी बनाएँगे। उनकी पार्टी भाजपा, अकालियों के एक गुट व अन्य छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,026FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe