Wednesday, April 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय55 साल के कुर्बान ने 9 साल की बच्ची को सेक्स के लिए खरीदा:...

55 साल के कुर्बान ने 9 साल की बच्ची को सेक्स के लिए खरीदा: इस्लाम में जायज होता है ऐसा निकाह?

CNN की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रही है। लोग ध्यान दिला रहे हैं कि कैसे 55 साल के बुजुर्ग ने 9 साल की बच्ची को सेक्स के लिए खरीदा। अभिजीत मजूमदार लिखते हैं, "एक बार बच्ची का चेहरा देखो... ये सब हलाल है। ये लोग धरती पर चलने वाले सबसे बुरे जीव हैं।"

अफगानिस्तान से एक छोटी बच्ची का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में पहले बच्ची अपने दोस्तों के साथ खेलती नजर आती है और उसके बाद उसके अम्मी-अब्बू कमरे में ले जाकर उसे किसी बुजुर्ग शख्स के हाथ में सौंप देते हैं और बदले में कुछ कीमत उस बुजुर्ग से खुद ले लेते हैं।

ये वीडियो सीएनएन द्वारा रिकॉर्ड की गई है। दावा है कि बच्ची के पिता ने उसे इसलिए बेचा था क्योंकि वो बाकी घरवालों का पेट भरना चाहते थे। वहीं बच्ची के खरीददार ने टीवी पर बताया था कि वो खुद 55 साल का है और उसने 9 साल की लड़की को अपने लिए खरीदा है। वह उसके बड़े होने का इंतजार करेगा। रिपोर्ट के अनुसार खरीददार का नाम कुर्बान है, जिससे बच्ची के अब्बू ने कहा था कि वो उनकी बेटी का ख्याल रखे। हालाँकि कुर्बान ने जवाब दिया कि अब उसकी पत्नी है उसका जो मन होगा वो वह करेगा। रिपोर्ट के अनुसार, कुर्बान की यह दूसरी शादी थी। पहली बीवी से उसे 4 बेटियाँ और एक बेटा है।

CNN की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रही है। लोग ध्यान दिला रहे हैं कि कैसे 55 साल के बुजुर्ग ने 9 साल की बच्ची को सेक्स के लिए खरीदा। अभिजीत मजूमदार लिखते हैं, “एक बार बच्ची का चेहरा देखो… ये सब हलाल है। ये लोग धरती पर चलने वाले सबसे बुरे जीव हैं।”

बता दें कि इस्लाम में पीरियड के बाद लड़की से निकाह को अक्सर जायज बताया जाता रहा है। लेकिन कुछ लोग लड़कियों से शादी की उम्र 9 साल भी बताते हैं। 2017 में देवबंद के मौलाना ने शरीयत का हवाला देकर लड़की की शादी की सही उम्र को 9 साल और लड़कों की निकाह की सही उम्र 14 साल बताई थी।

रही बात लड़की के साथ सेक्स की तो ईरान के संस्थापक अयातुल्लाह खुमैनी आगे कहते हैं, “लड़की के 9 साल के होने से पहले सेक्स नहीं करना चाहिए। भले ही वह स्थाई या अस्थाई निकाह ही क्यों न हो। इसके अलावा अन्य तमाम हरकतें की जा सकती हैं जिसमें कामुक टच, गले लगाना और पैरों के बीच में प्राइवेट पार्ट रगड़ना शामिल है। यहाँ तक कि ये सब किसी दूध पीती बच्ची के साथ भी जायज है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उन्होंने 40 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला, लिबरल मीडिया ने उन्हें बदनाम किया’: JP मॉर्गन के CEO हुए PM मोदी के मुरीद, कहा...

अपनी बात आगे बढ़ाते हुए जेमी डिमन ने कहा, "हम भारत को क्लाइमेट, लेबर और अन्य मुद्दों पर 'ज्ञान' देते रहते हैं और बताते हैं कि उन्हें देश कैसे चलाना चाहिए।

आपकी निजी संपत्ति पर ‘किसी समुदाय या संगठन का हक है या नहीं’, सुप्रीम कोर्ट कर रहा विचार: CJI की अध्यक्षता में 9 जजों...

सुप्रीम कोर्ट में निजी संपत्ति को ‘समुदाय का भौतिक संसाधन’ मानने को लेकर 32 साल पुरानी एक याचिका पर सुनवाई की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe