Thursday, May 30, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयन्यूजीलैंड में ISIS का हमला: सुपरमार्केट में आतंकी ने 6 लोगों को मारा चाकू,...

न्यूजीलैंड में ISIS का हमला: सुपरमार्केट में आतंकी ने 6 लोगों को मारा चाकू, पुलिस की गोलीबारी में हुआ ढेर

पुलिस आयुक्त ने बताया कि हमले के कुछ सेकेंड में उस व्यक्ति को गोली मार दी गई थी। मगर, इस बीच वह 6 लोगों पर हमला कर चुका था। ये एक हिंसक हमला था। हमलावर बेसुधों की तरह अटैक कर रहा था।

न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में स्थित एक सुपरमार्केट में शुक्रवार (सितंबर 3, 2021) को आतंकी हमले की घटना सामने आई है। स्वयं देश की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ISIS से प्रेरित एक आतंकी ने शुक्रवार को ऑकलैंड के सुपरमार्केट में 6 लोगों को चाकू मारा। घटना के बाद पुलिस ने उसे गोली मार कर ढेर कर दिया।

प्रधानमंत्री ने घटना में ISIS एंगल को लेकर कहा, “आज जो हुआ वह निंदनीय था, नफरत से भरा हुआ और गलत था। यह हमला किसी मजहब या जातीयता द्वारा नहीं किया गया बल्कि एक अकेले व्यक्ति द्वारा किया गया, जो ऐसी विचारधारा से प्रभावित था जिसका समर्थन यहाँ कोई नहीं करता।”

हमलावर की जानकारी साझा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “आतंकी एक श्रीलंकाई था जो अक्टूबर 2011 में न्यूजीलैंड आया था। साल 2016 से राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में उस पर निगरानी की जा रही थी।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस आयुक्त ने बताया कि हमलावर की निगरानी लंबे समय से की जा रही थी और हाल में उसे अपने घर से न्यू लिन सुपरमार्केट जाते हुए देखा गया, ऐसा वह पहले भी कर चुका था। लेकिन, इस बार उसने दुकान में प्रवेश किया, वहाँ से चाकू खरीदा और हमला करने लगा।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि हमले के कुछ सेकेंड में उस व्यक्ति को गोली मार दी गई थी। मगर, इस बीच वह 6 लोगों पर हमला कर चुका था। ये एक हिंसक हमला था। हमलावर बेसुधों की तरह अटैक कर रहा था। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस आयुक्त एंड्रयू कॉस्टर ने इसके लिए माफी माँगी है। वहीं सेंट जॉन एंबुलेंस सर्विस ने बताया कि 6 घायल लोगों को चाकू लगने के बाद अस्पताल ले जाया गया। इनमें से 3 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

उल्लेखनीय है कि न्यूजीलैंड के डुनेडिन में मई में भी इस तरह की घटना हुई थी। उस समय हमलावर ने चाकू मार कर सुपरमार्केट के भीतर चार लोगों को घायल कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

बाँटने की राजनीति, बाहरी ताकतों से हाथ मिला कर साजिश, प्रधान को तानाशाह बताना… क्या भारतीय राजनीति के ‘बनराकस’ हैं राहुल गाँधी?

पूरब-पश्चिम में गाँव को बाँटना, बाहरी ताकत से हाथ मिला कर प्रधान के खिलाफ साजिश, शांति समझौते का दिखावा और 'क्रांति' की बात कर अपने चमचों को फसलना - 'पंचायत' के भूषण उर्फ़ 'बनराकस' को देख कर आपको भारत के किस नेता की याद आती है?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -