Friday, May 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनॉर्थ कोरिया में हँसने, रोने, शराब पीने, शॉपिंग पर पाबंदी: तानाशाह किम जोंग का...

नॉर्थ कोरिया में हँसने, रोने, शराब पीने, शॉपिंग पर पाबंदी: तानाशाह किम जोंग का फरमान- 11 दिनों तक सबको दिखना है उदास, मृतकों का अंतिम संस्कार भी नहीं

नॉर्थ कोरिया (North Korea) के तानाशाह किम जोंग-उन (Kim Jong-un) ने एक बार फिर अपने नागरिकों के लिए अजीब-ओ-गरीब फरमान जारी कर देश में हँसने और शॉपिंग करने पर रोक लगा दी है। यह फरमान किम जोंग-उन (Kim Jong-un) ने अपने पिता और देश के पूर्व तानाशाह किम जोंग-इल (Kim Jong-il) की 10वीं पुण्यतिथि के अवसर पर सुनाया है।

नए फरमान के तहत अगले 11 दिनों तक देश में न कोई हँस सकता है, न शराब पी सकता है, न शॉपिंग कर सकता है और न ही कोई खुशी मना सकता है। यदि किसी ने इस फरमान का उल्लंघन किया तो उसे कड़ी सजा दी जाएगी। दरअसल, किम जोंग-इल की पुण्यतिथि को नॉर्थ कोरिया में राष्ट्रीय शोक के रूप में मनाया जा रहा है।

किम जोंग-इल की मृत्यु के दस साल बाद उत्तर कोरियाई लोगों को 11 दिनों के शोक की अवधि का पालन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। इसके अलावा, आज (17 दिसंबर 2021) से अगले दिनों तक नॉर्थ कोरिया के लोगों को किराने का सामान तक खरीदने की अनुमति नहीं है। हालाँकि, सरकारी कंपनियों से कहा गया है कि राष्ट्रीय शोक की अवधि में गरीब लोगों के लिए खाने की व्यवस्था का ध्यान रखें।

जानकारी के मुताबिक, पिछली बार शोक के दौरान कई लोग शराब का सेवन करते या खुशी मनाते पकड़े गए थे। इसके बाद इन लोगों को वैचारिक अपराधी मानते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था। गिरफ्तार लोगों को अनजान जगह ले जाया गया था और उसके बाद से ये लोग दोबारा नहीं दिखे। 

इतना ही नहीं, शोक के दौरान यदि किसी के परिवार में निधन हो जाता है तो वे जोर से रोके नहीं सकते। इतना ही नहीं, मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार भी इस अवधि में नहीं कर सकते। यहाँ तक कि अगर किसी का जन्मदिन भी इस बीच आता है तो उसे अपना जन्मदिन मनाने के लिए 11 दिनों तक इंतजार करना होगा। 

दक्षिण ह्वांगहे के दक्षिण-पश्चिमी प्रांत के एक निवासी के अनुसार, पुलिस अधिकारियों से कहा गया कि वे ऐसे लोगों पर नज़र रखें, जो शोक की अवधि के दौरान उदास न दिखें। दिसंबर के पहले दिन से ही पुलिस अधिकारियों को खास तरह की ड्यूटी पर लगा दिया जाता है, ताकि वे शोक की अवधि में लापरवाही करने वालों के खिलाफ एक्शन ले सकें।

हर वर्ष शोक केवल 10 दिनों के लिए मनाया जाता था, परंतु इस बार दसवीं पुण्यतिथि के अवसर पर इसे 11 दिन का रखा गया है। किम जोन्ग-इल की उपलब्धियों को दर्शाने के लिए नॉर्थ कोरिया में इस बार कई कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। किम जोंग-इल की मौत 17 दिसंबर 2011 को 69 साल की उम्र में हार्ट अटैक से हो गई थी। उन्होंने 1994 से 2017 तक देश पर शासन किया था।   

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले दोस्ती की, फिर फ्लैट में ले गई… MP अनवारुल अजीम की हत्या में शिलांती रहमान पकड़ी गई, कसाई से कटवाया फिर हल्दी लगाकर...

बांग्लादेशी सांसद की हत्या मामला में वो महिला हिरासत में ले ली गई है जिसने उन्हें हनीट्रैप में फँसाकर फ्लैट में बुलवाया था। महिला का नाम शिलांती रहमान है।

दुबई में चल रही हनुमत कथा, शेखों ने गुलाब के फूल बरसा कर बागेश्वर बाबा का किया स्वागत: गोल्डन वीजा पर अबुधाबी के मंदिर...

सुपरस्टार रजनीकांत ने अबुधाबी के BAPS मंदिर में दर्शन किया। वहीं दुबई के बुर्ज खलीफा में बागेश्वर धाम वाले बाबा का भव्य स्वागत हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -