Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयवैक्सीन के लिए अमेरिका ने की भारत की तारीफ़: बाइडेन के शपथग्रहण में शामिल...

वैक्सीन के लिए अमेरिका ने की भारत की तारीफ़: बाइडेन के शपथग्रहण में शामिल 150 से अधिक नेशनल गार्ड कोरोना पॉजिटिव

“हम वैश्विक स्वास्थ्य में भारत की भूमिका की सराहना करते हैं। भारत दक्षिण एशिया में कोविड वैक्सीन की लाखों डोज़ साझा कर रहा है। मालदीव, बांग्लादेश, भूटान और नेपाल में भारत की मुफ्त शिपमेंट शुरू हो चुकी है, आने वाले समय में इसका विस्तार अन्य देशों में भी होगा।”

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह की सुरक्षा में तैनात लगभग 150 से 200 नेशनल गार्ड कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ संक्रमित जवानों का आँकड़ा इससे अधिक भी हो सकता है। जो बाइडेन के शपथ ग्रहण को मद्देनज़र रखते हुए वाशिंगटन डीसी में लगभग 25000 जवानों को तैनात किया गया था। 

दरअसल, कुछ दिनों पहले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा कैपिटल हिल में किए गए हंगामे को ध्यान में रखते हुए इतने जवानों को तैनात किया गया था। इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए लोगों से निवेदन किया था कि वह आगामी 100 दिनों तक मास्क पहनें। 

वहीं अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट (state department) ने वैश्विक महामारी के दौर में भारत द्वारा दक्षिण एशियाई देशों के लिए की जाने वाली ‘मुफ्त शिपमेंट’ के लिए सराहना की है। 

भारत सरकार द्वारा की जा रही वैश्विक स्तर की मदद की प्रशंसा करते हुए अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट ने अपने ट्वीट में लिखा, “हम वैश्विक स्वास्थ्य में भारत की भूमिका की सराहना करते हैं। भारत दक्षिण एशिया में कोविड वैक्सीन की लाखों डोज़ साझा कर रहा है। मालदीव, बांग्लादेश, भूटान और नेपाल में भारत की मुफ्त शिपमेंट शुरू हो चुकी है, आने वाले समय में इसका विस्तार अन्य देशों में भी होगा।”

पिछले कुछ दिनों में भारत भूटान को 1.5 लाख, मालदीव को 1 लाख, बांग्लादेश को 20 लाख, म्यांमार को 15 लाख, नेपाल को 10 लाख और मारीशस को 1 लाख कोविड वैक्सीन की डोज़ प्रदान कर चुका है। केंद्र की मोदी सरकार ने लगभग सभी पड़ोसी देशों को कोविड वैक्सीन प्रदान करने का ऐलान किया है सिवाय पाकिस्तान। इसके अलावा भारत सरकार जल्द ही अफग़ानिस्तान और श्रीलंका को भी वैक्सीन प्रदान करेगी।           

अमेरिका में महामारी के हालातों पर बोलते हुए जो बाइडेन का कहना था कि जानकारों के मुताबिक़ मास्क पहनने से अप्रैल 2021 तक लगभग 50 हज़ार जानें बचाई जा सकती हैं। इस बात को मद्देनज़र रखते हुए अमेरिका के हर नागरिक को आने वाले 100 दिनों तक मास्क पहनना चाहिए। जो बाइडेन ने 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी। 

इस दौरान उन्होंने व्यापारिक संस्थाओं, स्कूलों को फिर से शुरू करने और यात्रा करते हुए मास्क पहनने की ज़रूरत समेत इसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय स्तर की रणनीति पेश की थी। विदेश से आने वाले लोगों को अमेरिका के लिए रवाना होने से पहले कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट पेश करनी होगी और वहाँ पहुँचने के बाद उन्हें निश्चित अवधि तक क्वारंटाइन में रहना होगा।  

महामारी के मुद्दे पर अपनी कार्रवाई तेज़ करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने ये भी कहा था, “फ़िलहाल हम राष्ट्रीय आपातकाल का सामना कर रहे हैं। नतीजतन हम उसके मुताबिक़ ही आगे बढ़ेंगे। महामारी से होने वाले मौतों का आँकड़ा अगले महीने 4 लाख से बढ़ कर 5 लाख हो सकता है। ऐसे हालातों से बचने के लिए हमें ठोस कदम उठाने होंगे। हमें फिर से अमेरिका की जनता का भरोसा जीतना है, जिसे पिछली सरकार ने खो दिया था।” 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe