Monday, July 26, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयराफेल की शस्त्र पूजा से मचे रार पर फवाद चौधरी के उलट अब Pak...

राफेल की शस्त्र पूजा से मचे रार पर फवाद चौधरी के उलट अब Pak सेना आई बचाव में, कह दी ये बात

पाकिस्तानी सेना की ओर से आसिफ गफूर की ओर से आया ये बयान वाकई देश में बैठकर आलोचना करने वालों के लिए एक बड़ा जवाब है। लेकिन इससे पहले पाकिस्तान की इमरान सरकार के मंत्री फवाद चौधरी भारत को मिले राफेल लड़ाकू विमान का मजाक उड़ा चुके हैं।

फ्राँस जाकर राफेल की शस्त्र पूजा करने पर राजनाथ सिंह को अपने देश में विपक्षियों द्वारा घेरा जा रहा है। लेकिन पाकिस्तान की सेना ने इसका समर्थन किया है। हालाँकि, खुद राजनाथ सिंह ने भी देश लौटकर सवाल उठाने वालों को जवाब देते हुए कहा है, “मैं बचपन से मानता हूँ कि प्राकृतिक शक्ति है, जिसकी पूजा करने में कोई बुराई नहीं हैं।”

लेकिन पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने शस्त्र पूजा पर विरोध करने वालों पर कहा, “इसमें कुछ भी गलत नहीं है, क्‍योंकि यह धर्म के अनुरूप है।” गफूर के अनुसार, शस्त्र पूजा धर्मसम्‍मत है और इसका आदर होना चाहिए। उनका कहना है कि याद रखें यह केवल मशीन नहीं है जो मायने रखती है, बल्‍कि मशीन चलाने वाले का संकल्‍प और जुनून अहमियत रखता है।

इसके बाद गफूर ने अपनी वायुसेना के पास मौजूद शाहीन मिसाइल का जिक्र किया। उन्होंने लिखा हमें भी अपनी पाकिस्तान एयरफोर्श की शाहीन पर गर्व है।

पाकिस्तानी सेना की ओर से आसिफ गफूर की ओर से आया ये बयान वाकई देश में बैठकर आलोचना करने वालों के लिए एक बड़ा जवाब है। लेकिन ज्ञात हो कि इससे पहले पाकिस्तान की इमरान सरकार के मंत्री फवाद चौधरी भारत को मिले राफेल लड़ाकू विमान का मजाक उड़ा चुके हैं। वे नींबू-मिर्ची के साथ राफेल की फोटो शेयर करने पर भारत पर तंज कस चुके हैं।

इसके अलावा बता दें कि कॉन्ग्रेस नेताओं ने भी राफेल की रिसीविंग पर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। शस्त्र पूजा को लेकर कहा जा चुका है कि राफेल को रिसीव करने के बहाने मोदी सरकार अपना भगवा एजेंडा चला रही है। लेकिन दूसरी ओर राजनाथ सिंह ये कह चुके हैं कि हमारी वायुसेना विश्व की चौथी सबसे शक्तिशाली वायुसेना है और राफेल के आने से इसकी क्षमता में कई गुना ज्यादा वृद्धि होगी, जिससे इस क्षेत्र की शांति और सुरक्षा व्यवस्था और ज्यादा सुदृढ़ होगी। उन्होंने बड़े विनम्रता से देश लौटकर राफेल की पूजा पर जवाब दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe