Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान: ननकाना साहब से लौट रहे 19 सिख तीर्थ यात्रियों की दर्दनाक मौत, इसे...

पाकिस्तान: ननकाना साहब से लौट रहे 19 सिख तीर्थ यात्रियों की दर्दनाक मौत, इसे बताया जा रहा है हादसा

तीर्थ यात्रियों से भरी बस रेलवे ट्रैक पार कर रही थी तभी कराची लाहौर शाह हुसैन एक्सप्रेस ने उसे टक्कर मार दी। जिसके बाद कुल 19 लोगों की मौत हो गई और कई बुरी तरह घायल हुए हैं। मरने वाले सभी लोग एक ही परिवार के थे और ननकाना साहब से लौट रहे थे।

पाकिस्तान के फरूकाबाद से बड़ी दुर्घटना की खबर है जिसमें लगभग 19 सिख तीर्थ यात्री मारे जा चुके हैंl यात्री जिस बस में सवार थे उसे एक तेज़ रफ़्तार ट्रेन ने टक्कर मार दी। मरने वाले सभी तीर्थ यात्री एक ही परिवार के थे। रिपोर्ट के मुताबिक़ घटना ठीक उस समय हुई जब सिख श्रद्धालुओं को ले जा रही है बस कराची लाहौर शाह हुसैन एक्सप्रेस से शेखुपुरा में टकरा गई।  

खबरों के मुताबिक़ तीर्थ यात्री ननकाना साहब से गुरुद्वारा सच्चा सौदा की तरफ लौट रहे थे। फिलहाल शवों को स्थानीय अस्पतालों में भेजा जा रहा है, घटना के दौरान बस में लगभग 25 लोग सवार थे। पुलिस के मौके पर पहुँचने की खबर है और वो घटनास्थल का मुआयना कर रही है। शुरूआती तस्वीरों में यह साफ़ था कि बस बहुत बुरी तरह टकराई है।

तीर्थ यात्रियों से भरी बस रेलवे ट्रैक पार कर रही थी तभी कराची लाहौर शाह हुसैन एक्सप्रेस ने उसे टक्कर मार दी। जिसके बाद कुल 19 लोगों की मौत हो गई और कई बुरी तरह घायल हुए हैं। मरने वाले सभी लोग एक ही परिवार के थे और ननकाना साहब से लौट रहे थे।   

नोट: यह एक डेवलपिंग स्टोरी है आगे और जानकारी आने पर अपडेट किया जाएगा।      

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रतिकार का आरंभ: 8 महीने से सूरत में लाउडस्पीकर पर सुबह-शाम बजती है हनुमान चालीसा, सत्संग भी हर शनिवार

स्थानीयों का कहना कि अन्य मजहब के लोग प्रार्थना समय में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करते हैं और किसी भी उठने वाली आपत्ति का मजाक बनाकर उसे नीचा दिखाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe