Thursday, July 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजब बल्ले से छक्का मार सकता हूँ तो तलवार से इंसान क्यों नहीं मार...

जब बल्ले से छक्का मार सकता हूँ तो तलवार से इंसान क्यों नहीं मार सकता: दाऊद का समधी जावेद मियांदाद

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान के कुछ क्रिकेटर भी बौखला गए हैं। इनमें मियांदाद प्रमुख हैं। पिछले दिनों अपने प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रोपगेंडा का समर्थन करते हुए उन्होंने एक वीडियो भी शेयर किया था।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान के नेता और सेना ही बौखलाए हुए नहीं है। कुछ खिलाड़ी भी हिले हुए हैं। इनमें डॉन दाऊद इब्राहिम के समधी पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद का नाम महत्वपूर्ण है। पूर्व में भारत पर हमले को लेकर बड़बोलापन दिखा चुके मियांदाद अब हाथ में तलवार लेकर लहराते नजर आए हैं।

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो में वे कहते नजर आ रहे हैं- जब बल्ले से छक्का मार सकता हूॅं तो इससे इंसान क्यों नहीं मार सकता। वे कह रहे हैं, “कश्मीरी भाइयों फ़िक्र ना करो, हम आपके साथ हैं। मेरे पास बल्ला भी है छक्का मारा था अब ये (तलवार) चलेगा। जब बल्ले से छक्का मार सकता हूँ तो इससे (तलवार) से इंसान क्यों नहीं मार सकता।” यह वीडियो कश्मीर को लेकर पाकिस्तान में हुए हालिया प्रदर्शन का बताया जा रहा है।

पिछले दिनों मियांदाद और एक अन्य क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने एलओसी का दौरा करने की बात कही थी। अपने प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रोपगेंडा का समर्थन करते हुए मियांदाद ने ट्विटर पर वीडियो शेयर कर कहा था, “हम वहॉं जाएँगे और शांति के लिए प्रार्थना करेंगे।”

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत के हाथों कूटनीतिक हार झेल चुका पाकिस्तान पूरी तरह से बौखला गया है और परमाणु युद्ध की धमकी भी दे रहा है। पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे पर विश्व से मदद की गुहार लगाई और संयुक्त राष्ट्र से भी संपर्क किया। लेकिन पाकिस्तान को मुँह की खाना पड़ी। सभी ने इस मुद्दे को द्विपक्षीय करार देते हुए टिप्पणी से इनकार कर दिया। G-7 समिट के दौरान पीएम मोदी ने ट्रंप के सामने ही साफ कर दिया कि कश्मीर का मुद्दा भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है और इसमें वो किसी तीसरे देश का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्ज में डूबा, 4 साल से एडमिशन नहीं: दामाद के परिवार का मेडिकल कॉलेज, दरियादिल हुई भूपेश बघेल सरकार

दामाद के परिवार से जुड़े मेडिकल कॉलेज पर सरकारी दरियादिली को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सवालों के घेरे में हैं।

मेडिकल कॉलेजों में OBC को 27%, EWS को 10% आरक्षण: MBBS में 56% और पीजी में 80% की वृद्धि – मोदी सरकार का ऐतिहासिक...

केंद्र सरकार द्वारा आरक्षण के फैसले को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि यह सामाजिक न्याय का नया प्रतिमान बनाने में मदद करेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,836FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe