Wednesday, June 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'हिंदू अपनी संपत्ति छोड़ शहर से बाहर जाएँ': हिंदू लड़के को पीटती इस्लामी भीड़...

‘हिंदू अपनी संपत्ति छोड़ शहर से बाहर जाएँ’: हिंदू लड़के को पीटती इस्लामी भीड़ और कारोबारियों पर फायरिंग, सिंध की घटना

“पाकिस्तान, सिंध के उमरकोट में कई मुस्लिम एक हिन्दू लड़के को पीट रहे हैं। बीते दिन ठीक इसी क्षेत्र में हिन्दुओं की दुकानों पर हमला किया गया था, इस घटना में 3 हिन्दू व्यापारियों को गोली भी लगी थी और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। यहाँ पर हालात बदतर होते जा रहे हैं, मुस्लिम चाहते हैं कि यहाँ रहने वाले हिंदू अपनी सम्पत्ति छोड़ इस शहर से बाहर चले जाएँ।”

पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ता राहत ऑस्टिन (Rahat Austin) ने शुक्रवार (18 दिसंबर 2020) को सिंध के उमरकोट का एक वीडियो साझा किया। इस वीडियो में मुस्लिम भीड़ एक हिन्दू लड़के को बुरी तरह पीटती हुई नज़र आ रही है। वीडियो में देखा जा सकता है कि गुस्साई भीड़ में शामिल लोग हिन्दू लड़के का बाल पकड़ कर उसे लगातार थप्पड़ मार रहे हैं। एक हमलावर ने लड़के का हाथ उसकी जैकेट से बाँध रखा है और अन्य उसका सिर झुका कर उसे बुरी तरह पीटते हैं। 

राहत ऑस्टिन ने अपने ट्वीट में लिखा है, “पाकिस्तान, सिंध के उमरकोट में कई मुस्लिम एक हिन्दू लड़के को पीट रहे हैं। बीते दिन ठीक इसी क्षेत्र में हिन्दुओं की दुकानों पर हमला किया गया था, इस घटना में 3 हिन्दू व्यापारियों को गोली भी लगी थी और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। यहाँ पर हालात बदतर होते जा रहे हैं, मुस्लिम चाहते हैं कि यहाँ रहने वाले हिंदू अपनी सम्पत्ति छोड़ इस शहर से बाहर चले जाएँ।” 

राहत ऑस्टिन ने एक और वीडियो साझा किया था जो कि सिंध के मुस्लिम आबादी वाले आयशा मार्केट क्षेत्र का था। इसमें इस्लामी भीड़ 3 हिन्दू व्यापारियों पर हमला करती है। इन तीनों व्यापारियों का नाम राजा मल्ही, आनंद और अशोक माली है, यह तीनों गोली लगने की वजह से घायल हुए थे। 

गैर मुस्लिमों की सम्पत्ति पर किए गए इस्लामी अतिक्रमण का उल्लेख करते हुए राहत ऑस्टिन ने लिखा, “पाकिस्तान के अधिकांश लोग गैर मुस्लिम समुदाय के लोगों की सम्पत्ति को खैरात का माल समझते हैं, इसलिए वह अक्सर इसे हड़पने का प्रयास करते हैं।” 

सिंध में रहने वाले हिन्दुओं के घरों पर इस्लामी हमले 

राहत ऑस्टिन ने इस बात की जानकारी सोमवार को दी थी कि पाकिस्तान के सिंध में इस्लामवादी भील समुदाय के हिन्दुओं के घरों पर हमला करते हैं। पाकिस्तान में भील समुदाय सामाजिक और आर्थिक रूप से काफी पिछड़ा हुआ माना जाता है। क्षेत्र में रहने वाले मोहम्मद असलम ने कई अन्य लोगों के साथ वहाँ के हिन्दुओं पर अत्याचार किया और उन्हें शहर छोड़ने के लिए मजबूर भी किया। प्रताड़ित हिन्दू अब अपने घर वापस लौटने से भी डरते हैं। उन्होंने बदिन, पाकिस्तान के सेशन जज और एसएसपी पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe