Friday, May 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में 6 हथियारबंद युवकों ने 13 वर्षीय हिंदू लड़की का अपहरण कर रात...

पाकिस्तान में 6 हथियारबंद युवकों ने 13 वर्षीय हिंदू लड़की का अपहरण कर रात भर बेरहमी से किया गैंगरेप

6 हथियारबंद लोग 13 वर्षीय हिंदू लड़की के घर में जबरन घुस गए। इसके बाद उन्होंने परिवार के लोगों के साथ मारपीट करके लड़की को अगवा करके ले गए। इसके बाद उन दरिंदों ने रात भर हिंदू लड़की के साथ बेरहमी से बलात्कार किया। इधर लड़की के परिजन उसे ढूँढते रहे.........

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक खासकर हिंदुओं का उत्पीड़न थमने का नाम नहीं ले रहा है। हिंसा और जबरन धर्मांतरण की खबरें लगातार सामने आती रहती हैं। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के पीरबक्स जरवार गाँव में 13 वर्षीय हिंदू लड़की के साथ 6 हथियारबंद युवकों ने बर्बरता से गैंगरेप किया। यह घटना सिंध प्रांत के मीरपुरखास में दिलबर खान पुलिस स्टेशन के अंतर्गत की है।

पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ता राहत ऑस्टिन ने बताया कि 6 हथियारबंद लोग 13 वर्षीय हिंदू लड़की के घर में जबरन घुस गए। इसके बाद उन्होंने परिवार के लोगों के साथ मारपीट करके लड़की को अगवा करके ले गए। इसके बाद उन दरिंदों ने रात भर हिंदू लड़की के साथ बेरहमी से बलात्कार किया। इधर लड़की के परिजन उसे ढूँढते रहे, मदद के लिए गुहार लगाते रहे।

अल्पसंख्यकों के खिलाफ क्रूरता पाकिस्तान के आतंकवादी राज्य में बेरोकटोक जारी है। इनके अत्याचार के कई उदाहरण हैं, खासकर हिंदुओं और सिखों के खिलाफ हाल ही में कई मामले रिपोर्ट किए गए हैं।

अक्टूबर 2019 में, एक हिंदू लड़की का कथित तौर पर अपहरण कर लिया गया और उसे इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया। बाद में हिंदू पीड़िता की अपहरणकर्ता से जबरन शादी करा दी गई।

यह भयावह खबर नम्रता चंदानी की हत्या के ठीक एक महीने बाद आई, जो पिछले साल सितंबर में अपने हॉस्टल के कमरे में मृत पाई गई थी। वह बेड पर पड़ी हुई थी, जिसके गले में रस्सी बँधी हुई थी, जबकि उसका कमरा अंदर से बंद था। कॉलेज प्रशासन ने इसे आत्महत्या मानकर टालने की कोशिश की। हालाँकि, उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया था कि सितंबर 2019 में उसके हॉस्टल के कमरे में बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।

इससे पहले, एक हिंदू स्कूल के प्रिंसिपल के खिलाफ ईश निंदा के आरोप के बाद मुस्लिम दंगाइयों ने हिंदू मंदिरों, दुकानों और अल्पसंख्यकों के घरों में तोड़फोड़ की थी। हालाँकि, बाद में यह पता चला कि हिंदुओं पर हमला एक बाल अपहरण की घटना को कवर करने के लिए एक पूर्व नियोजित घटना थी। स्कूल के प्रिंसिपल ने कट्टरपंथी इस्लामवादी नेता मियाँ मिट्ठू के सहयोगियों द्वारा अपहरण की गई एक हिंदू लड़की को शरण देने के इस्लामवादियों के प्रयासों को विफल कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -