Saturday, May 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइमरान खान ने PM को मिला नेकलेस सरकारी खजाने में नहीं डाला, 18 करोड़...

इमरान खान ने PM को मिला नेकलेस सरकारी खजाने में नहीं डाला, 18 करोड़ रुपए में बेचा: बुशरा बीवी ने ज्वेलर के पास भेजा था

बताया जा रहा है कि इमरान खान की पत्नी बुशरा बीबी को यह उपहार अच्छा लगा और इसे अपने पास रख लिया और बाद में इसे बेचने के लिए दे दिया। बुशरा ने मिले कुछ अन्य गिफ्ट अपने पास रख लिए और कुछ अपनी दोस्त फराह खान या फराह शहजादी को दिए।

पाकिस्तान (Pakistan) की सत्ता से बेदखल हो चुके पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Ex PM Imran Khan) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पीएम की कुर्सी छिन जाने के बाद अब वह नई मुसीबत में फँसते हुए नजर आ रहे हैं। ताजा मामला एक नेकलेस से जुड़ा हुआ है। कहा जा रहा है कि इमरान ने पीएम रहते हुए इस नेकलेस को 18 करोड़ रुपए में बेच दिया। इमरान को यह नेकलेस तोहफे में मिला था और नियमों के तहत उन्हें इसे सरकारी तोशा-खाना (राज्य उपहार भंडार) में जमा करवाना था, लेकिन इमरान ने ऐसा नहीं किया।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अब पाकिस्तान की शीर्ष जाँच एजेंसी फेडरल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (FIA) ने मामले की जाँच शुरू कर दी है। इमरान ने नेकलेस को सरकारी खजाने में जमा करवाने की बजाय इसे पूर्व विशेष सहायक जुल्फिकार बुखारी को दे दिया था, जिन्होंने इसे लाहौर के एक जौहरी को 18 करोड़ रुपए में बेच दिया था। नियम के मुताबिक, सार्वजनिक उपहारों को आधी कीमत देकर अपने पास रखा जा सकता है, लेकिन इमरान खान ने इसके एवज में कुछ रकम ही जमा किए।

इमरान खान को हीरों के नेकलेस के साथ-साथ कुछ उपहार साल 2021 में खाड़ी देशों की यात्रा दौरान एक सुल्तान ने दिया था। बताया जा रहा है कि इमरान खान की पत्नी बुशरा बीबी को यह उपहार अच्छा लगा और इसे अपने पास रख लिया और बाद में इसे बेचने के लिए दे दिया। बुशरा ने मिले कुछ अन्य गिफ्ट अपने पास रख लिए और कुछ अपनी दोस्त फराह खान या फराह शहजादी को दिए।

बताया जा रहा है कि इस मामले में बुशरा बीबी और फराह शहजादी पर मामला दर्ज किया जाएगा। फराह शहजादी इमरान खान के प्रधानमंत्री पद छोड़ने से पहले ही पाकिस्तान छोड़कर दुबई के रास्ते अमेरिका चली गई हैं। वहीं, जुल्फिकार बुखारी ने इस आरोप को बेबुनियाद झूठा बताया है।

बताया जा रहा है कि इमरान खान की सरकार गिरने से पहले ही इस मामले की जाँच FIA ने शुरू कर दी थी। इस मामले की जानकारी FIA ने ISI को भी भी दे दी थी। जाँच के दौरान एजेंसी ने लाहौर के उस ज्वेलरी शोरूम के मालिक और मैनेजर को उठा लिया और उनसे पूछताछ की थी। इसके बाद सच सामने आ गया था। इसके साथ ही एजेंसी को CCTV फुटेज भी मिला था। इसमें जुल्फिकार बुखारी शोरूम में दिख रहे हैं। इस नेकलेस बरामद करके तोशाखाना में जमा करा दिया गया है।

गौरतलब है कि हाल ही में इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को नैशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग का सामना करना पड़ा था, जहाँ हार के बाद उनकी कुर्सी चली गई थी। इसके बाद देश की कमान पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के नेता शहबाज शरीफ के हाथों में आ गई है। इमरान खान अविश्वास प्रस्ताव के जरिए सत्ता गँवाने वाले पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री हैं। यह बता भी दीगर है कि पाकिस्तान में किसी भी प्रधानमंत्री ने आज तक अपना पाँच साल का कार्यकाल पूरा नहीं किया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -