Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयन्यूयॉर्क में यहूदियों को कुचलने के लिए पाकिस्तानी टैक्सी ड्राइवर ने दौड़ाई गाड़ी, कहा-...

न्यूयॉर्क में यहूदियों को कुचलने के लिए पाकिस्तानी टैक्सी ड्राइवर ने दौड़ाई गाड़ी, कहा- सभी को मार दूँगा: असगर अली पर हत्या का प्रयास-घृणा अपराध जैसे मामले पहले से ही दर्ज

पुलिस ने मौके पर पहुँच कर इस घटना का CCTV वीडियो निकाला और असगर अली को पहचान कर गिरफ्तार कर लिया। उसकी उम्र 58 साल है और वह 20 साल पहले पाकिस्तान से अमेरिका आया था।

अमेरिका के न्यू यॉर्क में एक पाकिस्तानी ने गाड़ी चढ़ा कर यहूदियों की हत्या करने की कोशिश की। वह इस दौरान यहूदी विरोधी नारे भी चिल्लाता रहा। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है। यहूदियों को मारने की कोशिश करने वाले पाकिस्तानी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, न्यूयॉर्क के ब्रुकलिन में स्थित एक यहूदी स्कूल के बाहर बुधवार (29 मई, 2024) को यह वारदात हुई। इस स्कूल के बाहर कुछ यहूदी छात्र और अन्य व्यक्ति खड़े थे। यहीं पर यह पाकिस्तानी टैक्सी ड्राइवर असगर अली एक सफेद रंग की गाड़ी लेकर आया। इसके बाद उसने यहूदियों की तरफ गाड़ी दौड़ा दी। उसने कई बार ऐसा ही किया। लगातार वह यहूदियों को निशाना बनाता रहा। वह इस दौरान ‘मैं सारे यहूदियों को मार दूँगा’ चिल्लाता भी रहा।

उसने लगातार यहूदियों को निशाना बनाया। वह गाड़ी को तेज रफ़्तार से उनकी तरफ भगाता रहा। हालाँकि, उसके इस हमले में कोई भी घायल नहीं हुआ। उसकी गाड़ी से बचने के लिए यहूदी छात्र स्कूल के अंदर चले गए। इसके बाद इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

पुलिस ने मौके पर पहुँच कर इस घटना का CCTV वीडियो निकाला और असगर अली को पहचान कर गिरफ्तार कर लिया। उसकी उम्र 58 साल है और वह 20 साल पहले पाकिस्तान से अमेरिका आया था। उसने खुद को टैक्सी चालक बताया है लेकिन उसके पास इसका वैध लाइसेंस भी नहीं है। उसके ऊपर पहले भी कई बार मुकदमे लग चुके हैं। उसके ऊपर हत्या का प्रयास, घृणा अपराध और हमले जैसे एक दर्जन से अधिक मामले पहले से दर्ज हैं।

घटना में पुलिस ने पाँच पीड़ितों की पहचान की है। इनमें से तीन 18 साल के युवक और एक 41 वर्षीय जबकि एक 44 वर्षीय व्यक्ति है। पुलिस इस मामले की आगे जाँच में जुटी हुई है। असगर अली को गिरफ्तार करके उससे पूछताछ की जा रही है। गौरतलब है कि बीते कुछ समय में अमेरिका समेत तमाम देशों में यहूदियों के विरुद्ध घृणा अपराध काफी बढ़े हैं। इनमें बड़ी तेजी 7 अक्टूबर, 2023 को इस्लामी आतंकी संगठन हमास के इजरायल पर हमले के बाद आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -