Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय10 साल से बंद है भारत-पाक सीरीज, फिर भी पूर्व PCB चेयरमैन की अकड़...

10 साल से बंद है भारत-पाक सीरीज, फिर भी पूर्व PCB चेयरमैन की अकड़ कायम, कहा- हम भारत के पीछे क्यों भागे, वो पाकिस्तान आएँ

पूर्व PCB चैयरमैन एहसान ने आगे कहा, "हम हिन्दुस्तान के पीछे क्यों भागे, अगर वो पाकिस्तान के साथ खेलना चाहते हैं, तो यहाँ खुद आएँगे और खेलेंगे।"

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी (Ehsan Mani) का विवादित बयान सुर्खियों में है। उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को लेकर बड़ा दावा किया है। पीसीबी के पूर्व चेयरमैन का कहना है कि बीसीसीआई को बीजेपी (BJP) सरकार चला रही है। बोर्ड का नियंत्रण बीजेपी के पास है। यही वजह है कि पाकिस्तान और भारत की बात क्रिकेट को लेकर नहीं हो पाती है। एहसान मनी ने हाल ही में पीसीबी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया है।

क्रिकेट पाकिस्तान के साथ बातचीत में एहसान मनी ने पाकिस्तान सुपर लीग, पाकिस्तान क्रिकेट की वर्तमान स्थिति और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के साथ उनके संबंध सहित विभिन्न विषयों पर बात की। इस दौरान क्रिकेट पाकिस्तान द्वारा लिए गए इंटरव्यू में पूर्व अध्यक्ष से भारत के पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय टूर्नामेंट नहीं खेलने और उनके कार्यकाल के दौरान भारत और पाकिस्तान बोर्ड के बीच संबंधों के बारे में पूछा गया।

एहसान मनी ने क्रिकेट पाकिस्तान को दिए इंटरव्यू में कहा, “भले ही बीसीसीआई के पास सौरव गांगुली हैं, लेकिन क्या कभी किसी ने सोचा है कि उनके बोर्ड के सचिव कौन हैं? अमित शाह के बेटे जय शाह। बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अरुण धूमल अनुराग ठाकुर के भाई हैं, जो वर्तमान में खेल और युवा मामलों के मंत्री हैं। असली कंट्रोल बीजेपी के पास है और वही बीसीसीआई को निर्देश देती है, इसलिए मैंने उनके साथ समझौता नहीं किया और ना ही बात की।”

भारत बनाम पाकिस्तान सीरीज को लेकर एहसान मनी ने कहा, “मैंने हमेशा कहा है कि जब भारत खेलने के लिए तैयार होगा, तो हम खेलने के लिए तैयार होंगे।” पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी ने यह भी खुलासा किया कि अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कहा था कि अगर भारत पाकिस्तान के साथ खेलना चाहता है, तो वे बोर्ड से संपर्क करेंगे।

पूर्व PCB चैयरमैन एहसान ने आगे कहा, “हम हिन्दुस्तान के पीछे क्यों भागे, अगर वो पाकिस्तान के साथ खेलना चाहते हैं, तो यहाँ खुद आएँगे और खेलेंगे।” मालूम हो कि भारत-पाकिस्तान के बीच अंतिम बार द्विपक्षीय सीरीज साल 2012-13 में खेली गई थी। उस वक्त पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने भारत का दौरा किया था, लेकिन उसके बाद से दोनों देशों के बीच कोई सीरीज नहीं खेली गई है। हालाँकि, आईसीसी टूर्नामेंटों में दोनों टीमों का आमना-सामना होता रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -