Saturday, May 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान की एसेंबली में जम कर हंगामा, स्पीकर की ही कर दी धुनाई: लोटा...

पाकिस्तान की एसेंबली में जम कर हंगामा, स्पीकर की ही कर दी धुनाई: लोटा फेंक कर मारा, बाल भी नोचे

PTI के सदस्यों ने अपनी ही पार्टी के उन नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्हें मौकापरस्त बताते हुए नारेबाजी की, जिन्होंने पार्टी के खिलाफ जाने का निर्णय लिया था। उन्हें 'लोटा' कह कर पुकारा गया।

पाकिस्तान के पंजाब की असेंबली में जम कर लात-घूसे चले हैं। इमरान खान को प्रधानमंत्री पद से हटाए जाने और उनकी जगह शाहबाज शरीफ को लाए जाने के बाद PTI (तहरीक-ए-इंसाफ) के नेता आक्रोशित हैं। उन्होंने असेंबली के स्पीकर दोस्त मोहम्मद मज़ारी की धुनाई कर दी। पंजाब प्रान्त के नए मुख्यमंत्री के निर्वाचन के लिए सेशन बुलाया गया था, तभी ये कांड हुआ। PTI के सदस्यों ने स्पीकर को चारों तरफ से घेर लिया और नारेबाजी करने लगे।

PTI के सदस्यों ने अपनी ही पार्टी के उन नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्हें मौकापरस्त बताते हुए नारेबाजी की, जिन्होंने पार्टी के खिलाफ जाने का निर्णय लिया था। उन्हें ‘लोटा’ कह कर पुकारा गया। बता दें कि गाँवों में लोटे में पानी रख कर पीते हैं, जो ग्लास से बड़ा बर्तन होता है। फिर स्पीकर के बाल पकड़ कर खींचे गए। उन पर लोटे उछाले गए। पाकिस्तान मुस्लिम लीग (Q) से परवेज इलाही, जबकि पाकिस्तान मुस्लिम लीग (N) से हमजा शाहबाज मुख्यमंत्री प्रत्याशी हैं।

परवेज इलाही का आरोप है कि स्पीकर मज़ारी कहीं और से आदेश ले रहे हैं। PTI जहाँ उन्हें समर्थन दे रहा है, वहीं विपक्षी गठबंधन ने परवेज इलाही को समर्थन दे रखा है। मज़ारी का कहना था कि सारे व्यवधानों के बावजूद जल्द ही सीएम का ऐलान होगा, और ऐसा हुआ भी। हमजा शाहबाज को मुख्यमंत्री घोषित कर दिया गया। उस्मान बुज़दार के इस्तीफा देने के बाद पिछले दो महीनों से प्रान्त के मुख्यमंत्री का पद खाली पड़ा हुआ है।

शाहबाज को मुख्यमंत्री बनने के लिए 186 सदस्यों के समर्थन की ज़रूरत थी, लेकिन उन्हें इससे 11 वोट ज्यादा ही पड़े। इधर ये भी खबर आई थी कि इमरान खान को पद से हटाने के लिए शनिवार (10 अप्रैल, 2022) की रात प्रधानमंत्री आवास पर उनके साथ मारपीट की थी। साथ ही ये भी खुलासा हुआ कि इमरान ने पीएम रहते हुए इस नेकलेस को 18 करोड़ रुपए में बेच दिया। इमरान को यह नेकलेस तोहफे में मिला था और नियमों के तहत उन्हें इसे सरकारी तोशा-खाना (राज्य उपहार भंडार) में जमा करवाना था, लेकिन इमरान ने ऐसा नहीं किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -