Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनकली कागज लगाकर खाड़ी मुल्कों में घुस गई पाकिस्तानी नर्सें, सऊदी अरब ने 92...

नकली कागज लगाकर खाड़ी मुल्कों में घुस गई पाकिस्तानी नर्सें, सऊदी अरब ने 92 को निकाला: पाक पत्रकार ने अपनी सरकार को लताड़ा, कहा- भारतीयों की मिलती है इज्जत

ये फैसला नर्सों के कम योग्य होने की वजह से नहीं लिया गया बल्कि इसलिए लिया गया क्योंकि उनके साथ पाकिस्तान में वेरिफिकेशन के दौरान फर्जीवाड़ा हुआ था जो कि पकड़ा अरब में गया। रिपोर्ट बताती हैं कि नियमित ऑनलाइन स्क्रीनिंग के दौरान फर्जीवाड़ा उजागर हुआ और नर्सों को वापस भेज दिया गया।

सऊदी अरब और पाकिस्तान के बीच अच्छे रिश्तों की बात अक्सर पाकिस्तान करता रहता है, लेकिन इस बीच कुछ ऐसा हुआ है कि उनकी कही बातें मान पाना मुश्किल है। दरअसल, हालिया खबर के अनुसार, पाकिस्तान की 92 नर्सों को सऊदी अरब ने एक फर्जीवाड़ा पकड़े जाने के बाद अपने मुल्क से वापस रवाना कर दिया है।

बताया जा रहा है कि ये फैसला नर्सों के कम योग्य होने की वजह से नहीं लिया गया बल्कि इसलिए लिया गया क्योंकि उनके साथ पाकिस्तान में वेरिफिकेशन के दौरान फर्जीवाड़ा हुआ था जो कि पकड़ा अरब में गया। रिपोर्ट बताती हैं कि नियमित ऑनलाइन स्क्रीनिंग के दौरान फर्जीवाड़ा उजागर हुआ और नर्सों को वापस भेज दिया गया।

अब पाकिस्तान ने एक्शन लेते हुए इस मामले में उस कंपनी को ब्लैकलिस्ट कर दिया है जिसने ये फर्जीवाड़ा किया था। वहीं इस मामले पर पाकिस्तानी पत्रकार कमर चीमा भी नाराज हो रखे हैं। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर इस संबंध में वीडियो अपलोड की है। उन्होंने बताया कि रावलपिंडी की एजेंसी ने नर्सों को भेजने से पहले वेरिफिकेशन डॉक्यूमेंट्स में गड़बड़ी की। दो तीन का डॉक्यूमेंट चेक करके वही कागज सबके साथ जोड़ दिए गए। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की सरकार एक ओर सऊदी को अपना भाई कहती है, उनसे मदद लेती है, दूसरी ओर इसकी आवाम बदले में क्या करती है उनसे सिर्फ फ्रॉड पर फ्रॉड।

उन्होंने आगे कहा, “थोड़े से पैसे बचाने के लिए हमने उन नर्स का जीवन बर्बाद कर दिया। अपनी इमेज खराब की और भविष्य के लिए अपने दरवाजे बंद कर दिया। ये शॉर्टकट का नशा है। एक तरफ हम कह रहे हैं कि सऊदी हमारे भाई हैं, वो हमारी मदद करते हैं। हमारी सरकार भाग-भाग कर हालात सही कर रही है और हम उनके साथ फ्रॉड कर रहे हैं।”

भारत की तारीफ करते हुए कमर चीमा बोले की सऊदी अरब में भारतीय भी काम कर रहे हैं। मेडिकल की फील्ड में उनकी संख्या ज्यादा है, लेकिन पाकिस्तान से गए डॉक्टरों की इज्जत ही नहीं है। अच्छी बात है कि नर्सों को धोखाधड़ी के मुकदमें में जेल नहीं भेजा गया।

उन्होंने कहा, “आज भारतीय लोगों के पास हमसे ज्यादा अच्छे मौके हैं, क्योंकि वो ज्यादा पढ़ कर आते हैं, ज्यादा ईमानदार और ज्यादा विश्वसनीय हैं। वह किसी भी जॉब को करते हैं उसमें समय देते हैं। इसके अलावा न किसी पॉलिटिकल चीज में फँसते हैं। हमने अगर हरकतें नहीं सुधारी तो पाकिस्तान की जगह भारत ले लेगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -