Wednesday, June 26, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयतकिए के नीचे कुरान बना सेक्स वर्कर की मौत का कारण: अबूबकर, मंसूर और...

तकिए के नीचे कुरान बना सेक्स वर्कर की मौत का कारण: अबूबकर, मंसूर और युसूफ ने चाकुओं से गोदा, फिर ज़िंदा जला डाला

रिपोर्ट के अनुसार, तकिए के नीचे कुरान मिलने के बाद आरोपित महिला सेक्स वर्कर से पूछने लगे कि एक वेश्या होकर भी उसके लिए कुरान का क्या उपयोग है। आरोपितों के अनुसार, जिस तरह का वह काम कर रही थी उसके हिसाब से उन्हें अपने पास कुरान नहीं रखना चाहिए था।

अफ्रीकी देश नाइजीरिया में एक महिला सेक्स वर्कर (Sex Worker) को कुरान पढ़ना उसकी मौत का कारण बन गया। दरअसल, सेक्स वर्कर अपने कमरे में तकिए के नीचे मुस्लिमों की मजहबी किताब कुरान रखा था। उसके एक ग्राहक ने उसे देख लिया। इसके बाद उस ग्राहक ने महिला को को पीटा, फिर चाकू मारा और अंत में जिंदा आग के हवाले कर मार दिया।

घटना नाइजीरिया के लागोस (Lagos) शहर के अलाबा रागो की है। यहाँ हन्ना सलिउ (Hannah Saliu) नाम की एक महिला सेक्स वर्कर का काम करती थी। वहाँ एक आदमी संबंध बनाने के लिए आया। इसके बदले में उसने हन्ना को 1,000 नाइरा (लगभग 187 रुपया) दिया।

ग्राहक के जाने के बाद हन्ना ने देखा कि उसके पास रखा 5,000 नाइरा गायब है। इसके बाद हन्ना ने अपने ग्राहक का पीछा किया और गायब हुए पैसे के बारे में बताते हुए उस पर चोरी करने का आरोप लगाया। इसको लेकर दोनों के बीच बहस होने लगी।

हालाँकि, ग्राहक ने पैसे चुराने से मना किया और कहा कि वह अपने दोस्तों के साथ उसके कमरे में रखा पैसे खोजेगा। हन्ना के साथ आकर ग्राहक अपने दोस्तों के साथ कमरे में पैसे खोजने लगा। इसी दौरान उसने देखा कि तकिए के नीचे कुरान रखा हुआ है। इसके बाद वे लोग महिला को बुरी तरह पीटने लगे।

ग्राहक और उसके दोस्तों ने सेक्स वर्कर को बुरी तरह पीटने के बाद उसके शरीर पर चाकू से कई वार किए। इसके बाद उसे बाहर लाकर जिंदा ही आग के हवाले कर दिया। इस तरह इन लोगों ने चोरी का आरोप लगाने वाली उस सेक्स वर्कर को मौत के घाट उतार दिया।

pulp.ng की खबर के अनुसार, तकिए के नीचे कुरान मिलने के बाद आरोपित महिला सेक्स वर्कर से पूछने लगे कि एक वेश्या होकर भी उसके लिए कुरान का क्या उपयोग है। आरोपितों के अनुसार, जिस तरह का वह काम कर रही थी उसके हिसाब से उसे अपने पास कुरान नहीं रखना चाहिए था।

महिला सेक्स वर्कर नाइजीरिया के उत्तरी इलाके की रहने वाली थी और आरोपित भी उत्तरी हिस्से से आए थे। जहाँ यह घटना हुई है उस इलाके में मुल्क के इस हिस्से बहुत सारे लोग बसे हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपितों की पहचान अबूबकर मूसा, सरौता मंसूर और सुराजो युसूफ के रूप में हुई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -