Monday, May 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में सिख की रेस्टोरेंट पर हमला कर उपद्रवियों ने मचाया उत्पात, देवी मूर्ति...

अमेरिका में सिख की रेस्टोरेंट पर हमला कर उपद्रवियों ने मचाया उत्पात, देवी मूर्ति तोड़ने के साथ किया ₹75.6 लाख का नुकसान

रंगभेदी उपद्रवियों ने इस बीच रेस्टोरेंट में रखे सभी टेबलों को पलट दिया। दुकान में सामने रखे डेस्क को तोड़ दिया और रसोई को भी पूरी तरह नष्ट कर दिया। बलजीत कहते हैं, “मैं जब किचन में गया। मैनें वहाँ सब देखा। मैंने उन्हें कहा- रुको, ये सब क्या कर रहे हो?”

अमेरिका के न्यू मेक्सिको के संता फे सिटी नगर में एक अमेरिकन सिख की दुकान पर रंगभेदी समूह के लोगों ने दिनदहाड़े हमला बोला और लाखों का नुकसान करके वहाँ से चले गए।

रेस्टोरेंट के मालिक बलजीत सिंह ने बताया कि इन सबके कारण उनका करीब 75.6 लाख रुपयों का नुकसान हुआ। अब स्थानीय पुलिस और संघीय जाँच ब्यूरो (FBI) मिलकर इसकी जाँच कर रहे हैं।

इस हमले के दौरान रंगभेदी समूह के लोगों ने बलजीत की दुकान के अंदर तरह-तरह के स्लोगन भी लिखे। जैसे-  ‘white power’, ‘Trump 2020’, ‘F**K ISIS’, and ‘go home’ आदि। 

वहाँ के एक स्थानीय अखबार के अनुसार, उपद्रवियों ने इस बीच रेस्टोरेंट में रखे सभी टेबलों को पलट दिया। दुकान में सामने रखे डेस्क को तोड़ दिया और रसोई को भी पूरी तरह नष्ट कर दिया। बलजीत कहते हैं, “मैं जब किचन में गया। मैनें वहाँ सब देखा। मैंने उन्हें कहा- रुको, ये सब क्या कर रहे हो?”

यहाँ बता दें कोविड-19 के चलते अमेरिका में बलजीत का रेस्टोरेंट काफी समय से बंद पड़ा हुआ था। अभी हाल में उन्होंने इसे दोबारा शुरू किया। लेकिन रेस्टोरेंट चालू होते ही ये सब हो गया। खबरों की मानें तो उपद्रव के दौरान दुकान में लगे शीशे भी चकनाचूर किए गए। वाइन रैक को भी खाली किया गया और दुकान में रखी देवी की प्रतिमा का सिर भी तोड़ दिया गया। इतना ही नहीं, उपद्रवी जाते-जाते अपने साथ कम्प्यूटर भी ले गए।

इस घटना के बाद अब एक गैर-लाभकारी नागरिक अधिकार संगठन, सिख अमेरिकन लीगल डिफेंस एंड एजुकेशन फंड (SALDEF) ने इस मामले के संबंध में बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने इस घटना की निंदा की।

SALDEF बोर्ड के सदस्य सिमरन सिंह ने कहा, “संता फ़े एक शांतिपूर्ण शहर है, और सिख समुदाय 60 के दशक से, यहाँ खूबसूरती से एकीकृत होकर रह रहे हैं।”

वहीं, SALDEF की कार्यकारी निदेशक किरण कौर गिल ने कहा कि नफरत और हिंसा की ऐसी घटनाएँ अस्वीकार्य हैं।

white supremacist

उल्लेखनीय है कि ये पहली बार नहीं जब सिखों को उनकी पगड़ी के कारण इस्लामिक या इरानी समझ लिया गया हो। इससे पहले यूएस में ऐसी घटनाएँ 9/11 के बाद सामने आई थी जब परिधान आदि देखकर सिखों का शोषण हुआ था। इसके अलावा 29 अप्रैल को अमेरिकन सिख लखवंत सिंह पर कोलोराडो के लेकवुड में भी बुरी तरह हमला करके देश छोड़कर जाने को कहा गया था।

इस हालिया मामले के संबंध में गवर्नर मिशेल लुजान ग्रिशम ने एक बयान जारी कर इस घटना की निंदा की है। एक ट्वीट में उन्होंने कहा, “हम न्यू मैक्सिको में इस तरह की नफरत को नहीं बढ़ने देंगे।” उन्होंने कहा कि उन्होंने बलजीत सिंह से बात की थी और उन्हें ये बताया था कि हमारा समुदाय उनके साथ है।

मेयर एलन वेबर ने इस पूरे वाकए को “घटिया और भयावह” घृणा अपराध कहा । उन्होंने उपयुक्त कानून के तहत दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि सिंह लोग यहाँ पर एक लंबे समय से सिख परिवार हैं, जिन्होंने अपने संसाधनों की मदद से संता के कई बेघरों का पेट भरा। उनके लिए इस प्रकार का हमला हमारे दिल को तोड़ देता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -