Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअफगान फौजी का चाकू से गला रेता… फिर गोलियों से छलनी किया: तालिबान की...

अफगान फौजी का चाकू से गला रेता… फिर गोलियों से छलनी किया: तालिबान की क्रूरता का खौफनाक Video

वीडियो में, 6 तालिबानी एक फौजी को घेरे हुए हैं, जो रेगिस्तान में पीठ के बल लेटा हुआ है और सिर को छाती से ऊपर उठाए हुआ है।

तालिबान की क्रूरता के लगातार नए नमूने सामने आ रहे हैं। तालिबान ने एक अफगान फौजी को पकड़ने के बाद उसका सिर कलम कर दिया। वाशिंगटन एग्जामिनर के मुताबिक, 36 सेकंड का यह वीडियो प्राइवेट तालिबान चैट रूम में एक हफ्ते पहले पोस्ट किया गया था। यह स्पष्ट नहीं है कि इसे कब बनाया गया था, लेकिन 17 अगस्त को तालिबान नेताओं ने सरकारी कर्मचारियों के लिए माफी और महिलाओं की सुरक्षा का वादा किया था।

वीडियो में, 6 तालिबानी एक फौजी को घेरे हुए हैं, जो रेगिस्तान में पीठ के बल लेटा हुआ है और सिर को छाती से ऊपर उठाए हुआ है। पाँच लोगों के पास राइफल हैं और छठे के पास एक हाथ में खून सने दो चाकू हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि सातवाँ व्यक्ति इस घटना को फिल्मा रहा है। फौजी अमेरिकी सेना द्वारा राष्ट्रीय सेना को सौंपे गई गहरे हरे रंग की वर्दी पहने हुआ है। 

इसके बाद वह नीचे गिरे अफगानी फौजी का चाकू से गला काट देता है और सभी तालिबानी चिल्लाते हैं, “अल्लाह महान है, अमीर उल मोमिनीन मुल्ला हयबत उल्लाह अखुनजादा को लंबी उम्र दे!” बता दें कि मुल्ला हयबत उल्लाह अखुनजादा तालिबान का सर्वोच्च नेता है। इसके बाद वह मर चुके अफगानी सैनिक के शरीर पर गोलियाँ दाग देते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि वीडियो के अंत में समूह का नेता चिल्लाता है, “उसे गोली मारो! उसे गोली मारकर देखना है!”

अफगान के सुरक्षा सलाहकार रहे नासिर वॉन वजीरी ने कहा, “यह बर्बर है। मैं तालिबान पर कभी भरोसा नहीं करूँगा। आतंकवादी हमेशा आतंकवादी होता है।” रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के स्पेशल ऑपरेशन कमांडर के रूप में पुलिस और सेना के प्रशिक्षण की देखरेख करने वाले ब्रिगेडियर जनरल डॉन बोल्डुक भी इस घटना से हैरान हैं।

उल्लेखनीय है कि तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने पिछले महीने कहा था, “मैं संयुक्त राज्य अमेरिका सहित अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि किसी को नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा। हम कोई आंतरिक या बाहरी दुश्मन नहीं चाहते हैं।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe