Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयट्विटर को मिलेगा नया 'मालिक'! एलन मस्क के ऑफर को स्वीकार करने के कगार...

ट्विटर को मिलेगा नया ‘मालिक’! एलन मस्क के ऑफर को स्वीकार करने के कगार पर बोर्ड, ₹3.2 लाख करोड़ में डील: रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि ट्विटर को एक निजी कंपनी में बदलने की जरूरत है और वो इसे अनलॉक करना चाहते हैं। उन्होंने डील पूरी होने के बाद के अपने प्लान के बारे में भी जिक्र किया था।

दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क सोमवार (25 अप्रैल, 2022) की रात माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) के मालिक बन सकते हैं। खबरों की माने तो ट्विटर इंक एलन मस्क (Elon Musk) के प्रस्तावित 54.20 (4183.84 रुपए) डॉलर प्रति शेयर नकद में खरीदने के सौदे के बेहद करीब है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, एलन मस्क ने 43 अरब डॉलर (3.2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा) में ट्विटर को 100 फीसदी खरीदने का ऑफर दिया है।

मस्क ने कहा था कि यह उनका ‘सर्वश्रेष्ठ और अंतिम’ ऑफर है। सोमवार (25 अप्रैल 2022) को ट्विटर बोर्ड ने अपने शेयरधारकों से लेनदेन की सिफारिश करने के लिए मुलाकात की है। ऐसे में उम्मीद है कि ट्विटर आज रात तक इस सौदे के लिए राजी हो सकता है। ट्विटर के शेयर प्रीमार्केट ट्रेडिंग में भी उछाल देखने को मिला है। न्यूयॉर्क में ट्रेडिंग शुरू होते ही ट्विटर के शेयर 3.9% बढ़कर 50.84 डॉलर पर पहुँच गए।

शेयरों की ये कीमत चुकाने को तैयार मस्क

इस डील के लिए टेस्ला के सीईओ एलन मस्क हर शेयर का 54.20 डॉलर नकद में देने को तैयार हैं। हाल ही में ट्विटर बोर्ड ने मस्क के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। इसके बाद भी मस्क ने इस डील को लेकर कई ट्वीट किए और अब इस रिपोर्ट में संभावना जताई गई है कि दोनों पक्षों के बीच बातचीत पहले से ज्यादा बेहतर है। बीते दिनों टेस्ला के सीईओ ने कहा था कि उन्होंने इस डील के लिए 46.5 अरब डॉलर की रकम इकठ्ठा कर ली है।

ट्विटर को खरीदने के लिए एलन मस्क ने कंपनी बोर्ड को जो पत्र लिखा था, उसमें उन्होंने कहा था कि ट्विटर में ‘राइट टू स्पीच’ की असीमित क्षमता है, लेकिन वर्तमान हालात में कंपनी अपनी इस क्षमता का पूर्ण उपयोग नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि ट्विटर को एक निजी कंपनी में बदलने की जरूरत है और वो इसे अनलॉक करना चाहते हैं। उन्होंने वैनक्यूबर में टीईडी कॉन्फ्रेंस में बात करते हुए डील पूरी होने के बाद के अपने प्लान के बारे में भी जिक्र किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe