Monday, July 4, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुस्लिम महिला को चेहरे से बुर्का हटाने के लिए कहना पड़ा भारी, 55 वर्षीय डॉक्टर दुर्व्यवहार का...

मुस्लिम महिला को चेहरे से बुर्का हटाने के लिए कहना पड़ा भारी, 55 वर्षीय डॉक्टर दुर्व्यवहार का दोषी, साल के अंत में मिल सकती है ये सजा

कीथ वॉल्वर्सन को उनके इस व्यवहार के लिए एक मेडिकल ट्रिब्यूनल ने तीखी फटकार लगाई है। ट्रिब्यूनल ने कहा कि उन्हें ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी, जब वह महिला अपना बुर्का नहीं हटाना चाहती थी।

इंग्लैंड के स्टोक-ऑन-ट्रेंट में एक डॉक्टर को मुस्लिम महिला को चेहरे से बुर्का हटाने के लिए कहने और उसके साथ दुर्व्यवहार का दोषी पाया गया है। एक पैनल ने डॉक्टर को दुर्व्यवहार करने का दोषी पाया है, जिसके चलते कीथ वॉल्वर्सन को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है। यह घटना 2018 में रॉयल स्टोक यूनिवर्सिटी अस्पताल में एक नियुक्ति के दौरान हुई थी।

इस मामले में डॉक्टर कहना है, “मैंने ऐसा इसलिए कहा था, क्योंकि वह अंग्रेजी समझ नहीं पा रही थीं। मैंने उन्हें अपनी बात ठीक ढंग से समझाने और उनकी बात समझने के लिए बुर्का उतारने को कहा था। ताकि मैं फेस एक्सप्रेशन उनकी बात समझ सकूँ।”

55 वर्षीय डॉक्टर ने दावा किया कि उन्होंने श्रीमती क्यू के रूप में जानी जाने वाली महिला से अपना बुर्का उठाने के लिए इसलिए कहा था, ताकि वह उसके होंठों को पढ़कर यह समझ सकें कि वह क्या कहना चाह रही थी, लेकिन उनके कहने के बावजूद कि वह बुर्का नहीं हटाना चाहती थी।

डेली मेल के मुताबिक, डॉ वॉल्वर्सन ने 25 साल से अधिक समय तक जीपी के रूप में काम किया है। इससे पहले उनका रिकॉर्ड बिल्कुल बेदाग था, लेकिन उसके बाद उन्हें कदाचार के 28 आरोपों का सामना करना पड़ा, जिनमें श्रीमती क्यू के साथ नियुक्ति से संबंधित 16 आरोप भी शामिल थे।

कीथ वॉल्वर्सन को उनके इस व्यवहार के लिए एक मेडिकल ट्रिब्यूनल ने तीखी फटकार लगाई है। ट्रिब्यूनल ने कहा कि उन्हें ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी, जब वह महिला अपना बुर्का नहीं हटाना चाहती थी।

एक मेडिकल प्रैक्टिशनर्स ट्रिब्यूनल सर्विस (एमटीपीएस) पैनल ने कहा कि ऐसी कौन सी गंभीर ​परिस्थितियाँ थीं, जिसके चलते मुस्लिम महिला को बुर्का हटाने के लिए कहना पड़ा। पैनल ने यह भी कहा कि डॉ वॉल्वर्सन को मरीजों के साथ गलत तरीके से पेश आने का भी दोषी पाया गया है। उन्होंने कहा कि वे अंग्रेजी नहीं आने पर उन्हें हतोत्साहित करते हैं।

पैनल ने फैसला सुनाया है कि डॉक्टर ने मुस्लिम महिला के साथ अनुचित व्यवहार किया। वह दुराचार का दोषी है। इस साल के अंत में तय हो जाएगा कि उसे निलंबित किया जाएगा या फिर मौजूदा मेडिकल रजिस्टार (medical register) से हटाने की सजा दी जाएगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe