Friday, June 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीययूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने शेयर की माँ काली की आपत्तिजनक तस्वीर, विरोध के...

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने शेयर की माँ काली की आपत्तिजनक तस्वीर, विरोध के बाद डिलीट किया: लोगों की माँग – राजदूत को समन कर फटकार लगाए भारत

अश्विनी श्रीवास्तव नामक यूजर ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को टैग करते हुए लिखा, "यह माँ काली का अपमान है। यह 1.4 अरब लोगों का अपमान है। भारत को यूक्रेन को कड़ा संदेश देना चाहिए।"

दुनियाभर में हिंदूफोबिक घटनाएँ बढ़ती जा रहीं हैं। अब, यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने हिंदुओं की आराध्य देवी माँ काली का अपमान किया है। रक्षा मंत्रालय ने अपने ट्विटर पर एक फोटो शेयर की थी। इसमें धुएँ के गुबार को माँ काली के स्कर्ट के तौर पर दिखाया गया है। सोशल मीडिया पर हुए विरोध के बाद रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट डिलीट कर दिया।

दरअसल, यूक्रेनी रक्षा मंत्रालय ने ट्विटर पर दो फोटो शेयर की। इसमें से एक फोटो में धुएँ का गुबार दिखाई दे रहा है। वहीं, दूसरी फोटो में धुएँ के गुबार के बीच माँ काली दिखाई दे रहीं हैं। धुएँ के गुबार को माँ काली के स्कर्ट के रूप में दिखाया गया है। फोटो में उनकी जीभ बाहर है और गले में खोपड़‍ियों की माला है। माँ काली के बाल भी अजीब तरह से उड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस फोटो को यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने ‘वर्क ऑफ आर्ट’ कैप्शन के साथ शेयर किया था।

माँ काली के अपमान वाला यह ट्वीट सामने आने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स यूक्रेन की इस हरकत को लेकर माफी की माँग कर रहे हैं। हालाँकि लगातार विरोध होने के बाद यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया।

चंदन शर्मा नामक यूजर ने लिखा, “कायर यूक्रेन अपना ट्वीट डिलीट करके भागा। ट्वीट का विरोध करने पर यूक्रेन वाले माँ काली को अपमानित करने वाला पोस्ट डिलीट करके भाग सकते हैं तो समझो रूस के सामने खड़ा होकर युद्ध लड़ने इनकी कितनी औकात है। कायर यूक्रेन, कायर जेलेंस्की और कायर यूक्रेनियन फौज।”

सुमित अग्रवाल नामक यूजर ने लिखा, “काली माता के चित्र का इस तरह का उपयोग कर उपहास कर के यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने बहुत बड़ा अपराध किया है और हम इसका पुरज़ोर विरोध करते हैं। ऐसी मानसिकता वालों का विनाश निश्चित है। दुखद और शर्मनाक।”

बाला नामक यूजर ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर और विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची को टैग करते हुए ट्वीट कर कहा, “कृपया काली को बदनाम करने वाली इस अपमानजनक पोस्ट पर ध्यान दें। अगली बार जब यूक्रेन संयुक्त राष्ट्र में मदद और समर्थन की भीख माँगे तो इसे ध्यान में रखें।”

मोनिका वर्मा नामक यूजर ने भी ट्वीट कर कहा, “यह हैरान करने वाली हरकत है। यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के आधिकारिक हैंडल में माँ काली को अपमानजनक मुद्रा में दिखाया किया जा रहा है। यह कला का काम नहीं है। हमारी आस्था मजाक का विषय नहीं है। इसे डिलीट करो और माफी माँगों।”

अश्विनी श्रीवास्तव नामक यूजर ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को टैग करते हुए लिखा, “यह माँ काली का अपमान है। यह 1.4 अरब लोगों का अपमान है। भारत को यूक्रेन को कड़ा संदेश देना चाहिए।”

कंचन गुप्ता नामक यूजर ने ट्वीट कर कहा, “हाल ही में यूक्रेन के उप विदेश मंत्री दिल्ली में भारत से समर्थन माँग रहे थे। उस फर्जीवाड़े के पीछे यूक्रेन सरकार का असली चेहरा छिपा है। भारतीय देवी माँ काली को एक प्रचार पोस्टर पर चित्रित किया गया है। यूक्रेन ने दुनिया भर के हिंदुओं की भावना पर हमला किया है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान पर ‘मत देखो’, इस्लामी कुरीति पर सवाल उठाना ‘आपत्तिजनक’: PK और ‘हमारे बारह’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दोहरा रवैया...

राधा व दुर्गा के साथ 'सेक्सी' शब्द जोड़ने वालों और भगवान शिव को बाथरूम में छिपते हुए दिखाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कार्रवाई की थी? इस्लामी कुरीति दिखाने पर भड़क गया सर्वोच्च न्यायालय, हिन्दू धर्म के अपमान पर चूँ तक नहीं किया जाता।

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -