Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में फिर गोलीबारी, फिलाडेल्फिया में 3 की मौत, 11 घायल: 12 दिन में...

अमेरिका में फिर गोलीबारी, फिलाडेल्फिया में 3 की मौत, 11 घायल: 12 दिन में दूसरी बार मौत का तांडव, टेक्सास में भी हुई थी ऐसी ही घटना

घायलों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। फिलाडेल्फिया पुलिस ने कहा कि घटना आधी रात से कुछ देर पहले करीब 11 बजे साउथ स्ट्रीट के 200 ब्लॉक पर हुई।

अमेरिका (Amrica) में गन कल्चर वहाँ जिंदगियों पर भारी पड़ रहा है। टेक्सास की घटना के जख्मों को संभवत: अभी अमेरिकी भुला भी न पाए होंगे कि फिलाडेल्फिया में भी इसी तरह की घटना हुई है। यहाँ शनिवार (4 जून 2022) की देर रात फिलाडेल्फिया में साउथ स्ट्रीट पर जमा भीड़ पर अज्ञात बंदूकधारियों ने अंधाधुंध फायरिंग (Philadelphia Mass Shooting) कर दी। इस हमले में कुल 14 लोगों को गोली मारे जाने की खबर है, जिसमें से 3 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 11 लोग बुरी तरह से घायल हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, घायलों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। फिलाडेल्फिया पुलिस ने कहा कि घटना आधी रात से कुछ देर पहले करीब 11 बजे साउथ स्ट्रीट के 200 ब्लॉक पर हुई। इसको लेकर फिलाडेल्फिया के पुलिस निरीक्षक डी एफ पेस ने कहा कि एक अधिकारी ने घटनास्थल पर देखा कि कई बंदूकधारियों ने लोगों की भीड़ पर गोलियाँ चलाईं। हालाँकि, आरोपित वारदात को अंजाम देने के बाद वहाँ से फरार हो गया। पुलिस को घटनास्थल से दो बंदूकें मिली हैं।

पुलिस अधिकारी का कहना है कि इस घटना में मारे गए लोगों में 2 पुरूष और एक महिला थी। महिला को कई गोलियाँ मारी गई थीं। घायल अवस्था में उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसे बचाया न जा सका। पेस के मुताबिक, लोग सप्ताहांत की तरह ही साउथ स्ट्रीट पर घूमने के लिए इकट्ठे हुए थे।

टेक्सास में भी हुआ था ऐसा हमला

इससे पहले अमेरिका के टेक्सास राज्य में मंगलवार (24 मई, 2022) को एक स्कूल में 18 साल के युवक ने छात्रों और टीचरों को निशाना बनाते हुए अंधाधुन फायरिंग की थी। घटना में 18 छात्र समेत 22 लोगों की मौत हो गई थी। इनमें 3 टीचर्स भी थे। कुल 13 बच्चे, स्कूल के स्टाफ मेंबर और पुलिसवाले भी फायरिंग में घायल हुए। जानकारी सामने आई थी कि युवक ने AK-47 स्कूल में चलाने से पहले इसका प्रयोग घर में किया था और पहले अपने दादी को गोली मार चुका था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

शराब घोटाले में जेल में ही बंद रहेंगे दिल्ली के CM केजरीवाल, हाई कोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक: निचली अदालत के फैसले पर...

हाई कोर्ट ने कहा कि निचली अदालत ने मामले के पूरे कागजों पर जोर नहीं दिया जो कि पूरी तरह से अनुचित है और दिखाता है कि अदालत ने मामले के सबूतों पर पूरा दिमाग नहीं लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -