Thursday, June 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहमास के साथ-साथ हिजबुल्ला के ठिकानों पर भी इजरायल का हमला, एकजुटता दिखाने के...

हमास के साथ-साथ हिजबुल्ला के ठिकानों पर भी इजरायल का हमला, एकजुटता दिखाने के लिए इजरायल पहुँच रहे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन, विदेश मंत्री वहीं मौजूद

वो इज़राइल के साथ खड़े होने उसके समर्थन की प्रतिबद्धता को दोहराएँगे। इस दौरान अमेरिका और इज़राइल एक ऐसी योजना बनाने पर राजी हुए हैं जो गाजा में मानवीय मदद पहुँचा सके।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन बुधवार (18 अक्टूबर, 2023) को इज़राइल का दौरा करेंगे। पहले से वहाँ मौजूद अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के मुताबिक, राष्ट्रपति जो बायडेन इज़राइल इस क्षेत्र और दुनिया के लिए एक अहम पल में यहाँ आ रहे हैं।

वो इज़राइल के साथ खड़े होने उसके समर्थन की प्रतिबद्धता को दोहराएँगे। इस दौरान अमेरिका और इज़राइल एक ऐसी योजना बनाने पर राजी हुए हैं जो गाजा में मानवीय मदद पहुँचा सके। वहीं दूसरी तरफ इजरायल डिफेंस फोर्स (IDF) लेबनान में मंगलवार (17 अक्टूबर, 2023) सुबह से ही हिजबुल्लाह आतंकवादी ठिकानों पर हमला कर रही है।

अपने दौरे को लेकर राष्ट्रपति बायडेन ने पोस्ट किया, “बुधवार को मैं हमास के क्रूर आतंकवादी हमले के सामने एकजुटता दिखाने के लिए इज़रायल की यात्रा करूँगा। फिर मैं गंभीर मानवीय जरूरतों को लेकर जॉर्डन की यात्रा करूँगा, नेताओं से मिलूँगा और साफ करूँगा कि हमास फिलिस्तीनियों की आज़ादी के हक के लिए नहीं लड़ रहा है।”

रिपोर्ट के मुताबिक, इजरायल में हमास के हमलों में बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और पीएम बेंजामिन नेतन्याहू को बंकर में जाकर छुपना पड़ा। इजरायली रक्षा मंत्रालय के एक कमांड सेंटर में सोमवार (16 अक्टूबर, 2023) को इन दोनों के बीच बैठक चल रही थी।

इस दौरान रॉकेट हमले का सायरन बज उठा और इनको बंकर में जाना पड़ा। इजरायल में मौजूद अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन ने अमेरिकी राष्ट्रपति बायडेन के दौरे को लेकर कहा कि वो दोबारा से इजरायल के पक्ष में अपना रुख साफ करेंगे।

वैसे ही जैसे उन्होंने हमास के हमले में कम से कम 30 अमेरिकियों सहित 1400 से अधिक लोगों की हत्या के बाद साफ किया था। इस हमले को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति ने साफ किया था कि वास्तव में इज़रायल के पास हमास और अन्य आतंकवादियों से अपने लोगों की रक्षा करने और भविष्य के हमलों को रोकने का अधिकार और कर्तव्य है।

अपने दौरे में राष्ट्रपति बायडेन इजरायल के इस संकट का फायदा उठाकर उस पर हमला करने की कोशिश करने वाले दुनिया के किसी भी शख्स, राज्य या गैर-राज्य के लिए हमारा साफ संदेश देंगे कि ऐसा करने की कतई कोशिश न करें।

अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन ने कहा, “हमास से बंधकों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रपति हमारे इजरायली भागीदारों के साथ करीबी समन्वय करना जारी रखेंगे। संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल एक ऐसी योजना बनाने पर राजी हुए हैं जो कई देशों और बहुपक्षीय संगठनों द्वारा भेजी जा रही मानवीय मदद को गाजा में नागरिकों तक पहुँचाने में सक्षम बनाएगी।”

एक तरफ अमेरिकी विदेश मंत्री इजरायल में ही हैं, वहीं दूसरी तरफ इजरायली फोर्स आईडीएफ केवल गाजा में सुन्नी आतंकी संगठन हमास पर ही नहीं बल्कि लेबनान के आतंकी संगठन हिजबुल्लाह के ठिकानों पर भी हमला कर रही है। हमास की तरफदारी में ये संगठन इजरायल पर हमला कर रहा है।

IDF को लेबनान की सीमा पर मेटुला शहर की ओर गोलीबारी के रिपोर्ट मिली है। गौरतलब है कि शिया आतंकी संगठन हिजबुल्लाह और हमास दोनों ही का एक ही मकसद इजरायल के खात्मे का है। इन दोनों ही आंतकी संगठन हमास और हिजबुल्लाह के अमेरिका ने आतंकी संगठन होने का ऐलान किया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -