बजट से पहले बजट पेश! बजट बनाना भूल न जाएँ, इसके लिए कॉन्ग्रेस की असफल कोशिश?

आपकी सरकार से सूचना निकलवाने वाले लूटियंस पत्रकार तक को मोदी सरकार में 'धक्के' खाने पड़ रहे हैं और आप बात कर रहे हैं बजट लीक होने की! वो भी मीडिया के सूत्रों को!

मोदी सरकार कुछ करे और हल्ला-हंगामा न हो तो मज़ा कैसे आएगा? मज़ा को तो छोड़िए, कॉन्ग्रेस के कुछ नेताओं को तो शायद खाना तक न हज़म हो।

मनीष तिवारी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट-1

अंतरिम बजट पेश होने से पहले राहुल गाँधी यूनिवर्सल बेसिक इनकम को लेकर ऐलान कर ही चुके हैं। लेकिन मनीष तिवारी अगर इसमें छौंक नहीं लगाएँगे तो ‘महाराज’ खुश कैसे होंगे भला!

मनीष तिवारी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट-2

बस तिवारी जी आ गए छौंक लगाने। मोदी सरकार से पहले बजट पेश कर दिया। संसद में नहीं, सोशल मीडिया पर। ऊपर से लिख दिया कि इसे सरकार ने ही लीक किया है। हद कर दी तिवारी जी आपने!

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मनीष तिवारी जी! आप बहुत क्यूट हैं। आपकी सरकार से सूचना निकलवाने वाले लूटियंस पत्रकार तक को मोदी सरकार में ‘धक्के’ खाने पड़ रहे हैं और आप बात कर रहे हैं बजट लीक होने की! वो भी मीडिया के सूत्रों को! खैर! आपकी भी दुकान चलती रहे, शिवभक्त राहुल बाबा का आशीर्वाद बना रहे आप पर। 3-4 पहले वैसे भी आप लोकसभा में घुसने के लिए सांसदी का दावा ठोक ही चुके हैं। ‘महाराज’ पर दबाव बनाना भी जरूरी है।

मनीष तिवारी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट-3
मनीष तिवारी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट-4
शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: