Saturday, October 23, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाअर्नब-रिपब्लिक के खिलाफ बॉलीवुड ने मिलाया हाथ: शाहरुख, आमिर, करन जौहर, फरहान अख्तर समेत...

अर्नब-रिपब्लिक के खिलाफ बॉलीवुड ने मिलाया हाथ: शाहरुख, आमिर, करन जौहर, फरहान अख्तर समेत 34 प्रोडक्शन हाउस पहुँचे अदालत

खान ब्रिगेड और करण जौहर समेत बॉलीवुड की 34 हस्तियों ने यह मुकदमा रिपब्लिक टीवी और इस चैनल के संपादक अर्नब गोस्वामी, पत्रकार प्रदीप भंडारी, अंग्रेजी न्यूज़ चैनल 'टाइम्स नाउ' और इसके संपादक राहुल शिवशंकर तथा सीनियर जर्नलिस्ट नाविका कुमार के खिलाफ दायर की है

फ़िल्मी दुनिया से जुड़े 34 फिल्म निर्माताओं (फिल्म निर्देशक, अभिनेता) और 4 बॉलीवुड एसोसिएशन ने 2 समाचार चैनलों और 4 पत्रकारों के विरुद्ध दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दर्ज कराई है। इन्होंने पत्रकारों पर आरोप लगाया है कि वह हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने का प्रयास करते हैं और बॉलीवुड पर अभद्र, अपमानजनक टिप्पणी करते हैं। इसके अलावा इन लोगों ने याचिका में आरोप लगाया है कि पिछले कुछ महीनों से ख़बरों के ज़रिए बॉलीवुड इंडस्ट्री को लगातार निशाना बनाया जा रहा था।  

याचिका दर्ज कराने वालों में बॉलीवुड के तमाम मशहूर अभिनेता, निर्माता – निर्देशकों और उनके बैनर का नाम शामिल है। इसमें शाहरुख खान, आमिर खान, सलमान खान, करण जौहर, फरहान अख्तर, अजय देवगन, अक्षय कुमार, अनिल कपूर, ज़ोया अख्तर, आदित्य चोपड़ा, सोहेल खान, विशाल भारद्वाज, विनोद चोपड़ा, रोहित शेट्टी, राकेश ओम प्रकाश मेहरा, कबीर खान, साजिद नाडियावाला, अरबाज़ खान समेत अन्य के बैनर शामिल हैं। इसके अलावा फिल्म एंड प्रोड्यूसर गिल्ड ऑफ़ इंडिया (PGI), सिने आर टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (CINTAA) का नाम भी इस याचिका में शामिल है। 

यह याचिका मुख्य रूप से 4 लोगों के विरुद्ध दर्ज कराई गई है, ‘रिपब्लिक टीवी’ के अर्नब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी और ‘टाइम्स नाउ’ समाचार चैनल के राहुल शिवशंकर, नविका कुमार। याचिका के अनुसार ऐसा कहा गया है कि इन लोगों ने बॉलीवुड के लिए ‘गंदगी, कचरा, मैला’ जैसे अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। याचिका के अनुसार, बॉलीवुड के लिए इस प्रकार की टिप्पणी भी की गई थी- “अरब का हर इत्र बॉलीवुड के पेट में मौजूद गंदगी, कूड़े, कचरे और बदबू को हटा नहीं सकता है।”    

याचिका में कहा गया है कि चैनलों और साथ ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को बॉलीवुड और इसके सदस्यों के खिलाफ गैर-जिम्मेदार, अपमानजनक और अपमानजनक टिप्पणी करने या प्रकाशित करने से बचना चाहिए।

याचिका दायर करने वाले प्रोडक्शन हाउस

इसके अलावा याचिका में मीडिया ट्रायल रोकने की बात पर भी ज़ोर दिया गया है। याचिका में कहा गया है कि समाचार चैनल्स के अलावा सोशल मीडिया पर भी बॉलीवुड को बदनाम करने का सिलसिला जारी है। इसके ज़रिए बॉलीवुड से जुड़े लोगों पर अपमानजनक, गैर जिम्मेदाराना और अशोभनीय टिप्पणी की जाती है, ऐसा नहीं होना चाहिए। साथ ही मीडिया ट्रायल्स रोकने और फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के गोपनीयता के अधिकार में दखल नहीं देने की बात का ज़िक्र किया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जेल में रामायण की कहानी पढ़ कर समय व्यतीत कर रहे हैं आर्यन खान, लाइब्रेरी से मँगाई किताबें: सामान्य कैदी की तरह ही रखा...

जेल में आर्यन खान 'गोल्डन लायन' और रामायण की कहानी से जुड़ी एक पुस्तक पढ़ रहे हैं। पहले क्वारंटाइन में रखा गया था, लेकिन अब सामान्य वार्ड में हैं।

मिलाद-उल-नबी का जुलूस, Pak में महिला को ‘हूर’ बना कर लगाई प्रदर्शनी: वायरल वीडियो को मौलाना ने बताया रसूल अल्लाह का अपमान

पाकिस्तान के मुल्तान शहर का ये वीडियो मिलाद-उल-नबी त्योहार के दिन का है। वीडियो में प्रदर्शनी में एक महिला को सजा-धजा कर बैठे दिखाया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,165FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe