Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'हमारी मुट्ठी' को 'मोदी की मुट्ठी' कर अभिसार शर्मा ने मीडिया पर लगाया लांछन,...

‘हमारी मुट्ठी’ को ‘मोदी की मुट्ठी’ कर अभिसार शर्मा ने मीडिया पर लगाया लांछन, लताड़े जाने पर वीडियो किया डिलीट

जब ट्विटर पर अभिसार शर्मा की कारस्तानी एक यूज़र ने उजागर की तो उन्होंने चुपचाप वह वीडियो डिलीट कर नया वीडियो डाल दिया, जिसमें "मोदी की मुट्ठी" नहीं था। लेकिन उन्होंने न ही आजतक या चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी माँगी, न ही अपनी गलती पर खेद जताया।

पत्तलकार अभिसार शर्मा को एक बार फिर से फेक न्यूज़ फैलाते हुए पकड़ा गया है। इस बार उन्होंने आज तक की पत्रकार चित्रा त्रिपाठी को बदनाम करने और “मोदी-भक्त” दिखाने के लिए उनके एक कार्यक्रम के वीडियो के साथ छेड़छाड़ की है। पकड़े जाने पर उन्होंने वीडियो तो डिलीट कर दिया, लेकिन अपनी करतूत के लिए चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी नहीं माँगी

चित्रा त्रिपाठी ने चंद्रयान-2 के ऊपर एक कार्यक्रम किया था, जिसका शीर्षक था “अब चांद हमारी मुट्ठी में”। इसे अभिसार शर्मा ने “अब चांद मोदी की मुट्ठी में” वीडियो एडिटिंग से कर दिया और “प्रधानमंत्री की तौहीन” पर चिंता जताने के बहाने ऐसा दिखाने की कोशिश की कि मीडिया चैनल्स प्रधानमंत्री की चाटुकारिता करने में लगे हैं। हालाँकि उन्होंने ‘technically’ चित्रा की तस्वीर धुँधली कर दी, लेकिन फिर भी किसी के लिए यह पता लगाना मुश्किल नहीं था कि उनके निशाने पर कौन-सी पत्रकार हैं।

जब ट्विटर पर अभिसार शर्मा की कारस्तानी एक यूज़र ने उजागर की तो उन्होंने चुपचाप वह वीडियो डिलीट कर नया वीडियो डाल दिया, जिसमें “मोदी की मुट्ठी” नहीं था। लेकिन उन्होंने न ही आजतक या चित्रा त्रिपाठी से माफ़ी माँगी, न ही अपनी गलती पर खेद जताया।

पाकिस्तानियों का ‘कच्चा माल’ रह चुके हैं

अभिसार शर्मा इसके पहले 370 के मुद्दे पर पाकिस्तान की लाइन रटने वाले पत्तलकारों की फेहरिस्त में भी शामिल रह चुके हैं। पाकिस्तान के पत्रकार हामिद मीर ने उनके एक वीडियो को अपने हिंदुस्तान-विरोधी प्रोपगेंडा का हिस्सा बनाया था, जिसमें अभिसार शर्मा अनुच्छेद 370 हटने के बाद चले जोक्स से तिल का ताड़ बना रहे थे

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘228 किलो सोना चोरी होने का सबूत दें शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, या जाएँ कोर्ट’: मंदिर समिति की दो टूक, पूछा – कॉन्ग्रेस के एजेंडे को...

अजेंद्र अजय ने कहा कि सीएम धामी से साधु-संतों और जनप्रतिनिधियों ने अनुरोध किया था, ऐसे में वो धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हुए, इसमें सरकारी पैसा नहीं लगा है ।

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस सरकार के ‘लोकल कोटा’ पर उठे सवाल, उद्योगपति बोले- प्राइवेट सेक्टर में कन्नड़ भाषियों को रिजर्वेशन भेदभावपूर्ण, बिल रद्द करें

कर्नाटक में निजी नौकरियों में कन्नड़ लोगों को 50-75% आरक्षण देने का निर्णय कारोबारी समुदाय को रास नहीं आया है। उन्होंने इसकी आलोचना की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -