Wednesday, May 18, 2022
Homeदेश-समाजकश्मीरी आतंकियों ने 25 साल की लड़की को गोली मारी, 10 सेकेंड का वीडियो...

कश्मीरी आतंकियों ने 25 साल की लड़की को गोली मारी, 10 सेकेंड का वीडियो वायरल

कुछ रिपोर्ट्स में मीडिया का मानना है कि पूर्व आतंकवादी ज़ीनत-उल-इस्लाम इस मृत लड़की का मामा है, इसे जनवरी 13, 2019 को कटपोरा कुलगाम में एक मुठभेड़ में एक सहयोगी के साथ बंद कर दिया गया था। वहीं कुछ जगह उसे एक पुलिसकर्मी की बहन बताया जा रहा है।

शुक्रवार (फ़रवरी 01, 2019) सुबह कश्मीर के शोपियाँ में एक लड़की की लाश बरामद हुई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने 25 वर्षीय लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी। उन्होंने इस घटना की वीडियो बनाई और इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि पीड़िता की पहचान पुलवामा के डूंगरपुर निवासी इशरत मुनीर के रूप में हुई है। महिला का शव शोपियाँ जिले के द्रागाद इलाके से बरामद किया गया। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मृतक लड़की एक पुलिसकर्मी की बहन बताई जा रही है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “हम उस IP एड्रेस का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं, जहाँ से वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया था। धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है और दोषियों को पकड़ने के लिए जाँच चल रही है।”

पुलिस ने बताया कि, ”आतंकवाद के वीभत्स कृत्य के तहत आतंकवादियों ने 25 वर्षीय लड़की की बेहद नज़दीक से गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने शोपियाँ जिले में जैनापुरा के द्रागाद इलाके से शव बरामद किया। प्रवक्ता ने कहा, ”आतंकवादियों ने इस वीभत्स घटना को अंजाम देते हुए इसका वीडियो बना लिया और उसे सोशल मीडिया पर भी वायरल कर दिया।

पुलिस ने बताया कि 10 सेकंड के इस वीडियो में महिला हाथ जोड़कर दया की भीख मांगती दिखाई दे रही है, लेकिन बंदूकधारी ने उसे 2 बार बेहद नज़दीक से गोली मार दी। पुलिस ने कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है। प्रवक्ता ने कहा, ”पुलिस की जांच कुछ विश्वसनीय सूचनाओं पर केंद्रित है और उम्मीद है कि जल्द ही दोषियों को कठघरे में खड़ा किया जाएगा।”

कुछ रिपोर्ट्स में मीडिया का मानना है कि पूर्व आतंकवादी ज़ीनत-उल-इस्लाम इस मृत लड़की का मामा है, इसे जनवरी 13, 2019 को कटपोरा कुलगाम में एक मुठभेड़ में एक सहयोगी के साथ बंद कर दिया गया था। कहा जा रहा है कि इस लड़की को सूचनाएँ पहुँचाने के आरोप के चलते मारा गया है।

कश्मीर में इस प्रकार की यह पहली घटना नहीं है, नवंबर 2018 को शोपियां जिले के निकलोरा गाँव में 17 वर्षीय नदीम मंज़ूर की गोलियों से छलनी लाश मिली थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर तोड़ा, खजाना लूटा पर हिला नहीं सके शिवलिंग: औरंगजेब के दरबारी लेखक ने भी कबूला था, शिव महापुराण में छिपा है इसका राज़

मंदिर के तोड़े जाने का एक महत्वपूर्ण प्रमाण 'मा-असीर-ए-आलमगीरी’ नाम की पुस्तक भी है। यह पुस्तक औरंगज़ेब के दरबारी लेखक सकी मुस्तईद ख़ान ने 1710 में लिखी थी।

हनुमान चालीसा के टुकड़े-टुकड़े किए, फिर जला कर फेंक दिया: पंजाब में बेअदबी की घटना, AAP सरकार निशाने पर

पंजाब में हनुमान चालीसा की बेअदबी का मामला। बठिंडा जिले हनुमान चालीसा के जले हुए पन्ने मिलने के बाद से हिन्दू संगठनों में काफी आक्रोश है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,629FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe