Thursday, April 25, 2024
Homeरिपोर्टमीडियाविदेश में TV पर पढ़ाई और यहाँ PM मोदी के 'मन की बात': AltNews...

विदेश में TV पर पढ़ाई और यहाँ PM मोदी के ‘मन की बात’: AltNews वाला फैला रहा था भ्रम, लोगों ने 32 TV चैनल के नाम गिनाए

जुबैर ने BBC की एक खबर शेयर की। इसके जरिए जुबैर ये कहना चाह रहा था कि भारत में दूरदर्शन PM मोदी के भाषण दिखाता है जबकि मेक्सिको में TV से पढ़ाई हो रही है। लोगों ने जुबैर को भारत के उन 32 TV चैनलों के नाम गिना दिए, जिन पर पढ़ाई मेक्सिको से 4 महीने पहले से हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (अगस्त 30, 2020) को अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात‘ के जरिए देशवासियों को सम्बोधित किया, जिसमें उन्होंने भारत में खिलौनों की इंडस्ट्री में स्टार्ट-अप्स को बढ़ावा देने के साथ-साथ उन डॉग्स के बारे में भी बात की, जो सुरक्षा बलों के साथ मिल कर देश के लिए काम करते हैं। लेकिन ‘ऑल्ट न्यूज़’ के जुबैर ने इसमें भी खोट निकाल कर पीएम मोदी पर निशाना साधा।

दरअसल, जुबैर ने बीबीसी की एक खबर शेयर की, जिसमें बताया गया है कि मेक्सिको ने टीवी के जरिए ही बच्चों को पढ़ाने का निर्णय लिया है। इस खबर में बताया गया है कि इस कदम से बच्चे बिना इंटरनेट के ही सीधे टीवी पर अपनी पढ़ाई से संबंधित लेक्चर देख सकेंगे। साथ ही तस्वीरों के जरिए बताया गया है कि कैसे मेक्सिको में टीवी के जरिए छात्रों ने पढ़ाई शुरू कर दी है। जुबैर ने इसके जरिए पीएम मोदी की आलोचना की।

इसके लिए जुबैर ने पीएम मोदी की ‘मन की बात’ वाला स्क्रीनशॉट भी शेयर किया, जिसे दूरदर्शन ने ट्वीट किया था। साथ ही उसने लिखा- ‘प्राथमिकताएँ’। इसके जरिए जुबैर ये कहना चाह रहा था कि भारत में दूरदर्शन पीएम मोदी के भाषण दिखाता है जबकि मेक्सिको में टीवी से पढ़ाई हो रही है। इस दौरान उसने ‘कूल’ बनने के लिए ट्वीट तो कर दिया लेकिन उसे ये नहीं पता था कि भारत में ये अप्रैल 2020 से ही हो रहा है।

भारत में दूरदर्शन लगातार बच्चों की पढ़ाई में कई चैनलों के जरिए मदद कर रहा है, जिसमें छोटी कक्षाओं से लेकर स्नातक तक के छात्रों के लिए सामग्रियाँ प्रसारित की जा रही हैं। जुबैर द्वारा शेयर की गई मेक्सिको वाली खबर 26 अगस्त की है जबकि भारत में अप्रैल में ही ये खबर आ गई थी। यानि, भारत ने 4 महीने पहले ही वो काम कर दिया था। लेकिन, जुबैर ने लोगों को गुमराह करने के लिए पीएम मोदी पर जबरदस्ती निशाना साधा।

आइए जानते हैं कि इस विषय में भारत सरकार ने क्या किया है। विभिन्न सरकारी संस्थानों के साथ मिलकर दूरदर्शन और आकाशवाणी (एआईआर) देश भर में स्थित अपने क्षेत्रीय चैनलों के माध्यम से टीवी, रेडियो और यूट्यूब पर वर्चुअल कक्षाओं और अन्य शैक्षणिक सामग्रियों का प्रसारण कर रहे हैं। विद्यालयी कक्षाएँ बंद होने की स्थिति में ये वर्चुअल कक्षाएँ लाखों विद्यार्थियों विशेषकर 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को उनकी बोर्ड और प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारियों में खासी सहायक साबित हो रही हैं।

डीडी और एआईआर के माध्यम से वर्चुअल पढ़ाई में प्राथमिक, जूनियर और हाईस्कूल स्तर के विद्यार्थियों के लिए पाठ्यक्रम आधारित कक्षाएँ शामिल हैं। कुछ राज्यों में माध्यमिक विद्यालय लीविंग सर्टिफिकेट विषय और 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए मॉडल प्रश्न पत्र भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इनमें से ज्यादातर कक्षाओं से विद्यार्थियों को अपनी इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारियों में भी सहायता मिल रही है।

पाठ्यक्रम से जुड़ी सामग्री से इतर पढ़ाई को दिलचस्प बनाने के लिए कुछ राज्यों में वर्चुअल कक्षाओं में प्रतिष्ठित शख्सियतों द्वारा कहानी सुनाए जाने और प्रश्नोत्तरी कार्यक्रमों (क्विज शो) को भी शामिल किया गया है। विद्यार्थियों के भीतर घर में रहते हुए अनुशासन की भावना विकसित करने के उद्देश्य से ज्यादातर कक्षाएँ जल्द सुबह शुरू हो जाती हैं और कुछ दोपहर में फिर से आयोजित की जाती हैं।

टीवी चैनलों के अलावा, कोविड-19 महामारी के बाद, एनआईओएस द्वारा स्वयं प्रभा डीटीएच चैनल पाणिणी (#27), एनआईओएस चैनल शारदा (#28) एवं एनसीईआरटी के चैनल किशोर मंच (#31), के माध्यम से केवीएस, एनवीएस और सीबीएसई तथा एनसीईआरटी के सहयोग से स्काइप के जरिए लाइव सेशन के प्रसारण की शानदार अनूठी पहल की है। अब विषयों के विशेषज्ञ भी अपने घरों से स्काईप के जरिए स्वयंप्रभा के लाइव प्रसारण के लिए कनेक्ट करने में सक्षम हैं।

वहीं, जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है, उनके लिए विशेष व्यवस्था है। लर्नर्स इन डीटीएच चैनलों एवं 7 बजे सुबह से 1 बजे दोपहर तक रिर्काडेड ब्रॉडकास्ट के 6 घंटे एनआईओएस यूट्यूब चैनल पर पाठ आधारित शैक्षणिक कार्यक्रमों को देख सकते हैं, जिसके बाद चार विभिन्न विषय विशेषज्ञों के साथ प्रत्येक के लिए डेढ़ घंटे के लिए 1 बजे दोपहर से 7 बजे शाम तक लाइव सेशन के 6 घंटे देख सकते हैं। लर्नर्स लाइव सेशन के दौरान प्रदर्शित नंबर पर फोन कॉल के जरिए अपने घर से सीधे विषय के एक्सपर्ट से प्रश्न पूछ सकते हैं।

स्वयंप्रभा उनके लिए लर्निंग का एक प्रभावी टूल है, जिनके घरों में इंटरनेट की सुविधा नहीं है। स्वयंप्रभा जीएसएटी-15 सैटेलाइट का उपयोग करके 24 घंटों के आधार पर उच्च गुणवत्तापूर्ण शैक्षणिक कार्यक्रमों के प्रसारण को समर्पित 32 डीटीएच चैनलों का एक समूह है। प्रत्येक दिन कम से कम 4 घंटे का एक नया कंटेंट होगा, जिसे एक दिन में 5 बार और दिखाया जाता है, जिससे कि छात्र अपनी सुविधा के अनुसार समय का चुनाव कर सके। डीटीएच चैनल निम्नलिखित कवर करते हैं:

  • उच्च शिक्षा: पोस्ट ग्रेजुएट एवं अंडर-ग्रेजुएट लेवल पर करीकलम आधारित कोर्स कंटेंट कला, विज्ञान, वाणिज्य, ललित कलाएँ, सामाजिक विज्ञान एवं ह्यूमैनिटीज, इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, लॉ, मेडिसिन, कृषि आदि विविध विषयों को कवर करते हैं। सभी कोर्स स्वयं प्लेटफॉर्म, जिसे एमओओसी कोर्सों की पेशकश के लिए डेवलप किया गया है, के जरिए अपनी विस्तृत पेशकश में सर्टिफिकेशन-रेडी होंगे।
  • स्कूली शिक्षा (9-12 लेवल): शिक्षकों के प्रशिक्षण एवं भारत के बच्चों को विषयों को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने और प्रोफेशनल डिग्री प्रोग्रामों में नामांकन के लिए प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी के लिए उन्हें सहायता करने के लिए टीचिंग एवं लर्निंग ऐड के लिए माड्यूल।
  • करीकलम आधारित कोर्स जो देश एवं विदेश में भारतीय नागरिकों के जीवन पर्यन्त लर्नरों की आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकते हैं।
  • प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए छात्रों (11वीं एवं 12वीं) की सहायता करना।
  • चैनल 01-10 सीईसी-यूजीसी द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 11-18 एनपीटीईएल द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 19-22 आईआईटी दिल्ली द्वारा उच्च विद्यालय के छात्रों के लिए प्रबंधित किए जाते हैं और इन्हें आईआईटी पाल कहा जाता है।
  • चैनल 23, 24, 25 एवं 26 इग्नू, नई दिल्ली द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 27, 28 एवं 30 एनआईओएस, नई दिल्ली द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 29 यूजीसी- आईएनएफएलआईबीएनईटी, गाँधीनगर द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 31 एनसीईआरटी द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं
  • चैनल 32 इग्नू एवं एनआईओएस द्वारा संयुक्त रूप से प्रबंधित किए जाते हैं

जो छात्र जेईई एवं एनईईटी की तैयारी कर रहे हैं, वे इस पहल के जरिए अपने घरों में बैठ कर इससे लाभान्वित हो सकते हैं। कोविड-19 महामारी के बाद, एनआईओएस द्वारा स्वयंप्रभा डीटीएच चैनल पाणिणी (#27), एनआईओएस चैनल शारदा (#28) एवं एनसीईआरटी के चैनल किशोर मंच (#31), के माध्यम से केवीएस, एनवीएस और सीबीएसई तथा एनसीईआरटी के सहयोग से स्काइप के जरिए लाइव सेशन के प्रसारण की शानदार अनूठी पहल की है। विभिन्न डीटीएच सेवा प्रदाताओं में चैनल की संख्या इस प्रकार हैः

  • एयरटेल टीवी में: चैनल #437, चैनल #438, चैनल #439,
  • वीडी वीडियोकॉन में: चैनल #475, चैनल #476, चैनल #477,
  • टाटा स्काई में: चैनल #756, जो स्वयंप्रभा डीटीएच चैनलों के लिए विंडो पॉप अप करता है।
  • डिश टीवी में: चैनल #946, चैनल #947, चैनल #949, चैनल #950

इन सबके बावजूद जुबैर द्वारा पीएम मोदी पर निशाना साधना ये बताता है कि या तो वो पढ़ाई-लिखाई वाली ख़बरों से कोई मतलब ही नहीं रखता है, या फिर सब पता होने के बावजूद वो लोगों को मूर्ख समझता है क्योंकि उसे लगता है कि लोग उसकी बातों में आ जाएँगे। जुबैर को भी इन 32 टीवी चैनलों के सामने बैठ कर कुछ वक्त गुजारना चाहिए, ताकि आगे से वो ऐसे भ्रम न फैलाए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जज ने सुनाया ज्ञानवापी में सर्वे करने का फैसला, उन्हें फिर से धमकियाँ आनी शुरू: इस बार विदेशी नंबरों से आ रही कॉल,...

ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को कुछ समय से विदेशों से कॉलें आ रही हैं। उन्होंने इस संबंध में एसएसपी को पत्र लिखकर कंप्लेन की है।

माली और नाई के बेटे जीत रहे पदक, दिहाड़ी मजदूर की बेटी कर रही ओलम्पिक की तैयारी: गोल्ड मेडल जीतने वाले UP के बच्चों...

10 साल से छोटी एक गोल्ड-मेडलिस्ट बच्ची के पिता परचून की दुकान चलाते हैं। वहीं एक अन्य जिम्नास्ट बच्ची के पिता प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe