Wednesday, August 4, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाVideo डिलीट करके NDTV ने अपने कारनामे का ठीकरा फोड़ा स्ट्रिंगर के सिर, लोगों...

Video डिलीट करके NDTV ने अपने कारनामे का ठीकरा फोड़ा स्ट्रिंगर के सिर, लोगों ने कहा- जीवन में कुछ अच्छा भी कर लो

यूजर्स ने एनडीटीवी के बैन करने की माँग की। उसे फेक न्यूज की फैक्ट्री कहा। टीआरपी का लालची बताया। साथ ही एक यूजर ने लिखा, पहले एनडीटीवी ने एक वीडियो पोस्ट की। जिसमें प्रवासी को पोज देने के लिए कहा गया और जब लोगों ने इसपर सवाल खड़े किए। तो इन्होंने कह दिया कि स्ट्रिंगर ने वीडियो शूट की थी?

NDTV ने कुछ दिनों पहले अपने ट्विटर अकॉउंट पर एक वीडियो पोस्ट की। वीडियो में देखा गया कि उनका कैमरामैन हरियाणा के कलानौर से यमुना नदी को पार करके उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जाते प्रवासियों की बढ़िया फुटेज के लिए उन्हें दोबारा ‘पीछे जाकर चलने’ को कहता सुनाई दिया

इस वीडियो के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने एनडीटीवी के पत्रकार की असंवेदनशीलता पर सवाल उठाया। साथ ही क्लिप की प्रमाणिकता पर भी संदेह जताया। लेकिन, कुछ देर बाद एनडीटीवी के पत्रकार विशु सोम के शो के दौरान बिना किसी स्पष्टीकरण के इस वीडियो को शो में भी चला दिया गया।

यहाँ सबसे बेहूदी बात ये देखने को मिली कि शो में सिर्फ़ उस हिस्से को चलाया गया जब प्रवासी व्यक्ति पीछे से आता दिखा। जबकि वीडियो शूट करने वाले की आवाज को शो में काट दिया गया।

एनडीटीवी की इस हरकत को देखकर लोग और भड़क गए। जिसके बाद एनडीटीवी को आड़े हाथों लेकर उनकी खूब आलोचना की।

बाद में एनडीटीवी ने बड़ी सफाई से इस वीडियो को अपने सोशल मीडिया अकॉउंट से डिलीट कर दिया। साथ ही स्पष्टीकरण के नाम पर अपने किए का सारा ठीकरा स्ट्रिंगर के माथे फोड़ दिया।

लेकिन, मीडिया जगत में खुद को लीक से हटकर दिखाई जाने वाली खबरों का दाता बनने वाले एनडीटीवी को इसपर भी सोशल मीडिया यूजर्स ने नहीं बख्शा।

यूजर्स ने एनडीटीवी के बैन करने की माँग की। उसे फेक न्यूज की फैक्ट्री कहा। टीआरपी का लालची बताया। साथ ही एक यूजर ने लिखा, पहले एनडीटीवी ने एक वीडियो पोस्ट की। जिसमें प्रवासी को पोज देने के लिए कहा गया और जब लोगों ने इसपर सवाल खड़े किए। तो इन्होंने कह दिया कि स्ट्रिंगर ने वीडियो शूट की थी?

दरअसल, यहाँ यूजर्स का एनडीटीवी से सवाल है कि जब स्ट्रिंगर ने ऐसी वीडियो बनाई तो उन्होंने इसे खरीदकर बाद में पोस्ट क्यों किया? यूजर्स एनडीटीवी से कहते हैं कि जीवन में कुछ अच्छा भी कर लो, ये सब ज्यादा दिन नहीं चलने वाला।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टोक्यो ओलंपिक में भारत को तीसरा मेडल: बॉक्सर लवलीना बोरगेहेन ने जीता कांस्य पदक, जानिए असम के छोटे से गाँव से यहाँ तक का...

भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगेहेन को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक मिला। उन्हें वीमेंस वेल्टरवेट (69 किलोग्राम) वर्ग में ये ख़िताब प्राप्त हुआ।

‘अपनी बेटी की तरह रेप..’: इतना पीटा कि ब्रेस्ट सर्जरी करानी पड़ी, अरबपति की ‘सेक्स कालकोठरी’ में कई महिलाओं का यौन शोषण

जॉर्ज सोरोस के मनी मैनेजर रहे होवार्ड रुबिन पर 'सेक्स कालकोठरी' में BDSM सेशन के जरिए कई महिलाओं के यौन शोषण व प्रताड़ना के आरोप लगे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,873FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe