Monday, January 17, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाताहिर के चाँदबाग में एजेंडा लेकर रिपोर्टिंग करने पहुँचे राजदीप सरदेसाई, युवक ने की...

ताहिर के चाँदबाग में एजेंडा लेकर रिपोर्टिंग करने पहुँचे राजदीप सरदेसाई, युवक ने की बोलती बंद

वहाँ मौजूद सभी लोग उन्हें अपनी पीड़ा सुना रहे थे। ये बता रहे थे कि किस तरह दंगाइयों ने हमला किया। लेकिन सरदेसाई इस बीच लगातार हिंदू-मुस्लिम कर रहे थे। ऐसे में लोगों ने उन्हें समझाया भी कि हिंदू भी इंसान ही हैं। वो भी डरे हुए हैं।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली का चॉंदबाग हिंदू विरोधी दंगों का केंद्र बनकर उभरा है। यहीं आप के पार्षद रहे ताहिर हुसैन की वह तहखाने वाली इमारत भी है, जहॉं स्थानीय लोग करीब 3000 दंगाइयों के जुटने की बात कहते हैं। यहॉं से पत्थर और बम फेंके गए। गोलियॉं चली। आईबी के अंकित शर्मा की निर्मम तरीके से हत्या हुई। एफआईआर दर्ज होने के बाद से ताहिर फरार है।

इसी चॉंदबाग में राजदीप सरदेसाई भी रिपोर्टिंग करने पहुॅंचे। राजदीप की गिनती उन एजेंडाबाज पत्रकारों में होती है, जिनका एक ही धर्म है समुदाय विशेष को पीड़ित दिखाओ और हिंदुओं को हमलावर। इसी एजेंडे के साथ वे चॉंदबाग भी पहुॅंचे लेकिन एक युवक ने उनके मंसूबों को नाकाम कर दिया।

चाँदबाग का जायजा ले रहे राजदीप ने कई लोगों से बात की। इसी दौरान उन्होंने एक युवक ये कुछ सवाल करने शुरू किए और अपना हिंदू-मुस्लिम एजेंडा चलाने के लिए उससे पूछते नजर आए कि सामने जो दुकान जलाई गई है, वो किसकी है?

उनके इस सवाल से पहले वहाँ मौजूद सभी लोग उन्हें अपनी पीड़ा सुना रहे थे। ये बता रहे थे कि किस तरह दंगाइयों ने हमला किया। लेकिन सरदेसाई इस बीच लगातार हिंदू-मुस्लिम कर रहे थे। ऐसे में लोगों ने उन्हें समझाया भी कि हिंदू भी इंसान ही हैं। वो भी डरे हुए हैं। लेकिन जब इसके बाद भी सरदेसाई नहीं माने और सामने एक जली दुकान को लेकर सवाल किया तो वह युवक राजदीप के सवालों के पीछे छिपे उद्देश्य को समझ गया और कहने लगा, “ये मैटर नहीं करता दुकान किसकी है…मैटर ये करता है कि नुकसान किसका हुआ हुआ। आप पूछना चाहते हैं कि ये दुकान हिंदू की है या मुस्लिम की। मैं क्यों बताऊँ किसकी है। मैं तो कहूँगा कि नुकसान हमारा भी हुआ। पंचर तो वहाँ से हम भी लगवाते थे। कमाता तो वो शख्स हमसे भी था।”

इसके बाद युवक को अन्य क्षेत्र में रहने वाले अपने साथियों के बारे में बोलता सुना जा सकता है। युवक बताता है कि जब उसने भजनपुरा में अपने हिंदू साथी को फोन किया, तो उसने बताया कि वो बहुत घबराया हुआ है, कमरे में बंद है। वहीं दूसरा दोस्त हाल पूछने पर बताता है कि वो रो रहा है, क्योंकि बेटी को 2 दिन से दूध पीने के लिए लाकर नहीं दे पाया हूँ।

युवक लगातार दिल्ली हिंसा पर राजदीप सरदेसाई से सवाल करता है कि हम लोग कैसे जमाने में हैं? क्या वाकई हम पढ़े-लिखे हैं? युवक कहता है जब हमारे परिवार वाले कहते थे कि 1992 में दंगे हुए तो हम मजाक समझते थे। हम कहते थे हम दिल्ली में रहते हैं। लेकिन परिवार वाले कहते थे कि अभी यूपी में हुआ है, इसलिए संभलकर।

युवक के अनुसार, वो एक सरकारी कर्मचारी है और उसके भाई मजदूर हैं। उसके कई दोस्तों का इस हिंसा में काफी नुकसान हुआ है। उसे कभी नहीं लगा था कि दिल्ली में ये सब होगा, लेकिन अब जब ये सब देख रहे हैं तो उनके चेहरे पर डर को साफ देखा जा सकता है। ऐसी स्थिति में जब सरदेसाई युवक से पूछते हैं कि इतने के बावजूद वो इस इलाके में रहेंगे या नहीं, तो वो कहते हैं कि जब उनका परिवार पाकिस्तान नहीं गया, तो वो चाँदबाग क्यों छोड़ देंगे? इसके बाद राजदीप सरदेसाई उसे शाबाशी देते नजर आए। लेकिन बता दें युवक द्वारा सरदेसाई को दिए जवाब की क्लिप सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

इसके अतिरिक्त वीडियो के 6:30 के स्लॉट पर राजदीप को यमुना विहार के निवासियों से कपिल मिश्रा के भाषण को लेकर भी सवाल पूछते भी सुना जा सकता है। वे पूछते हैं कि क्या आप लोगों को लगता है उनके भाषण के कारण माहौल बिगड़ा? जिस पर वहाँ मौजूद जनता ने इस बात को स्पष्ट तौर पर नकारा और कहा उनकी वजह से नहीं हुआ, उन्होंने सिर्फ़ रास्ता खोलने की बात कही और कुछ भी नहीं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsराजदीप सरदेसाई, राजदीप सरदेसाई चांदबाग, राजदीप सरदेसाई कपिल मिश्रा, राजदीप सरदेसाई दिल्ली हिंसा, राजदीप सरदेसाई वीडियो, दिल्ली दंगों में कितने मरे, दिल्ली में कितने हिंदू मरे, मोहम्मद शाहरुख, जाफराबाद शाहरुख, शाहरुख फरार, ताहिर हुसैन आप, ताहिर हुसैन एफआईआर, ताहिर हुसैन अमानतुल्लाह, चांदबाग शिव मंदिर पर हमला, दिल्ली दंगा मंदिरों पर हमला, दिल्ली मंदिरों पर हमले, मंदिरों पर हमले, चांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, अंकित शर्मा के पिता, अंकित शर्मा के भाई अंकुर, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार प्राइम टाइम, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दीपक चौरसिया एनडीटीवी, NDTV के पत्रकार पर हमला, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली हाईकोर्ट, जस्टिस मुरलीधर, जस्टिस मुरलीधर का तबादला, दिल्ली हाई कोर्ट जस्टिस मुरलीधर, दिल्ली हाई कोर्ट कपिल मिश्रा, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का भाई, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली हिंसा उपराज्यपाल, अमित शाह हाई लेवल मीटिंग, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, ट्रंप का भारत दौरा, ट्रंप मोदी, बिल क्लिंटन का भारत दौरा, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, दिल्ली पुलिस, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘रेप कैपिटल बन गया है राजस्थान’: अलवर मूक-बधिर बच्ची से गैंगरेप मामले में पुलिस का यू-टर्न, गहलोत सरकार ने की CBI जाँच की सिफारिश

अलवर में रेप की शिकार मूक-बधिर बच्ची के मामली की जाँच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीबीआई को सौंप दी है। सरकार का काफी विरोध हो रहा है।

CM योगी का UP: 2000 Cr का अवैध साम्राज्य ध्वस्त, ढेर हुए 140 अपराधी, धर्मांतरण और गोकशी पर शिकंजा, महिलाएँ सुरक्षित हुईं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाया। गोकशी-धर्मांतरण पर प्रहार किया। उत्तर प्रदेश में माफिया राज खत्म हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,693FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe