Saturday, October 16, 2021
Homeरिपोर्टमीडियास्वाति चतुर्वेदी पर HT के पत्रकार ने लगाया 'कंटेंट चुराने' का आरोप, हिमंत बिस्वा...

स्वाति चतुर्वेदी पर HT के पत्रकार ने लगाया ‘कंटेंट चुराने’ का आरोप, हिमंत बिस्वा सरमा पर NDTV में लिखा था लेख

"ये पैराग्राफ स्वाति चतुर्वेदी द्वारा हिमंत बिस्वा सरमा पर लिखे गए लेख का है। ये लेख उन्होंने NDTV पर लिखा है। ये लेख आज आया है। जबकि दूसरी तरफ ये मेरे लेख का स्क्रीनशॉट है, जो मैंने 3 मई को लिखा था।"

पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी पर कंटेंट प्लेजेरिज्म का आरोप लगा है। ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ के एक पत्रकार ने उन पर कंटेंट कॉपी करने का आरोप लगाया है। HT के एसोसिएट एडिटर जिया हक़ ने ये आरोप लगाया है। जिस लेख की चोरी का आरोप लगा है, वो असम के दिग्गज भाजपा नेता हिमंत बिस्वा सरमा पर है। असम सहित पूरे उत्तर-पूर्व में भाजपा को स्थापित करने में हिमंत बिस्वा सरमा का बड़ा रोल है। वो पहले कॉन्ग्रेस में हुआ करते थे।

जिया हक़ ने ट्विटर के माध्यम से दोनों ही लेखों का स्क्रीनशॉट शेयर किया और उस पैराग्राफ के बारे में बताया, जिसका उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से कॉपी करने का आरोप लगाया। ये लेख मई 3, 2021 को लिखा गया था। इस लेख के उस पैराग्राफ में लिखा था, “हिमंत बिस्वा सरमा ने अरुणाचल प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाने में मदद की। उन्होंने कॉन्ग्रेस को हटा कर वहाँ भाजपा की सरकार बनवाई। उन्होंने मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी कॉन्ग्रेस को अपदस्थ कर भाजपा गठबंधन की सरकार बनवाई।”

इस लेख में आगे लिखा था, “उन्होंने 2017 में मणिपुर में भाजपा की सरकार बनवाई। उन्होंने मेघालय में नॉन-कॉन्ग्रेस सरकार बनवाने में उनकी बड़ी भूमिका रही। वहाँ उन्होंने नागा पीपल्स फ्रंट और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी को भाजपा के साथ लाने में बड़ी भूमिका निभाई।” वहीं स्वाति चतुर्वेदी के लेख में भी लगभग यही चीजें लिखी हुई प्रतीत हो रही हैं। दोनों ही लेखों में उन्हें ‘HBS’ कह कर सम्बोधित किया गया है।

हालाँकि, जिया हक ने एकदम से ऐसा नहीं कहा कि उनके लेख को चुराया गया है या फिर कॉपी किया गया है। उन्होंने लिखा, “ये पैराग्राफ स्वाति चतुर्वेदी द्वारा हिमंत बिस्वा सरमा पर लिखे गए लेख का है। ये लेख उन्होंने NDTV पर लिखा है। ये लेख आज आया है। जबकि दूसरी तरफ ये मेरे लेख का स्क्रीनशॉट है, जो मैंने 3 मई को लिखा था।” हालाँकि, ये पहली बार नहीं है जब स्वाति चतुर्वेदी पर प्लेजेरिज्म का आरोप लगा हो।

इससे पहले ‘द इकोनॉमिस्ट’ के पत्रकार स्टेनली पिग्नल ने उन पर अपनी ट्वीट्स कॉपी करने का आरोप लगाया था। उनका विवादों में रहने का पुराना इतिहास रहा है। मई 2020 में अभिनेता ऋषि कपूर के निधन के बाद उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा था, “भविष्यवाणी: हम जल्द ही पीएम मोदी की हत्या करने की साजिश के बारे में सुनेंगे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe