Thursday, June 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'पत्रकार' ट्रोल स्वाति चतुर्वेदी ने की PM मोदी की हत्या की साजिश की भविष्यवाणी,...

‘पत्रकार’ ट्रोल स्वाति चतुर्वेदी ने की PM मोदी की हत्या की साजिश की भविष्यवाणी, जाँच की माँग होने पर ट्वीट किया डिलीट

"स्वाति चतुर्वेदी के पास उस साजिश के बारे में अधिक जानकारी जरूर होगी, क्योंकि वह जीवन भर अर्बन नक्सल रही हैं। और ऐसे भी अर्बन नक्सल को नक्सल बनने में ज्यादा समय नहीं लगता, ऊपर से सामाना नरेंद्र मोदी जी से हो तो इन नक्सलों का दिमाग तो इनकी वाणी की तरह सड़ ही जाता है।"

हिंदुओं और विशेष रूप से मोदी के प्रति वामपंथी गिरोह द्वारा व्यक्त की गई घृणा किसी से छिपी नहीं है। आए दिन पीएम मोदी की मौत या हत्या की कामना करते नजर आते हैं। पिछले दिनों बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर की मौत के बाद भी कट्टरपंथी मुस्लिमों के साथ-साथ सोशल मीडिया के वाम-उदारवादियों ने अपनी घृणा को नया स्तर देते हुए लिखा कि ऋषि कपूर की जगह उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौत की खबरों का इंतजार है। 

इन्हीं मोदी विरोधी वामपंथी स्वयंभू पत्रकारों में से एक हैं- स्वाति चतुर्वेदी, जो हमेशा पीएम मोदी के खिलाफ जहर उगलती रहती हैं। मगर सोमवार (मई 11, 2020) को तो उन्होंने सारी हदें पार कर दीं। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “भविष्यवाणी: हम जल्द ही पीएम मोदी की हत्या करने की साजिश के बारे में सुनेंगे।”

स्वाति चतुर्वेदी के ट्वीट से साफ जाहिर है कि पीएम मोदी की हत्या की साजिश की जा रही है, जिसके बारे में जल्द ही खुलासा होने वाला है। उनके इस ट्वीट के बाद लोगों ने अधिकारियों को सचेत करना शुरू किया और स्वाति चतुर्वेदी के खिलाफ कार्रवाई की माँग की।

लोगों का कहना था कि चूँकि उन्होंने भविष्यवाणी की है, तो इसका मतलब है कि उन्हें उनके विश्वसनीय ‘सूत्रों’ के माध्यम से इसके बारे में ज्यादा जानकारी होगी।

अंकित जैन नाम के यूजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “स्वाति चतुर्वेदी को हिरासत में लिया जाना चाहिए और प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश के बारे में पूछताछ करनी चाहिए।”

एक अन्य सोशल मीडिया यूजर ने गृह मंत्रालय से विस्तृत जाँच के लिए आग्रह किया, जिसमें कहा गया कि भारत में राजीव गाँधी की तरह एक और हत्या नहीं हो सकती।

रुपेश कार्तिक नाम के एक यूजर ने स्वघोषित पत्रकार को गिरफ्तार करने की माँग करते हुए लिखा, “स्वाति चतुर्वेदी के पास उस साजिश के बारे में अधिक जानकारी जरूर होगी, क्योंकि वह जीवन भर अर्बन नक्सल रही हैं। और ऐसे भी अर्बन नक्सल को नक्सल बनने में ज्यादा समय नहीं लगता, ऊपर से सामाना नरेंद्र मोदी जी से हो तो इन नक्सलों का दिमाग तो इनकी वाणी की तरह सड़ ही जाता है।”

एडवोकेट चाँदनी शाह ने भी उनके खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज की है और UAPA के तहत उनकी गिरफ्तारी की माँग की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -