Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाआज कॉन्ग्रेस हमलावर है, कभी एक बाहुबली ने अर्नब गोस्वामी को कर लिया था...

आज कॉन्ग्रेस हमलावर है, कभी एक बाहुबली ने अर्नब गोस्वामी को कर लिया था ‘अगवा’

अगवा किए जाने की उस घटना के बारे में अर्नब गोस्वामी बताते हैं, "पप्पू यादव ने लोगों से कहा ये जो लड़का इधर मेरे साथ है, पता है ये कहाँ का है। आसपास बैठे सभी लोग कहते नहीं पता। पप्पू यादव कहते ये बीबीसी का है। मुझे झटका लगा, क्योंकि मैंने कभी बीबीसी में नौकरी नहीं की। मैं चुप रहा और सभी लोगों चुपचाप मुझे देख रहे थे।"

रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी की कार पर बुधवार की रात मुंबई में कॉन्ग्रेस के गुंडों ने हमला किया था। पूरी पार्टी उनके पीछे पड़ी है। इसी तरह करीब ढाई दशक पहले उनके पीछे बिहार का एक बाहुबली नेता लग गया था। उस नेता का नाम पप्पू यादव है।

पॉंच बार सांसद रहे पप्पू यादव ने 1996 में अर्नब गोस्वामी को कथित तौर पर ‘अगवा’ कर लिया था। तब वे एक सामान्य पत्रकार हुआ करते थे। बकौल अर्नब वह उनका पहला इलेक्शन कवरेज था।

इस घटना के बारे में कुछ साल पहले अर्नब ने खुद एक कार्यक्रम के दौरान बताया था। उन्होंने कहा था कि इंटरव्यू समाप्त कर जब वे जाने लगे तो उन्हें पप्पू यादव के एक आदमी ने रोक लिया। उनसे कहा कि बिना पप्पू यादव की इजाजत के वे नहीं जा सकते।

अर्नब ने बताया कि उन्होंने जाने की इजाजत मॉंगी तो कहा गया कि वे नहीं जा सकते। उन्होंने अपने कैमरामैन की तरफ देखा और पूछा कि ये क्या हो रहा। उसने उन्हें बताया कि वे अगवा किए जा चुके हैं। यह सुन अर्नब को झटका लगा क्योंकि उन्होंने अगवा किए जाने की कई डरावनी कहानियों के बारे में सुन रखा था।

1996 की उस घटना के बारे में बताते अर्नब गोस्वामी

अर्नब के अनुसार वे करीब डेढ़ दिन तक पप्पू यादव के कब्जे में रहे थे। इस दौरान पप्पू जहॉं भी जाते उन्हें अपने साथ ले जाते। वे छोटी-छोटी सभाएँ करते। उन सभाओं के दौरान पप्पू खुद चारपाई पर बैठते और उन्हें सुनने वाले नीचे।

अगवा किए जाने की उस घटना के बारे में अर्नब गोस्वामी बताते हैं, “पप्पू यादव ने लोगों से कहा ये जो लड़का इधर मेरे साथ है, पता है ये कहाँ का है। आसपास बैठे सभी लोग कहते नहीं पता। पप्पू यादव कहते ये बीबीसी का है। मुझे झटका लगा, क्योंकि मैंने कभी बीबीसी में नौकरी नहीं की। मैं चुप रहा और सभी लोगों चुपचाप मुझे देख रहे थे।”

इसके बाद पप्पू यादव ने कहा, “आपको पता है कि बीबीसी ने क्या बोला है। बीबीसी ने बोला है कि पूर्णिया से इस बार पप्पू यादव जीतेगा।” बकौल अर्नब यह कहने के बाद पप्पू यादव उनकी ओर देखने लगते और वे समझ नहीं पाते थे कि कोई आपके सामने कैसे इस तरह झूठ बोल सकता है।

पप्पू यादव फिलहाल जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष हैं। उनकी पत्नी कॉन्ग्रेस में हैं। पति-पत्नी दोनों को 2019 के लोकसभा चुनाव में हार झेलनी पड़ी थी। ताजा घटना के बाद कॉन्ग्रेस के सुर में सुर मिलाते हुए पप्पू यादव ने ट्वीट कर अर्नब पर हमला किया है।

असल में ताजा विवाद की शुरुआत टीवी शो के दौरान कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गॉंधी को लेकर अर्नब के तीखे सवालों से हुई थी। पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग पर सोनिया की चुप्पी को लेकर उन्होंने सवाल किए थे। इसके बाद कॉन्ग्रेस ने उन पर एफआईआर दर्ज करवाने की बात कही। फिर बुधवार की रात उनकी कार पर यूथ कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा हमले की खबर आई। हमले के वक्त वे अपनी पत्नी के साथ घर लौट रहे थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe