Wednesday, December 1, 2021
Homeराजनीतिअर्नब गोस्वामी पर FIR कराएगी कॉन्ग्रेस: साधुओं की मॉब लिंचिंग पर सोनिया गाँधी से...

अर्नब गोस्वामी पर FIR कराएगी कॉन्ग्रेस: साधुओं की मॉब लिंचिंग पर सोनिया गाँधी से पूछे थे तीखे सवाल

अर्नब गोस्वामी ने कहा था कि अगर किसी पादरी की हत्या होती तो कॉन्ग्रेस पार्टी और इसकी ‘रोम से आई हुई, इटली वाली’ सोनिया गाँधी बिलकुल चुप नहीं रहतीं। अर्नब ने दावा किया कि मॉब लिंचिंग पर सोनिया गाँधी आज चुप हैं तो इसका मतलब है कि वो मन ही मन में खुश भी हैं।

कॉन्ग्रेस पार्टी ख़ुद को स्वतंत्र मीडिया और पत्रकारों की हितैषी बताती है। लेकिन अब उसने ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक संपादक अर्नब गोस्वामी के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज कराने का फ़ैसला लिया है। पार्टी ने उन पर सोनिया गॉंधी को लेकर गलत टिप्पणी का आरोप लगाया है।

पार्टी का आरोप है कि अर्नब गोस्वामी ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। छत्तीसगढ़ के रायपुर में अर्नब गोस्वामी के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज कराया गया है। अब पार्टी आधिकारिक रूप से ख़ुद मामला दर्ज करवाएगी। लोग अब कॉन्ग्रेस से मीडिया की स्वतंत्रता को लेकर सवाल पूछ रहे हैं।

इससे पहले कॉन्ग्रेस पार्टी मीडिया पर हमले का मुद्दा उठाती रही है। हाल ही में जब जम्मू-कश्मीर में घृणा फैलाने वाले पत्रकारों के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की गई, तब भी कॉन्ग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए मीडिया की आज़ादी का हवाला दिया था।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी माँग की है कि अर्नब गोस्वामी पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने सांसद राजीव चंद्रशेखर से अर्नब को बर्खास्त करने की माँग की। चंद्रशेखर ने उन्हें करारा जवाब देते हुए कहा कि अर्नब को कोई नहीं निकाल सकता, उन्होंने ये सब अपनी मेहनत से ख़ुद पाया है और ‘रिपब्लिक’ के ओनर वही हैं।

पालघर और सोनिया गाँधी पर क्या बोले थे अर्नब?

बता दें कि महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं सहित तीन लोगों की भीड़ ने निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी। लेकिन कॉन्ग्रेस चुप रही। राज्य सरकार में वह शिवसेना के साथ सत्ता में साझीदार है। इस मॉब लिंंचिंग पर चुप्पी को लेकर कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गॉंधी को घेरते हुए ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी ने तीखे सवाल पूछे थे।

अर्नब ने कहा था कि इस मामले में मीडिया का रवैया काफ़ी पक्षतापूर्ण है। कोरोना वायरस पर तो सभी न्यूज़ चैनल कार्यक्रम कर रहे हैं। लेकिन साधुओं की मॉब लिंचिंग पर सारे के सारे मौन धारण किए हुए हैं। इस दौरान उन्होंने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी पर भी निशाना साधा था और उनसे सवाल पूछे।

अर्नब ने याद दिलाया कि देश की 80% जनसंख्या सनातन धर्म को मानती है। सनातनी है। वे साधुओं की क्रूरता से की गई हत्या से व्याकुल दिखे थे। अर्नब ने कहा था कि आज भारत में हिन्दू होना और भगवा वस्त्र धारण करना पाप हो गया है। अर्नब ने कहा था कि अगर किसी पादरी की हत्या होती तो कॉन्ग्रेस पार्टी और इसकी ‘रोम से आई हुई, इटली वाली’ सोनिया गाँधी बिलकुल चुप नहीं रहतीं। अर्नब ने दावा किया कि मॉब लिंचिंग पर सोनिया गाँधी आज चुप हैं तो इसका मतलब है कि वो मन ही मन में खुश भी हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe