Monday, September 27, 2021
Homeरिपोर्टकमलनाथ के मंत्री गोविंद सिंह कदमों में पड़े फ़रियादी को दुत्कार कर आगे बढ़...

कमलनाथ के मंत्री गोविंद सिंह कदमों में पड़े फ़रियादी को दुत्कार कर आगे बढ़ गए

मंत्री जी के पैरों पर एक फ़रियादी गिर पड़ा इसके बावजूद मंत्री जी का दिल नहीं पसीजा और वो उस फ़रियादी को नज़रअंदाज करके निकल गए।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस सरकार में मंत्री गोविंद सिंह से जुड़ा एक विवादास्पद वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि मंत्री जी के पैरों पर एक फ़रियादी गिर पड़ा इसके बावजूद मंत्री जी का दिल नहीं पसीजा और वो उस फ़रियादी को नज़रअंदाज करके निकल गए।

कमलनाथ सरकार में मंत्री के इस व्यवहार की सोशल मीडिया में जमकर आलोचना हो रही है। इससे पहले भी कई बार गोविंद सिंह ने विवादास्पद बयान दिया है। सीबीआई के नए निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला को लेकर भी उन्होंने विवादित बयान दिया था।

दरअसल कमल नाथ सरकार की ओर से मध्य प्रदेश डीजीपी को पद से हटाने के पांच दिनों बाद ऋषि कुमार शुक्ला को केंद्र सरकार ने सीबीआई का निदेशक बना दिया था। इसके बाद गोविंद सिंह ने उन्हें राज्य का सबसे बुज़दिल, कायर और अक्षम अधिकारी कहा था।

जानकारी के लिए बता दें कि गोविंद सिंह कॉन्ग्रेस पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। प्रदेश में कमलनाथ की सरकार बनने के बाद मनचाहा मंत्री पद नहीं मिलने की वजह से गोविंद सिंह भी नाराज़ हो गए थे।

इसके बाद कमलनाथ ने गोविंद सिंह को सहकारिता एवं संसदीय कार्य विभाग के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग भी सौंप दिया। इस बात से यह समझा जा सकता है कि गोविंद सिंह मध्यप्रदेश के कद्दावर नेता हैं। गोविंद सिंह ने एक सामान्य व्यक्ति के साथ जो व्यवहार किया है वह किसी भी तरह से क्षम्य नहीं है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कन्हैया कुमार वामपंथी ऑफिस से AC निकाल कर ले गए, खुद CPI के नेता ने बताया: कॉन्ग्रेस से हाथ मिलाने के पहले की ‘हरकत’

कन्हैया कुमार पटना स्थित सीपीआई (CPI) कार्यालय के जिस कमरे में बैठते थे, उससे AC निकालकर ले जाने के कारण सुर्ख़ियों में हैं।

टिहरी डैम की सरकारी जमीन पर अवैध मस्जिद: शुक्रवार को नमाज बाद छेड़छाड़ से परेशान स्थानीय, प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन

विहिप, बजरंग दल और स्थानीय भाजपा नेता सहित कई हिंदू संगठनों ने मस्जिद को हटाने की कोशिश की। इसके बाद भी प्रशासन ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,737FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe