Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिठगी करने वाले धन्नासेठों को फुटपाथ पर बैठा दिया, ठग धन्नासेठ आज मेरी वजह...

ठगी करने वाले धन्नासेठों को फुटपाथ पर बैठा दिया, ठग धन्नासेठ आज मेरी वजह से भाग रहे हैं: PM

माल्या और नीरव जैसे भगौड़े आर्थिक अपराधियों के विदेश भाग जाने का इल्जाम भी पीएम पर लगता रहा है। इस इंटरव्यू में पीएम ने जवाब देते हुए कहा कि उन्होंनें ठगी करने वाले धन्नासेठों को फुटपाथ पर बैठा दिया। ठग धन्नासेठ आज मेरी वजह से भाग रहे हैं।

लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने आज रिपब्लिक टीवी को एक इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू में नरेंद्र मोदी बड़े ही बेबाक अंदाज में अर्नब के हर सवाल का जवाब देते नज़र आए। अर्नब गोस्वामी से बात करते हुए मोदी ने एक तरफ़ जहाँ राष्ट्रीय सुरक्षा से लेकर देश के कई अहम मुद्दों पर बात की वहीं आगामी चुनावों के साथ 2014 के चुनावों को भी याद किया। साथ ही बताया कि विपक्ष और जनता उनके बारे में क्या राय रखती है।

पीएम मोदी ने इस इंटरव्यू में कहा कि पहले लोग उन्हें नहीं जानते थे, लेकिन अब देश उन्हें जानता है और राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों पर भी देश उनके रुख से अच्छी तरह वाकिफ़ है। पीएम मोदी ने इस इंटरव्यू में बताया कि पिछली बार (2014) में जब वह पूर्ण बहुमत की सरकार आने का दावा करते थे तब विपक्ष कहता था कि मोदी हवा में हैं, उन्हें गुजरात से बाहर का ज्ञान नहीं हैं लेकिन जनता ने पूर्ण बहुमत वाली सरकार दी।

इस इंटरव्यू में पीएम ने पिछली सरकार के बारे में कहा “30 साल की अस्थिरता वाली सरकार का दौर जनता ने देखा है, देश की जनता गठबंधन के खिलाफ नहीं है, लेकिन वो ऐसी सरकार चाहती है जहाँ गठबंधन का सबसे बड़ा दल है, उसे पूर्ण बहुमत मिले और बाकि गठबंधन के घटक दलों को भी अच्छी ताकत मिले और 5 साल में जो भी हम अच्छा कर पाएँ हैं उसके पीछे जनता का हाथ है, जिसने हमें पूर्ण बहुमत देकर भरोसा जताया। दुनिया के किसी भी नेता से मैं मिलता हूँ तो पूर्ण बहुमत सरकार का नेता होने के नाते, दुनिया के देखने के नज़रिए में भी बदलाव आता है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज 30 से 40 उम्र का मतदाता 30 सालों वाली अस्थिर और 5 साल वाली स्थिर सरकार के बीच में फर्क़ जानता है। इसके अलावा मोदी पर हमेशा उद्योगपतियों का भला करने का इल्जाम विपक्ष के द्वारा लगाया जाता रहा है। इस पर पीएम ने जवाब दिया कि उन्होंने जो 9 करोड़ टायलेट और 1.25 करोड़ घर बनवाए क्या वो अडानी-अंबानी थे।

पीएम मोदी के काल में माल्या और नीरव जैसे भगौड़े आर्थिक अपराधियों के विदेश भाग जाने का इल्जाम भी पीएम पर लगता रहा है। इस इंटरव्यू में पीएम ने जवाब देते हुए कहा कि उन्होंनें ठगी करने वाले धन्नासेठों को फुटपाथ पर बैठा दिया। ठग धन्नासेठ आज मेरी वजह से भाग रहे हैं।

पीएम ने इंटरव्यू में जनता के मन के बारे में बात करते हुए कहा कि अब जनता ने भी मन बना लिया है कि अब जो सरकार बनेगी वो पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि आज लोगों को पता है कि मोदी ने सुऱक्षा, गरीबी जैसे विषयों पर क्या-क्या किया है। इसलिए इस चुनाव में उन्हें विश्वास कि वो इसमें पहले से भी ज्यादा सीटें के साथ और पूर्ण बहमत के साथ सरकार में आएगी और एनडीए के घटक दलों को भी पहले से भी ज्यादा सीटें मिलेंगी। पीएम ने आश्वासन दिया कि जहाँ वह कमी महसूस करते हैं कि कुछ जगह ऐसी है जहाँ से उन्हें प्रतिनिधित्व नहीं मिलता, इस बार उन जगहों से भी जनता उनकी सरकार को चुनकर सत्ता में भेजेगी।

इंटरव्यू के ज़रिए मोदी ने उन लोगों को चेतावनी दी है, जो किन्हीं भी माएनों देश को नुकसान पहुँचाने के लिए प्रयासरत हैं। पीएम ने कहा है कि जो देश का नुकसान करेगा, उसे भुगतना पड़ेगा।

बता दें 2019 का लोकसभा चुनाव 7 चरणों में होना तय हुआ है। पहले चरण की तारीख 11 अप्रैल है जबकि आखिरी चरण की तारीख 19 मई को है। देखना अब यह है कि 23 तारीख को आने वाले नतीजों में क्या एक बार फिर से देश की जनता पूरे विपक्ष को गलत साबित करते हुए नरेंद्र मोदी के विश्वास को जिताएगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe