Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजनानाजी के शव पर बैठे बच्चे को सुरक्षाबल के जवान ने बचाया... सोपोर में...

नानाजी के शव पर बैठे बच्चे को सुरक्षाबल के जवान ने बचाया… सोपोर में आतंकी ने गोली मार दी

मासूम बच्चे को तो शायद पता भी नहीं था कि उसके निर्दोष दादाजी की कायर आतंकियों द्वारा बेरहमी से हत्या कर दी गई है। CRPF और आतंकियों के बीच हो रही मुठभेड़ के बीच वो अपने पिता की लाश पर बैठ कर ही खेल रहा था।

जम्मू कश्मीर के सोपोर में आतंकियों ने एक व्यक्ति को गोली मार दी। अपने नानाजी की लाश के पास ही फँसे उसके 3 साल के बच्चे को सीआरपीएफ (CRPF) के जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपनी जान पर खेल कर बचाया। जम्मू कश्मीर में अब आतंकी आम नागरिकों को निशाना बना रहे हैं क्योंकि भारतीय सशस्त्र बल उनका तेज़ी से सफाया कर रहे हैं। इसी बीच CRPF के गश्ती दल पर हमला हुआ, जिसमें एक आम नागरिक की मौत हो गई।

लेकिन, इस दौरान उनके 3 साल के बच्चे को आतंकियों की गोलियों की बौछाड़ के बीच बचाना चुनौती भरा काम था, जिसके लिए CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपनी ज़िंदगी दाँव पर लगा दी। वायरल तस्वीरों में उक्त बच्चे को अपने नानाजी की लाश पर बैठा देखा जा सकता है। उसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक जवान की गोद में रेस्क्यू किए गए बच्चे को देखा जा सकता है। लोग इसके लिए सुरक्षाबलों की तारीफ कर रहे हैं।

मासूम बच्चे को तो शायद पता भी नहीं था कि उसके निर्दोष नानाजी की कायर आतंकियों द्वारा बेरहमी से हत्या कर दी गई है। CRPF और आतंकियों के बीच हो रही मुठभेड़ के बीच वो अपने नानाजी की लाश पर बैठ कर ही खेल रहा था। CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान उसे रेस्क्यू कर जल्द सुरक्षित स्थान पर लेकर गए। जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन पूरी तेज़ी से चल रहा है, जिससे वो कुछ ज्यादा ही बौखलाए हुए हैं।

बता दें कि इस साल जम्मू कश्मीर में अब तक 135 आतंकियों को मार गिराने में सुरक्षा बलों ने सफलता पाई है। अब आतंकियों को ‘नायक’ बना कर पेश किए जाने के चलन और उनकी ‘अंतिम यात्रा’ के नाटक पर रोक लगाते हुए उनके शवों को दफ़न किया जा रहा है। इससे जम्मू कश्मीर के एक्टिविस्ट्स और आतंकी बौखलाए हुए हैं। इसीलिए वो खुन्नस में निर्दोष नागरिकों और बच्चों को निशाना बना रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -