Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा10 दिन में 23 आतंकियों का एनकाउंटर: शोपियाँ में फिर हिजबुल मुजाहिद्दीन और लश्कर...

10 दिन में 23 आतंकियों का एनकाउंटर: शोपियाँ में फिर हिजबुल मुजाहिद्दीन और लश्कर के 5 आतंकी ढेर

जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। रिपोर्ट्स के अनुसार, आतंकियों के साथ मुठभेड़ अभी इलाके में खत्म नहीं हुई है। पूरे इलाके में ऑपरेशन जारी है। ऐसा अनुमान है कि अभी भी गाँव में 2-3 आतंकी छिपे हुए हैं।

कोरोना संकट के बीच जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के ख़िलाफ़ सुरक्षाबल की कार्रवाई जारी है। बुधवार (जून 10, 2020) को कश्मीर के शोपियाँ में सुरक्षाबलों ने फिर 5 आतंकियों को मार गिराया।

एनकाउंटर शोपियाँ के सुगू इलाके में हुआ। यहाँ कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबल ने मिलकर आतंकियों के ख़िलाफ़ संयुक्त कार्रवाई की। पुलिस के मुताबिक, ये मारे गए आतंकी हिजबुल मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे।

अधिकारियों के मुताबिक, सुरक्षाबल को सुगू इलाके में आतंकवादियो की उपस्थिति के बारे में इनपुट मिले थे। ऐसे में बुधवार सुबह सेना और पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया गया। लेकिन जैसे ही सुरक्षा बलों ने आतंकियों के ठिकाने पर फोकस किया, आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी और मुठभेड़ होने लगी।

इसके बाद जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आतंकियों के साथ मुठभेड़ अभी इलाके में खत्म नहीं हुई है। पूरे इलाके में ऑपरेशन जारी है। ऐसा अनुमान है कि अभी भी गाँव में 2-3 आतंकी छिपे हुए हैं।

बता दें कि, 1 सप्ताह से भी कम समय में शोपियाँ में यह तीसरी बड़ी मुठभेड़ है, जिसमें 14 आतंकवादी मारे जा चुके हैं। इसके अलावा 2 हफ्ते (1 जून से 10 जून) में कई टॉप कमांडर्स समेत 23 आतंकी मारे गए हैं।

इससे पहले 8 जून को शोपियाँ के पिंजूरा इलाके में हुई मुठभेड़ में 4 आतंकी मारे गए थे। उससे एक दिन पहले यानी रेबेन इलाके में 5 आतंकियों को सुरक्षाबल ने ढेर किया था। कुल मिलाकर 24 घंटों में सुरक्षाबलों ने 9 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था।

इस महीने की शुरूआत से अगर बात करें तो सबसे पहले 1 जून को नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश करते हुए 3 पाकिस्तानी आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया था। 2 जून को त्राल इलाके में 2 आतंकी मारे गए। फिर 3 जून को कंगन इलाके में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को मारा। रजौरी में भी 5 जून को एक आतंकी मारा गया। 7 जून को पाँच आतंकी मरे और आज सुबह 8 जून को 4 आतंकियों का सफाया हुआ। इस प्रकार 8 दिनों के भीतर 18 आतंकियों को मारा गया और मात्र दस दिन के अंदर ये संख्या 23 तक पहुँच गई।

इससे पहले मई महीने में 4 एनकाउंटर हुए थे और पुलिस ने 6 आतंकियों को मारा था। 31 मई को कुलगाम में 2 आतंकी मरे थे। 19 मई को श्रीनगर में हिजबुल के 2 आतंकी मारे गए थे। 16 मई को डोडा में सेना सी कार्रवाई में 5 घंटे की मुठभेड़ के बाद 1 आतंकी मरा था वहीं 6 मई को हिजबुल का टॉप कमांडर रियाज नायकू मारा गया था।

रिपोर्ट के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने इन लगातार मुठभेड़ों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हाल के अभियानों में हिजबुल मुजाहिदीन के 9 आतंकवादी मारे गए हैं। पिछले 2 सप्ताह में 9 बड़े ऑपरेशन किए गए, जिसमें 22 आतंकवादियों का खात्मा किया गया है। इनमें आतंकी संगठनों के 8 शीर्ष कमांडर शामिल हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

‘हिंदी राष्ट्रभाषा है, थोड़ी-बहुत सबको आनी चाहिए’: ये कहने पर Zomato ने कर्मचारी को कंपनी से निकाला, तमिल ग्राहक ने की थी शिकायत

फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato ने अपने एक कस्टमर केयर कर्मचारी को फायर कर दिया, क्योंकि उसने कहा था कि थोड़ी-बहुत हिंदी सबको आनी चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe