Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापंजाब: पठानकोट में आर्मी कैंप पर ग्रेनेड हमला, तरनतारन में हिंदू नेताओं-RSS शाखा की...

पंजाब: पठानकोट में आर्मी कैंप पर ग्रेनेड हमला, तरनतारन में हिंदू नेताओं-RSS शाखा की सुरक्षा बढ़ाई गई

पठानकोट भारत के सर्वाधिक महत्वपूर्ण ठिकानों में से एक है। जनवरी 2016 में पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर आतंकवादी हमला हुआ था।

पंजाब के पठानकोट में भारतीय सेना के कैंप के पास ब्लास्ट हुआ। ये ब्लास्ट ग्रेनेड से हुआ। इससे हड़कंप मच गया। हमले के पीछे किसका हाथ है, इसकी जाँच की जा रही है। ब्लास्ट के बाद शहर में अलर्ट जारी कर दिया गया है। दूसरी ओर मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि तरनतारन में आतंकी हमले की आशंका को लेकर खुफिया रिपोर्ट मिलने के बाद पंजाब पुलिस ने तरनतारन में हिंदू नेताओं और संघ शाखा की सुरक्षा बढ़ा दी है

जानकारी के मुताबिक रविवार (21 नवंबर 2021) देर रात एक बजे पठानकोट में आर्मी कैंप के त्रिवेणी द्वार पर मोटर साइकिल सवारों ने ग्रेनेड फेंका। जिससे वहाँ तेज धमाका हुआ। हालाँकि, गेट पर ड्यूटी दे रहे जवान दूरी पर थे, इसलिए किसी को नुकसान नहीं पहुँचा। ग्रेनेड फेंकने वाले बाइक सवार किधर से आए और किधर गए, इसके बारे में पता लगाया जा रहा है।

धमाके की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुँचे। एसएसपी ने खुद हालात का जायजा लिया। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खँगाल रही है। जिला भर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। नाकों पर पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है।

पठानकोट के एसएसपी सुरेंद्र लाम्बा ने बताया कि घटना की जाँच की जा रही है। CCTV फुटेज निकाले जा रहे हैं। पुलिस ने बताया कि विस्फोट रविवार देर रात को छावनी के त्रिवेणी द्वार के बाहर हुआ। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। पुलिस ने बताया कि मोटरसाइकिल सवार अज्ञात लोगों ने छावनी के सामने ग्रेनेड फेंका।

पंजाब पुलिस ने हमले के ‘विशेष इनपुट’ से किया इनकार

इससे पहले 20 नवंबर को खुफिया एजेंसियों ने आतंकी हमलों की आशंका जताई थी। इसके बाद पुलिस ने गाँधी नगर पार्क की चेकिंग की और चेकिंग पोस्ट पर नाकेबंदी की। RSS इस पार्क में शाखा का आयोजन करती है। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, एएसआई रैंक के छह अधिकारी और छह कांस्टेबल को आरएसएस जिला प्रमुख चौधरी हंस राज, भाजपा जिलाध्यक्ष राम लाल हंस और शिवसेना (बाल ठाकरे) के उपाध्यक्ष अश्विनी कुक्कू के आवास के बाहर तैनात किए गए हैं।

हालाँकि पुलिस ने किसी खास हिंदू नेता पर हमले की सूचना से इनकार किया। इस मामले में अधिक जानकारी के लिए ऑपइंडिया ने तरनतारन डीएसपी बरजिंदर सिंह से संपर्क किया। सिंह ने शहर में हिंदू नेताओं पर हमले की आशंका से जुडी किसी विशेष खुफिया सूचना से इनकार किया। उन्होंने कहा, “हिंदू नेताओं पर खतरे की खबरें गलत हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों को निरस्त करने की घोषणा के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ाई गई है।” उन्होंने कहा कि पठानकोट में सेना के शिविर के बाहर ग्रेनेड हमले के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जब हमने मीडिया रिपोर्टों के बारे में पूछा जिसमें हिंदू नेताओं की सुरक्षा के लिए खतरा बताया गया था, तो उन्होंने कहा, “मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता कि उन्होंने रिपोर्ट क्यों प्रकाशित की है।”

बता दें कि पठानकोट भारत के सर्वाधिक महत्वपूर्ण ठिकानों में से एक है। यहॉं पिछले कुछ महीने से सुरक्षाबलों के कैम्प के नजदीक कई गतिविधियाँ देखी गईं हैं। जनवरी 2016 में पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर आतंकवादी हमला हुआ था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मैली-कुचैली बीवी, सड़ी-गली लड़की… जन्नत की हूर की शान में कसीदे पढ़ते केरल के एक और मौलाना का Video वायरल

केरल के मौलसि ने दावा किया कि जन्नत में आइना तुम्हारे हूर का 'जिगर (दिल)' होगा, वैसे ही आपका दिल उनके लिए आइना होगा, जिसे देख कर वो सँवरेगी।

‘वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हो गया निधन, कोरोना से रिकवर होने के बाद से ही गिर रहा था स्वास्थ्य’: जानिए क्या है सच्चाई

सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि पत्रकार विनोद दुआ की मौत हो गई है। लेकिन, असल में सच्चाई कुछ और ही।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,465FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe