Tuesday, May 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबब्बर खालसा से जुड़े 4 आतंकियों को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, भारी मात्रा...

बब्बर खालसा से जुड़े 4 आतंकियों को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद: पाकिस्तान से हथियार सप्लाई के मिले सबूत

"हमें इस मूवमेंट की सूचना मिली थी। हिरासत में लिए गए 4 संदिग्धों में 3 फ़िरोज़पुर और 1 लुधियाना का रहने वाला है। इन्हे बस्तारा टोल प्लाजा से पकड़ा गया है।"

हरियाणा की करनाल पुलिस ने 4 संदिग्ध खालिस्तानी आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इन आतंकियों के पास से 1 पिस्टल 31 कारतूस, 3 IED और कैश बरामद किया गया है। विस्फोटक को कंटेनर में भर के रखा गया था। ये संदिग्ध आतंकी इनोवा वाहन में सवार थे। गिरफ्तारी 5 मई, 2022 (गुरुवार) को सुबह 4 बजे की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गिरफ्तार बब्बर खालसा से जुड़े आतंकियों के नाम गुरप्रीत,अमनदीप, भूपेंदर और परमिंदर हैं। करनाल के पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया ने बताया, “हमें इस मूवमेंट की सूचना मिली थी। हिरासत में लिए गए 4 संदिग्धों में 3 फ़िरोज़पुर और 1 लुधियाना का रहने वाला है। इन्हे बस्तारा टोल प्लाजा से पकड़ा गया है। इनके पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। आरोपितों के पास से 1 लाख 30 हजार रुपए कैश भी बरामद किया गया है।”

SP ने आगे बताया, “पकड़े गए आरोपित पाकिस्तान निवासी हरविंदर सिंह के सम्पर्क में थे। वही इन सभी को तेलंगाना के आदिलाबाद में हथियार पहुँचाने का आदेश दिया गया था। ये हथियार पाकिस्तान से भारत में ड्रोन के माध्यम से फ़िरोज़पुर जिले में भेजे गए थे। इन्हें आरोपित गुरप्रीत ने भारत सीमा में प्राप्त किया था। इससे पहले भी ये आरोपित महाराष्ट्र के नांदेड़ में विस्फोटक पहुँचा चुके हैं। इस केस में FIR दर्ज कर ली गई है और आगे की जाँच की जा रही है।”

SP ने आगे बताया, “चारों आरोपितों के खिलाफ थाना मधुबन में धारा 4/5 विस्फोटक अधिनियम, आर्म्स एक्ट की धारा 25 और UAPA एक्ट में केस दर्ज किया गया है। ये सभी पाकिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा से जुड़े हुए हैं। वही इन सभी को हथियारों के साथ नशे की चीजें उपलब्ध करवाता है। वह इन सभी को एक एप के जरिए लोकेशन शेयर करता है। हथियार ड्रोन के जरिए आरोपित गुरप्रीत के दोस्त आकाशदीप के खेतों में भेजे गए थे।”

पुलिस के मुताबिक, “पकड़ा गया आरोपित गुरप्रीत पहले भी एक केस में जेल गया था। उसी दौरान इसकी जेल में मुलाकात राजवीर नाम के व्यक्ति से हुई। राजवीर पहले से ही हरविंदर सिंह रिंदा का साथी रहा है। इन आरोपितों का सम्पर्क उसी ने हरविंदर सिंह से करवाया। ये सभी लगभग 9 माह से पाकिस्तान में मौजूद हरविंदर के सम्पर्क में थे। पकड़ी गई गाड़ी दिल्ली के रजिस्ट्रेशन पर है जिसकी जाँच की जा रही है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

‘हिन्दुओं को बदनाम करने के लिए बनाई फिल्म’: मलयालम सुपरस्टार ममूटी का ‘जिहादी’ कनेक्शन होने का दावा, ‘ममूक्का’ के बचाव में आए प्रतिबंधित SIMI...

मामला 2022 में रिलीज हुई फिल्म 'Puzhu' से जुड़ा है, जिसे ममूटी की होम प्रोडक्शन कंपनी 'Wayfarer Films' द्वारा बनाया गया था। फिल्म का डिस्ट्रीब्यूशन SonyLIV ने किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -