Thursday, May 30, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा'हरियाणा बनेगा खालिस्तान, डीसी ऑफिस पर हमारा झंडा': SFJ वाले पन्नू के खिलाफ राजद्रोह...

‘हरियाणा बनेगा खालिस्तान, डीसी ऑफिस पर हमारा झंडा’: SFJ वाले पन्नू के खिलाफ राजद्रोह की FIR, की थी ‘हरियाणा रेफरेंडम’ की बात

वीडियो में पन्नू कह रहा है, “पंजाब को भारत के कब्ज़े से आज़ाद करवाने के लिए जारी खालिस्तान रेफरेंडम का अगला चरण इटली में 8 मई को होगा। पंजाब के भारत से आज़ाद होने के बाद हरियाणा पंजाब का हिस्सा होगा। हरियाणा के लोग सुन लें कि उनकी जमीन पंजाब का हिस्सा है। यह तुम्हें तय करना है कि तुम्हें पंजाब के साथ जाना है या भारत के साथ।”

हरियाणा (Haryana) के जिलाधिकारियों के कार्यालयों पर खालिस्तान का झंडा फहराने की अपील करने वाले खालिस्तानी आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू (Gurpatwant Singh Pannu) के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। पन्नू में शुक्रवार (15 अप्रैल) को इस संबंध में एक पत्र और यूट्यूब पर वीडियो जारी किया था।

प्रतिबंधित SFJ के पन्नू के खिलाफ गुरुग्राम के साइबर क्राइम थाने में मामला दर्ज किया गया है। उसके खिलाफ देशद्रोह और दो समुदायों को भड़काने का आरोप लगाया गया है। इससे पहले भी भड़काऊ बयान देने और देशद्रोह के आरोप में पन्नू के खिलाफ दो मामले दर्ज हो चुके हैं।

पन्नू ने शुक्रवार को ‘हरियाणा बनेगा खालिस्तान’ नाम से एक पत्र जारी किया। इस पत्र में उसने गुरुग्राम के DC ऑफिस पर 29 अप्रैल को खालिस्तान का झंडा लगाने का एलान किया है। इसके साथ ही खालिस्तान के लिए हरियाणा में रेफरेंडम की बात भी कही है।

पन्नू ने कहा, “हरियाणा पर पंजाब का अधिकार है। यह अधिकार प्रदर्शित करने के लिए 29 अप्रैल को गुरुग्राम के DC कार्यालय पर खालिस्तान का झंडा लगाया जाएगा। यह खालिस्तान के 36वें घोषणा दिवस के मौके पर होगा।” SFJ ने खालिस्तान का मानचित्र भी जारी कर रखा है जिसमें हरियाणा को भी शामिल किया गया है। इस पत्र में हरियाणा सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी (HSGMC) के अध्यक्ष बलजीत सिंह दादूवाल के अलावा ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट फेडरेशन (AISSF) द्वारा भी खालिस्तान अभियान में समर्थन मिलने का दावा किया गया है।

इस पत्र में गुरपतवंत सिंह पन्नू द्वारा जारी किए गए एक वीडियो का भी जिक्र किया गया है। इसमें खालिस्तान समर्थक वॉलेंटियर्स की भर्ती की भी घोषणा की गई है। वीडियो में पन्नू कह रहा है, “पंजाब को भारत के कब्ज़े से आज़ाद करवाने के लिए जारी खालिस्तान रेफरेंडम का अगला चरण इटली में 8 मई को होगा। पंजाब के भारत से आज़ाद होने के बाद हरियाणा पंजाब का हिस्सा होगा। 29 अप्रैल को हरियाणा के हर जिले के DC ऑफिस पर खालिस्तान का झंडा लगाया जाएगा। हरियाणा के लोग सुन लें कि उनकी जमीन पंजाब का हिस्सा है। यह तुम्हें तय करना है कि तुम्हें पंजाब के साथ जाना है या भारत के साथ।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाँटने की राजनीति, बाहरी ताकतों से हाथ मिला कर साजिश, प्रधान को तानाशाह बताना… क्या भारतीय राजनीति के ‘बनराकस’ हैं राहुल गाँधी?

पूरब-पश्चिम में गाँव को बाँटना, बाहरी ताकत से हाथ मिला कर प्रधान के खिलाफ साजिश, शांति समझौते का दिखावा और 'क्रांति' की बात कर अपने चमचों को फसलना - 'पंचायत' के भूषण उर्फ़ 'बनराकस' को देख कर आपको भारत के किस नेता की याद आती है?

33 साल पहले जहाँ से निकाली थी एकता यात्रा, अब वहीं साधना करने पहुँचे PM नरेंद्र मोदी: पढ़िए ईसाइयों के गढ़ में संघियों ने...

'विवेकानंद शिला स्मारक' के बगल वाली शिला पर संत तिरुवल्लुवर की प्रतिमा की स्थापना का विचार एकनाथ रानडे का ही था, क्योंकि उन्हें आशंका थी कि राजनीतिक इस्तेमाल के लिए बाद में यहाँ किसी की मूर्ति लगवाई जा सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -