Wednesday, September 28, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाहनी ट्रैप: आईएसआई की महिला जासूस को फेसबुक से जानकारी देने वाले दो जवान...

हनी ट्रैप: आईएसआई की महिला जासूस को फेसबुक से जानकारी देने वाले दो जवान गिरफ्तार

मामले का खुलासा सीबीआई और आईबी के एक साझा ऑपरेशन के बाद हुआ। इसके बाद उन्हें जोधपुर रेलवे स्टेशन पर से उस वक़्त गिरफ्तार कर लिया गया जब दोनों अपने-अपने गाँव भागने की तैयारी में थे। दोनों को गिरफ्तार कर जयपुर ले जाया गया, जहाँ उनसे पूछताछ जारी है।

सैन्य जानकारी लीक करने के आरोप में दो जवानों को राजस्थान के जोधपुर रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया। मध्यप्रदेश के रहने वाले लांस नायक रवि वर्मा और असम के विचित्र बोहरा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एक महिला जासूस के संपर्क में थे और उसे भारतीय सेना की अंदरूनी खबर दे रहे थे। दोनों राजस्थान के पोखरण में तैनात थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कि इन्हें हनी ट्रैप में फँसाने वाली महिला एक पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई की एक एजेंट है। इस महिला ने फोन कर दोनों जवानों को हनी ट्रैप के जरिए अपना शिकार बनाया और भारतीय सेना के सम्बन्ध में जानकारी एकत्रित करने की कोशिश की।

राजस्थान के एडीजी उमेश मिश्र ने बताया कि प्राथमिक जाँच के दौरान इस बात की पुष्टि हुई है कि दोनों ही सैनिक भारतीय सेना से जुड़ी अहम जानकारियों आईएसआई की महिला जासूस से साझा कर रहे थे। दोनों जवानों को अपना शिकार बनाने के लिए हनी ट्रैप का जाल बिछाने वाली महिला ने उनके नंबर पर कॉल की जिसके लिए उसने इन्टरनेट से वॉयस ओवर इन्टरनेट प्रोटोकॉल (VOIP)की तकनीक का इस्तेमाल किया।

इन्टरनेट से फोन करने की इस तकनीक के जरिए अपनी पहचान और स्थान गुप्त रखते हुए उसने दोनों से पंजाबी लहजे में बात की। इस तकनीक के कारण जवानो के मोबाइल पर महिला का नंबर डिस्प्ले नहीं हुआ। दोनों जवान फेसबुक और ह्वाटसएप के जरिए उसे सेना के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ दी।

मामले का खुलासा सीबीआई और आईबी के एक साझा ऑपरेशन के बाद हुआ। इसके बाद उन्हें जोधपुर रेलवे स्टेशन पर से उस वक़्त गिरफ्तार कर लिया गया जब दोनों अपने-अपने गाँव भागने की तैयारी में थे। दोनों को गिरफ्तार कर जयपुर ले जाया गया, जहाँ उनसे पूछताछ जारी है। बता दें कि ऐसी तमाम घटनाओं को देखते हुए भारतीय सेना ने अपने जवानों को हनी ट्रैप से बचने और इस तरह के बिछाए हुए जाल से सचेत रहने की चेतवानी भी दी है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने एडवाइजरी जारी करते हुए फेक फेसबुक प्रोफाइल से भी सतर्क रहने को कहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोगों में डर पैदा करने के लिए RSS कार्यकर्ता से लेकर हिंदू नेता तक हत्या: मर्डर से पहले PFI-SDPI के लोग रचते थे साजिश,...

देश के लोगों द्वारा लंबे समय से जिस चीज की माँग की जा रही थी, अंतत: केंद्र की मोदी सरकार ने PFI पर प्रतिबंध लगाकर उसे पूरा कर दिया।

‘मन की अयोध्या तब तक सूनी, जब तक राम न आए’: PM मोदी ने याद किया लता दीदी का भजन, अयोध्या के भव्य ‘लता...

पीएम मोदी ने बताया कि जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन संपन्न हुआ था, तो उनके पास लता दीदी का फोन आया था, वो काफी खुश थीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe