Thursday, January 27, 2022
Homeबड़ी ख़बरबडगाम में तकनीकी कारणों से भारतीय हेलिकॉप्टर क्रैश, पाक ने कहा उनका हाथ नहीं

बडगाम में तकनीकी कारणों से भारतीय हेलिकॉप्टर क्रैश, पाक ने कहा उनका हाथ नहीं

कई लोगों को संदेह था कि भारतीय लड़ाकू विमान मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हुआ है। बता दें कि यह मिग-21 लड़ाकू विमान नहीं बल्कि एमआई-17 नामक ट्रांसपोर्ट चॉपर है।

जम्मू-कश्मीर के बडगाम में भारतीय वायुसेना का ट्रांसपोर्ट हेलिकॉप्टर एमआई-17 तकनीकी कारणों से क्रैश हो गया। इस दुःखद हादसे में दोनों ही पायलट वीरगति को प्राप्त हो गए। ख़बरों के अनुसार, हैलीकॉप्टर अपने नियमित उड़ान पर निकला था जिसके बाद ये दुर्घटना हुई। इस बारे में विशेष जानकारी देते हुए बडगाम के एसएसपी ने कहा:

“भारतीय वायुसेना की तकनीकी टीम घटनास्थल पर पहुँच रही है। इसके बाद ही पूरी जानकारी मिलेगी। हमें दो शव मिले हैं। इस घटना में दो लोगों की मृत्यु हो गई। हेलीकॉप्टर बडगाम के गारेंद कलां गाँव के पास खुले मैदान में सुबह 10 बजकर पाँच मिनट पर दुर्घटनाग्रस्त हुआ।”

हेलिकॉप्टर दुर्घटना के दौरान दो हिस्सों में टूट गया और उसमे आग लग गई। आग के कारण इलाक़े में काला धुआँ छा गया। अभी तक दोनों मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है। कई ख़बरों में इसे भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे चल रहे तनाव से जोड़ कर देखा जा रहा था लेकिन अब ख़ुद पाकिस्तान ने इस हादसे से किसी भी प्रकार का वास्ता होने की ख़बरों को नकार दिया है।

हादसे के बाद पाकिस्तान के इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन के डायरेक्टर जनरल (DG ISPR) मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने कहा कि उन्हें भारतीय चॉपर के बडगाम में क्रैश होने की ख़बर मिली है और पाकिस्तान का इस से कोई वास्ता नहीं है।

बता दें कि पाकिस्तान के कुछ पत्रकारों ने अफवाह उड़ाना शुरू कर दिया था कि इस हैलीकॉप्टर दुर्घटना के पीछे पाकिस्तानी सेना का हाथ है। आसिफ़ गफ़ूर के बयान के बाद सोशल मीडिया में लोगों ने ऐसी अफवाह उड़ाने वालों को जम कर लताड़ लगाई।

कई लोगों को संदेह था कि भारतीय लड़ाकू विमान मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हुआ है। बता दें कि यह मिग-21 लड़ाकू विमान नहीं बल्कि एमआई-17 नामक ट्रांसपोर्ट चॉपर है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe